Sirsa News: लिंक रोड आमजन के लिए बने सहारा, प्रशासन ने बंद किया घग्गर पुल हाईवे


Link road became a support for the common people, administration closed Ghaggar bridge highway

किसानों को रोकने के लिए खोदा गया रास्ता।

सिरसा। किसानों के दिल्ली कूच का असर रविवार को देखने के लिए मिला। जिला पुलिस ने दोपहर बाद घग्गर पुल को बंद कर दिया। किसी भी वाहन को पुल पार नहीं करने दिया गया। पुल की सुरक्षा के लिए अर्द्धसैनिक बल तैनात किए गए हैं।

वहीं रोड़ी में सुरतिया तलवंडी रोड के भाखड़ा नहर पुल पर एक ओर प्रशासन ने पांच फुट की खाई खोद दी है, ताकि किसानों के वाहन खाई को पार न कर सकें। इसके साथ ही पुलिस ने पुल को पूरी तरह से बंद कर दिया।

किसानों को दिल्ली जाने से रोकने के लिए पुलिस थ्री डी लेयर के साथ साथ हर तकनीक का प्रयोग कर रही है। अप्रिय घटना रोकने के लिए प्रशासन ने 32 ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किए हैं। इनमें से 24 ऑन डयूटी रहेगी और आठ को रिजर्व रखा गया है। सुरक्षा के लिए जिले में हरियाणा सशस्त्र पुलिस, बीएसएफ, आईटीबीपी, रैपिड एक्शन फोर्स की 14 कंपनियां तैनात की गईं हैं।

डबवाली में भी देर शाम अंडरपास बंद कर मलौठ पुल को वनवे कर दिया गया। सिरसा में हाईवे पर बने घग्गर पुल को बंद करने के कारण जाम की स्थिति बन गई। सभी वाहन लिंक एरिया से गुजरे। इससे गांवों और लिंक रोड पर कई किलोमीटर दूरी तक गाड़ियों का काफिला दिखा। हिसार, सिरसा, फतेहाबाद, पंजाब, राजस्थान की गाड़ियों की लंबी लाइनें नजर आईं।

हाईवे पर पुलिस के रोकने पर एंबुलेंस संचालकों को भी लिंक रोड का सहारा लेना पड़ा। इस कारण एमरजेंसी मरीजों को भी अस्पताल पहुंचाने में आधे से एक घंटे तक की देरी हुई। जिला प्रशासन ने सरकारी और निजी एंबुलेंस सेवा को भी सतर्क किया है। अधिकारियों के अनुसार जिले में 32 एंबुलेंस हैं।

इनको दो दिनों तक करना पड़ेगा समस्या का सामना

आढ़ती

दूध विक्रेता

फल, सब्जी विक्रेता

यूनिवर्सिटी, कॉलेजों के विद्यार्थी।

माल ढुलाई करने बड़े वाहन चालक।

बसों से पंजाब और राजस्थान जाने वाले लोग।

नियमित रूप से गांवों से शहर काम के लिए आने वाले लोग।

विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी कार्यालयों में ड्यूटी करने वाले कर्मचारी।

ऑनलाइन सिस्टम बंद होने पर व्यवसाय पर दिखा असर

नेटवर्क सिस्टम बंद होने के कारण ऑनलाइन ट्रांजेक्शन में आमजन को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसको देखते हुए पेट्रोल पंप संचालकों ने नोटिस लगा दिया कि पेट्रोल लेने के लिए नकद रुपये दें। इसी तरह से रेहड़ी, सब्जियों की दुकानें, किराना व्यापारी, मिठाई विक्रेता आदि लोगों के कारोबार पर असर दिखा।

सिरसा से डबवाली जाने का रूट

पहला रूट

सिरसा से चतरगढ़पट्टी, चतरगढ़पट्टी से गांव नेजाडेला, गांव नेजाडेला से गांव सहारणी, गांव सहारणी से गांव बुर्ज, गांव बुर्ज से गांव ढाबा, गांव ढाबा से गांव भंगू, गांव भंगू से गांव साहूवाला, गांव साहूवाला से हाईवे डबवाली।

दूसरा रूट

सिरसा से गांव नई केलनियां, नई केलनियां से गांव पुरानी केलनियां, पुरानी केलनियां से गांव झोरड़नाली, गांव झोरड़नाली से गांव ख्योवाली, गांव ख्योवाली से गांव खैरेकां, गांव खैरेकां से हाईवे डबवाली।

-तीसरा रूट

– सिरसा से गांव चतरगढ़पट्टी से गांव नेजाडेला, गांव नेजाडेला से गांव सहारणी, गांव सहारणी से डबवाली रोड पर पेट्रोल पंप के साथ वाली लिंक रोड, लिंक रोड से पंजुआना, पंजुआना से हाईवे डबवाली।

चौथा रूट

– सिरसा से गांव नई केलनियां, नई केलनियां से पुरानी केलनियां, पुरानी केलनियां से गांव झोरड़नाली, गांव झोरड़नाली से गांव झोथड़, गांव झोथड़ से गांव खाईशेरगढ़, गांव खाईशेरगढ़ से गांव घुकांवाली, गांव घुकांवाली से गांव नुहियांवाली, गांव नुहियांवाली से गांव गाेरीवाला, गांव गोरीवाला से हाईवे डबवाली।

.


What do you think?

Sonipat News: गुप्त नवरात्र पर विधि-विधान से की पूजा, मांगा आशीर्वाद

Sonipat News: दो आरोपी गिरफ्तार, पीड़ित दुकानदारों से मिलीं विधायक