Jind: 30 हजार रिश्वत लेते हवलदार गिरफ्तार, बाइक चोरी के मामले में फंसाने का डर दिखाकर मांगी थी रिश्वत


ख़बर सुनें

हरियाणा के जींद में राज्य चौकसी ब्यूरो की टीम ने मोटरसाइकिल चोरी के मामले में फंसाने का डर दिखाकर 30 हजार रुपये रिश्वत लेते सदर थाना सफीदों में तैनात हवलदार को पकड़ा है। पानीपत जिले के गांव बापोली निवासी विशाल ने राज्य चौकसी ब्यूरो को दी शिकायत में बताया था कि वह तीन मार्च को अपने परिचित की मोटरसाइकिल से  किसी कार्य से गोहाना गया हुआ था।

गोहाना पुलिस ने कागजात न होने पर मोटरसाइकिल को इपाउंड कर लिया था। जब जांच की गई तो पता चला कि मोटरसाइकिल सफीदों से चोरी हुई थी। जिसका सदर थाना सफीदों में गांव हाट निवासी मनजीत की शिकायत पर पांच दिसबंर 2021 को मुकदमा दर्ज हुआ था। जिससे मोटरसाइकिल वह मांगकर लाया था उसका नाम गांव खानपुर कलां सोनीपत निवासी अभिषेक था और उसे सदर थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया हुआ है।

आरोप था कि जांच अधिकारी हवलदार विनोद कुमार मुकदमें से पीछा छुड़वाने की एवज में 30 हजार रुपये की डिमांड कर रहा है। राशि न देने पर मुकदमें में फंसाकर जेल भेजने की धमकी दे रहा है। शिकायत के आधार पर इंस्पेक्टर मनीष कुमार के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। ड्यूटी मजिस्ट्रेट के तौर पर सिंचाई विभाग के एक्सईएन राजीव को नियुक्त किया गया।

छापामार टीम ने शिकायतकर्ता विशाल को 500-500 के 60 नोट ड्यूटी मजिस्ट्रेट से हस्ताक्षर करवाए और उनपर पाउडर लगाकर थमा दिए। संपर्क साधने पर हवलदार विनोद ने शिकायतकर्ता को सफीदों अदालत परिसर के सामने बुला लिया। रिश्वत के तौर पर ये नोट देते ही टीम ने हवलदार विनोद को पकड़ कर लिया।

तलाशी लिए जाने पर उसकी पेंट की जेब से 30 हजार की रिश्वत राशि बरामद हो गई। राज्य चौकसी ब्यूरो के निरीक्षक मनीष कुमार ने बताया कि हवलदार विनोद के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।

विस्तार

हरियाणा के जींद में राज्य चौकसी ब्यूरो की टीम ने मोटरसाइकिल चोरी के मामले में फंसाने का डर दिखाकर 30 हजार रुपये रिश्वत लेते सदर थाना सफीदों में तैनात हवलदार को पकड़ा है। पानीपत जिले के गांव बापोली निवासी विशाल ने राज्य चौकसी ब्यूरो को दी शिकायत में बताया था कि वह तीन मार्च को अपने परिचित की मोटरसाइकिल से  किसी कार्य से गोहाना गया हुआ था।

गोहाना पुलिस ने कागजात न होने पर मोटरसाइकिल को इपाउंड कर लिया था। जब जांच की गई तो पता चला कि मोटरसाइकिल सफीदों से चोरी हुई थी। जिसका सदर थाना सफीदों में गांव हाट निवासी मनजीत की शिकायत पर पांच दिसबंर 2021 को मुकदमा दर्ज हुआ था। जिससे मोटरसाइकिल वह मांगकर लाया था उसका नाम गांव खानपुर कलां सोनीपत निवासी अभिषेक था और उसे सदर थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया हुआ है।

आरोप था कि जांच अधिकारी हवलदार विनोद कुमार मुकदमें से पीछा छुड़वाने की एवज में 30 हजार रुपये की डिमांड कर रहा है। राशि न देने पर मुकदमें में फंसाकर जेल भेजने की धमकी दे रहा है। शिकायत के आधार पर इंस्पेक्टर मनीष कुमार के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। ड्यूटी मजिस्ट्रेट के तौर पर सिंचाई विभाग के एक्सईएन राजीव को नियुक्त किया गया।

छापामार टीम ने शिकायतकर्ता विशाल को 500-500 के 60 नोट ड्यूटी मजिस्ट्रेट से हस्ताक्षर करवाए और उनपर पाउडर लगाकर थमा दिए। संपर्क साधने पर हवलदार विनोद ने शिकायतकर्ता को सफीदों अदालत परिसर के सामने बुला लिया। रिश्वत के तौर पर ये नोट देते ही टीम ने हवलदार विनोद को पकड़ कर लिया।

तलाशी लिए जाने पर उसकी पेंट की जेब से 30 हजार की रिश्वत राशि बरामद हो गई। राज्य चौकसी ब्यूरो के निरीक्षक मनीष कुमार ने बताया कि हवलदार विनोद के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

एसडीएम ने शुरू की वर्ष 2010 से 2017 के बीच की रजिस्ट्री जांच , तीन महीने में तैयार होगी रिपोर्ट

haryana: Haryana’s climate change plan: Focus on renewable energy, cut down coal use | Gurgaon News – Times of India