Irani Trophy 2022: अंग्रेजों के ‘छक्के’ छुड़ाने वाले पुजारा घर पर आकर हुए फेल, पहली पारी में सस्ते में लौटे वापस


हाइलाइट्स

ईरानी ट्रॉफी 2022 का मुकाबला शनिवार 1 अक्टूबर को शुरू हुआ.
मौजूदा रणजी चैंपियन और रेस्ट ऑफ इंडिया के बीच खेली जाती है इरानी ट्रॉफी
सौराष्ट्र की तरफ से खेलने वाले चेतेश्वर पुजारा महज 1 रन बना पाए.

नई दिल्ली. शनिवार को शुरू होने वाले ईरानी ट्रॉफी मुकाबले का इंतजार सभी कर रहे थे लेकिन इसकी शुरुआत इतनी शानदार होगी किसी ने सोचा नहीं था. रणजी चैंपियन सौराष्ट्र को रेस्ट ऑफ इंडिया के गेंदबाजों ने पहले घंटे में ही बैक फुट पर धकेल दिया. टीम के धुरंधर एक के बाद एक वापस लौटते गए और इसमें दिग्गज चेतेश्वर पुजारा का नाम भी शामिल था. सौराष्ट्र की शुरुआत इतनी बुरी रही कि महज 5 रन पर टीम ने 4 अहम विकेट गंवा दिए.

शनिवार की सुबह रणजी ट्रॉफी चैंपियन सौराष्ट्र के लिए अच्छी नहीं रही. पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम को 10 ओवर खत्म होने से पहले ही 5 झटके लग गए. 30 रन के स्कोर तक आधी टीम पहली पारी में पवेलियन में बैठी थी. इसमें उस धुरंधर का भी नाम शामिल था जिसने हाल ही में विदेशी धरती पर रनों का अंबार लगाया है.

पुजारा भी हुए फेल

पहले दिन रेस्ट ऑफ इंडिया के गेंदबाज पूरी तरह से सौराष्ट्र पर हावी नजर आए. एक तरफ से मुकेश कुमार ने घातक गेंदबाजी की तो उनको साथ मिला कुलदीप सेन का. कुलदीप ने 5 विकेट गिरने तक 1 ही सफलता हासिल की लेकिन वह बड़ा शिकार था. चेतेश्वर पुजारा को महज 1 रन के स्कोर पर उन्होंने हनुमा विहारी के हाथों कैच करवाया.

शानदार रहा पुजारा का हालिया फॉर्म

भारत की टेस्ट टीम से बाहर किए जाने के बाद पुजारा ने इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट का रुख किया. यहां उन्होंने शतकों की झड़ी लगाते हुए कई रिकॉर्ड बना डाले. ससेक्स के लिए पुजारा ने 8 मैच खेलते हुए 109 से ज्यादा की औसत से 1094 रन बना डाले. इस दौरान उन्होंने 5 शतक जमाया और 231 रन सबसे बड़ा स्कोर रहा. इसके बाद रॉयल लंदन वनडे कप में भी ताबड़तोड़ रन बरसाए. यहां 9 मैच में 3 शतक के साथ 624 रन बना डाले. वह सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में दूसरे स्थान पर रहे थे.

Tags: Cheteshwar Pujara, Indian cricket, Ranji Trophy

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

जिले में कोरोना के तीन मरीज मिले

स्वच्छता सर्वेक्षण : सिरसा की रैकिंग 16 अंक गिरी तो कालांवाली में 491 अंकों का सुधार