in

Murder in Panipat: नींद की गोलियां खिलाकर प्रेमी संग पति का काटा गला, तीन दिन बाद खेत में मिला शव 


ख़बर सुनें

हरियाणा के पानीपत जिले के इसराना गांव डाहर में विवाहिता ने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति का चाकू से गला काटकर हत्या कर दी। हत्या से पहले प्रेमी ने महिला को नींद की 20 गोलियां दी थीं। ये गोलियां पत्नी ने सब्जी में डालकर पति को खिला दी। जब वह अचेत हो गया तो चाकू से गला काटने के साथ ही ताबड़तोड़ वार कर उसकी हत्या कर दी गई। पुलिस ने पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें दो दिन के रिमांड पर लिया गया है। हत्या में शामिल प्रेमी का साथी फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है। 

गांव डाहर निवासी कर्मबीर (50) की शादी 15 वर्ष पहले बहादुरगढ़ निवासी ज्योति के साथ हुई थी। दोनों के दो बच्चे अदिति (10) और आदित्य (9) हैं। कर्मबीर फेरी लगाकर कपड़े बेचता था। कर्मबीर और ज्योति के बीच मनमुटाव रहता था। कर्मबीर को ज्योति के चरित्र पर शक था और कई बार पत्नी को मोबाइल पर किसी युवक से बात करते पकड़ा था।

रविवार की रात ज्योति ने अपने गांव के प्रेमी श्रीकांत को रात 12 बजे घर बुलाया। इससे पहले श्रीकांत ज्योति को नींद की गोलियों का पत्ता देकर गया था। दोनों ने रविवार को कर्मबीर की हत्या की साजिश रची। इसके अनुसार ज्योति ने रविवार रात साढ़े नौ बजे कर्मबीर की सब्जी में नींद की 20 गोलियां मिला दीं।

सब्जी खाने के बाद कर्मबीर अचेत हो गया। रात 12 बजे के करीब श्रीकांत कर्मबीर के घर आया। घर की पहली मंजिल पर चारपाई पर सो रहे कर्मबीर पर श्रीकांत ने चाकू से ताबड़तोड़ हमले कर दिए। चाकू से उसकी गर्दन काट दी। उसकी मौत होने पर श्रीकांत अपने एक साथी को बुलाने खेत में गया। दोनों बाइक पर दोबारा कर्मबीर के घर आए और कर्मबीर के शव को चादर में लपेटकर बाइक पर रखकर साथ ले गए और कोठरे में फेंक दिया।

हत्या का पता चलने पर मायके वाले बेटी को पुलिस के पास लेकर पहुंचे 
प्रेमी अपने एक दोस्त के साथ शव को बाइक पर रखकर अपने खेत में ले गया और कोठरे में फेंक दिया। हत्या के अगले ही दिन पत्नी मायके चली गई। यहां मायके वालों ने उसके हावभाव देखकर सख्ती से मायके आने का पूछा तो उसने बताया कि वह पति की हत्या कर यहां आई है। मायके वाले महिला को लेकर इसराना पुलिस थाने पहुंचे। पुलिस ने मंगलवार रात पत्नी एवं उसके प्रेमी को हिरासत में ले लिया और उनकी निशानदेही पर रात को ही कोठरे से खून से लथपथ सड़ी अवस्था में शव बरामद किया। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया। इसके साथ ही आरोपियों पर केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर किया गया । 

ज्योति पर हत्या के बाद सबूत मिटाने का आरोप, चाकू नहर में फेंका  
प्राथमिक जांच में सामने आया है कि कर्मबीर की हत्या के बाद प्रेमी श्रीकांत ने अपने कपड़े और चाकू को नहर में फेंक दिया था। जिस चारपाई पर कर्मबीर को मारा गया, ज्योति ने उसकी चादर और गद्दा भी जला दिया। पूरा कमरा खून से सना था। कमरे को धो दिया गया। सीढ़ियों से कर्मबीर के शव को घसीटकर नीचे लाया गया था। सीढ़ियों को भी धोया गया। एफएसएल टीम को चौखट पर खून के निशान मिले हैं। यहां से नमूने जुटाए गए हैं। इस घटना के बाद गांव में मातम छाया है।      

दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया है। वहां से उन्हें दो दिन के रिमांड पर लिया गया है। – दीपक, थाना प्रभारी, इसराना

विस्तार

हरियाणा के पानीपत जिले के इसराना गांव डाहर में विवाहिता ने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति का चाकू से गला काटकर हत्या कर दी। हत्या से पहले प्रेमी ने महिला को नींद की 20 गोलियां दी थीं। ये गोलियां पत्नी ने सब्जी में डालकर पति को खिला दी। जब वह अचेत हो गया तो चाकू से गला काटने के साथ ही ताबड़तोड़ वार कर उसकी हत्या कर दी गई। पुलिस ने पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें दो दिन के रिमांड पर लिया गया है। हत्या में शामिल प्रेमी का साथी फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है। 

गांव डाहर निवासी कर्मबीर (50) की शादी 15 वर्ष पहले बहादुरगढ़ निवासी ज्योति के साथ हुई थी। दोनों के दो बच्चे अदिति (10) और आदित्य (9) हैं। कर्मबीर फेरी लगाकर कपड़े बेचता था। कर्मबीर और ज्योति के बीच मनमुटाव रहता था। कर्मबीर को ज्योति के चरित्र पर शक था और कई बार पत्नी को मोबाइल पर किसी युवक से बात करते पकड़ा था।

रविवार की रात ज्योति ने अपने गांव के प्रेमी श्रीकांत को रात 12 बजे घर बुलाया। इससे पहले श्रीकांत ज्योति को नींद की गोलियों का पत्ता देकर गया था। दोनों ने रविवार को कर्मबीर की हत्या की साजिश रची। इसके अनुसार ज्योति ने रविवार रात साढ़े नौ बजे कर्मबीर की सब्जी में नींद की 20 गोलियां मिला दीं।

सब्जी खाने के बाद कर्मबीर अचेत हो गया। रात 12 बजे के करीब श्रीकांत कर्मबीर के घर आया। घर की पहली मंजिल पर चारपाई पर सो रहे कर्मबीर पर श्रीकांत ने चाकू से ताबड़तोड़ हमले कर दिए। चाकू से उसकी गर्दन काट दी। उसकी मौत होने पर श्रीकांत अपने एक साथी को बुलाने खेत में गया। दोनों बाइक पर दोबारा कर्मबीर के घर आए और कर्मबीर के शव को चादर में लपेटकर बाइक पर रखकर साथ ले गए और कोठरे में फेंक दिया।

हत्या का पता चलने पर मायके वाले बेटी को पुलिस के पास लेकर पहुंचे 

प्रेमी अपने एक दोस्त के साथ शव को बाइक पर रखकर अपने खेत में ले गया और कोठरे में फेंक दिया। हत्या के अगले ही दिन पत्नी मायके चली गई। यहां मायके वालों ने उसके हावभाव देखकर सख्ती से मायके आने का पूछा तो उसने बताया कि वह पति की हत्या कर यहां आई है। मायके वाले महिला को लेकर इसराना पुलिस थाने पहुंचे। पुलिस ने मंगलवार रात पत्नी एवं उसके प्रेमी को हिरासत में ले लिया और उनकी निशानदेही पर रात को ही कोठरे से खून से लथपथ सड़ी अवस्था में शव बरामद किया। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया। इसके साथ ही आरोपियों पर केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर किया गया । 

ज्योति पर हत्या के बाद सबूत मिटाने का आरोप, चाकू नहर में फेंका  

प्राथमिक जांच में सामने आया है कि कर्मबीर की हत्या के बाद प्रेमी श्रीकांत ने अपने कपड़े और चाकू को नहर में फेंक दिया था। जिस चारपाई पर कर्मबीर को मारा गया, ज्योति ने उसकी चादर और गद्दा भी जला दिया। पूरा कमरा खून से सना था। कमरे को धो दिया गया। सीढ़ियों से कर्मबीर के शव को घसीटकर नीचे लाया गया था। सीढ़ियों को भी धोया गया। एफएसएल टीम को चौखट पर खून के निशान मिले हैं। यहां से नमूने जुटाए गए हैं। इस घटना के बाद गांव में मातम छाया है।      

दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया है। वहां से उन्हें दो दिन के रिमांड पर लिया गया है। – दीपक, थाना प्रभारी, इसराना

.


Panipat Municipal Election Results: समालखा की चौधर पर कुच्छल का कब्जा, कांग्रेस समर्थित बेनीवाल को हराया

भाजपा विधायक डॉ. कृष्ण मिड्ढा नहीं बचा पाए अपने चारों बूथ