Sirsa News: गांव ये युवा नशे की तरफ न जाए इसके लिए इंजीनियर ने युवाओं को खेलों से जोड़ा


To ensure that the youth of the village do not turn to drugs, the engineer connected the youth with sports.

शहीद उधम सिंह हैंडबॉल एकेडमी भरोखां में अभ्यास करते ​खिलाड़ी।

सिरसा। गांव भरोखां निवासी इंजीनियर हरीश कुमार बट्टी आर्थिक रूप से कमजोर युवाओं को खेल से जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं। हरीश गांव में ही शहीद उधम सिंह हैंडबॉल एकेडमी चला रहे हैं। वह इसमें खिलाड़ियों को हैंडबॉल का अभ्यास निशुल्क करवाते हैं। उनकी बदौलत 35 से ज्यादा युवा खेल कोटे से सरकारी नौकरी कर रहे हैं। इनमें से 16 युवा सैनिक हैं।

कोच हरीश पेशे से इंजीनियर हैं लेकिन खेलों से जुड़े होने के चलते स्वयं भी 10 से 15 बार राष्ट्रीय स्पर्धा तक खेल चुके हैं। अब वह खिलाड़ियों को हैंडबॉल से जोड़ने का काम कर रहे हैं। वर्ष 2012 में कोच ने अपने गांव में बने खेल मैदान में ग्रामीणों को हैंडबॉल का निशुल्क प्रशिक्षण देना शुरू किया था।

कोच ने 2014 में एकेडमी का संचालन शुरू किया। इसमें वह युवाओं को हैंडबॉल का निशुल्क प्रशिक्षण दे रहे हैं। एकेडमी में खिलाड़ियों के लिए हॉस्टल की भी व्यवस्था की गई है। इसमें रहने का 50 फीसदी खर्चा वह स्वयं वहन कर रहे हैं। संवाद

एकेडमी से 12 साल में करीब 300 खिलाड़ी सीख चुके हैंडबाॅल

गांव भरोखां में हैंडबॉल का निशुल्क प्रशिक्षण देने वाली यह एकमात्र एकेडमी है। आजकल इसमें 80 से ज्यादा खिलाड़ी सुबह, शाम दो समय अभ्यास के लिए आते हैं। इस एकेडमी से 12 साल में करीब 300 खिलाड़ी हैंडबाॅल सीख चुके हैं। उनका मानना है कि गांव में एक भी युवा चिट्टे का नशा नहीं करता है। क्योंकि बचपन से ही युवाओं को खेल से जुड़ने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। उनके साथ करीब 15 लोग जुड़े हैं।

अपने खर्चे से ही वहन कर रहे एकेडमी का खर्चा

कोच हरीश ने सिविल इंजीनियरिंग में बीटेक, डीपीएड और एमपीएड तक पढ़ाई की है। वह हरिओम कॉन्ट्रेक्ट कंपनी के नाम से सरकारी इमारत, कमरों और अन्य निर्माण कार्य करवा रहे हैं। यहीं से एकेडमी का भी खर्चा वहन करते हैं। एकेडमी की ओर से करीब 250 खिलाड़ी प्रदेशस्तर और 70 खिलाड़ी राष्ट्रीयस्तर पर खेल चुके हैं। राष्ट्रीयस्तर पर खिलाड़ियों ने 17 स्वर्ण, 27 रजत और 32 कांस्य पदक जीते हैं। अब कुछ खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीयस्तर की तैयारी कर रहे हैं।

.


What do you think?

Jhajjar: गांव घाटोली में शादी समारोह कार्यक्रम में करंट लगने से दो हलवाइयों की मौत, पुलिस कार्रवाई में जुटी

Haryana News: हरियाणा सरकार ने बदला स्कूलों का समय, इस वजह से लिया फैसला, जानें- नई समयसारिणी