in

Haryana rajya sabha : कार्तिकेय शर्मा की एंट्री ने दिलचप्स किया हरियाणा राज्यसभा चुनाव, बीजेपी-जेजेपी के विधायक रिजॉर्ट में शिफ्ट


चंडीगढ़ : हरियाणा में राज्यसभा चुनाव बेहद दिलचस्प है। बीजेपी को अपने विधायकों के खिसकने का डर है इसलिए उन्हें बीजेपी और जेजेपी के विधायकों को चंडीगढ़ से सटे एक लग्जरी रिजॉर्ट में शिफ्ट किया है। बीजेपी और जेजेपी विधायकों के साथ ही 6 निर्दलीय विधायकों को भी यहां लाया गया है। सभी विधायक रिजॉर्ट में निगरानी में हैं। वहीं इस चुनाव में कार्तिकेय शर्मा की एंट्री से मुकाबला दिलचप्स हो गया है।

हरियाणा पुलिस की जीपों के साथ, विधायकों और मंत्रियों के साथ वाहन दोपहर में चंडीगढ़ से सटे एक लक्जरी रिजॉर्ट ओबेरॉय सुखविलास तक पहुंचाए गए। रिजॉर्ट पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल के परिवार से जुड़ा है।

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, जेजेपी अध्यक्ष निशान सिंह, मंत्री अनिल विज, जेपी दलाल, कंवर पाल गुर्जर, बनवारी लाल, कमलेश ढांडा और अन्य विधायक रिपोर्ट दाखिल करने के समय रिसॉर्ट में मौजूद थे। जेजेपी विधायक राम कुमार गौतम और पंचायत मंत्री देवेंद्र सिंह बबली गठबंधन के लिए चिंता का विषय नजर आ रहे हैं।

पूर्व मंत्री के बेटे ने दिलचस्प किया मुकाबला
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता, और राज्य बीजेपी अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़, भाजपा प्रभारी विनोद तावड़े और चुनाव पर्यवेक्षक केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के भी चुनाव से पहले यहां आने की उम्मीद है। हरियाणा की दो राज्यसभा सीटों के लिए शुक्रवार को मतदान होना है। बीजेपी ने पूर्व मंत्री कृष्ण लाल पंवार और कांग्रेस अजय माकन को मैदान में उतारा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा के बेटे और मनु शर्मा के छोटे भाई कार्तिकेय शर्मा बीजेपी-जेजेपी समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार हैं।

अधिकांश मंत्री ‘पहुंच से बाहर’ हैं। अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने विधायकों की सभा को विधायकों की अनौपचारिक बैठक करार दिया। उन्होंने कहा, ‘यह एक बहुत ही दुर्लभ अवसर है। मतदान से पहले बहुत सी चीजों पर चर्चा की जरूरत है। विचारों का आदान-प्रदान होगा और हम मतदान के दिन अपनाई जाने वाली रणनीति तय करेंगे।’ उन्होंने यह भी कहा कि कार्तिकेय की एंट्री से तीन ग्रुपों के बीच होने वाले चुनाव को और दिलचस्प और प्रतियोगी बना दिया है।

रिटर्निंग ऑफिसर राजेंद्र कुमार नंदल के तीन उम्मीदवारों की सूची अधिसूचित की। इसके एक दिन बाद, कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ जिले के रायपुर में अपने विधायकों के ग्रुप को स्थानांतरित कर दिया था। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, रायपुर में संचालन की देखरेख कर रहे हैं, राजीव शुक्ला के साथ हरियाणा के पर्यवेक्षक भी हैं।

एक प्रत्याशी को चाहिए 30 वोट

हरियाणा में उम्मीदवार को अपने क्रेडिट के लिए 30 वोटों के कोटे की आवश्यकता होती है। बीजेपी के पास 40 विधायक हैं, इसलिए उसके पास नौ वोट हैं जो कार्तिकेय को जाएंगे। जेजेपी के 10 विधायक और छह निर्दलीय विधायक हैं, इसके अलावा एचएलपी के गोपाल कांडा ने कार्तिकेय को समर्थन देने का ऐलान किया है।

अभय सिंह चौटाला ने नहीं खोले पत्ते
नारनौंद से जेजेपी विधायक राम कुमार गौतम ने साफ कर दिया है कि वह कार्तिकेय का समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने ईडब्ल्यूएस कोटे के तहत ब्राह्मणों और अन्य जातियों से आरक्षण के लिए विनोद शर्मा के योगदान को देखते हुए बिना शर्त समर्थन की घोषणा की है। भाजपा विधायक मोहन लाल बरोली और दीपक मंगला को मतदान एजेंट के रूप में नियुक्त किया गया है, जबकि महिपाल ढांडा और अभय सिंह राव मतगणना एजेंट होंगे मंत्री कंवर पाल गुर्जर और कमल गुप्ता विशेष मतदान एजेंट होंगे, जिन्हें भाजपा विधायकों के डाले गए वोटों को देखने के लिए अधिकृत किया जाएगा। इनेलो के अभय सिंह चौटाला ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं।

.


Haryana Weather: पारा पहुंचा 47 पार, शुक्रवार रात से 14 जून तक बारिश की संभावना, गर्मी से मिलेगी राहत

आज रात से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, 14 जून तक रहेगी बारिश की संभावना