in

Haryana Municipal Election Results: बीजेपी का 27 निकायों पर कब्‍जा, पर पिछली बार से सीटें कम, क्यों कांग्रेस को भी दिखी उम्मीद, जानें


चंडीगढ़: हरियाणा (Haryana Municipal Election Results) में बीजेपी ने जेजेपी के साथ गठबंधन में 46 नगर निकायों में से 27 पर कब्जा जमाया है। इनमें से बीजेपी के हिस्से 22, जेजेपी को तीन और दो समर्थित को जीत मिली है। इनमें 18 नगर परिषद सीटों में से बीजेपी 10 और जेजेपी 1 जीतने में कामयाब रही। वहीं, नगर पालिका में बीजेपी ने 12, जेजेपी ने 2 और दो समर्थित ने अध्यक्ष पद का चुनाव जीता है। वहीं हर‍ियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि बीजेपी-जेजेपी उम्मीदवारों ने उन 12 सीट पर जीत दर्ज की, जो उस क्षेत्र में आती हैं, जहां के विधायक विपक्षी दल कांग्रेस से हैं।

तीन निकायों में बीजेपी को नुकसान
हरियाणा में हुए नगर परिषद चुनावों के लिए मतगणना के बाद स्थिति साफ हो गई है। 18 नगर परिषदों में से इस बार 10 के अध्यक्ष पद पर बीजेपी का कब्जा हो गया है। इनमें गोहाना, जींद, झज्जर, बहादुरगढ़, चरखी दादरी, कालका, सोहना, फतेहाबाद, कैथल, पलवल में पार्टी के उम्मीदवार जीते हैं। वहीं हांसी, नरवाना, नारनौल, टोहाना, भिवानी, होडल में निर्दलीय उम्मीदवार जीते हैं। नूंह में अध्यक्ष पद पर जेजेपी प्रत्याशी ने जीत दर्ज की है। मंडी डबवाली में आईएनएलडी समर्थित अध्यक्ष पद पर जीता है।

पिछली बार से तीन कम रही बीजेपी
वहीं, पिछले कार्यकाल को देखें तो 13 नगर परिषदों के अध्यक्ष पद पर बीजेपी का कब्जा था। इस बार तीन निकायों में नुकसान हुआ है। वहीं कांग्रेस को पिछली बार 4 निकायों में जीत मिली थी। इस बार कांग्रेस ने पार्टी सिंबल पर चुनाव नहीं लड़ा, प्रत्याशियों को सिर्फ समर्थन ही दिया है। वहीं कालका में पहली बार चुनाव हुआ है।

28 नगर पालिकाओं में से 16 पर गठबंधन
वहीं 28 नगर पालिकाओं में से 16 में सत्तारूढ़ गठबंधन बीजेपी-जेजेपी के प्रत्याशी अध्यक्ष चुने गए। इनमें से 12 बीजेपी और 2 जेजेपी और दो समर्थित के खाते में गए हैं। 5 नगर पालिकाओं में कांग्रेस समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार अध्यक्ष पद का चुनाव जीते। 5 नगर पालिकाओं में अध्यक्ष का ताज निर्दलीय के सिर सजा। आम आदमी पार्टी और आईएनएलडी के कैंडिडेट भी एक-एक नगर पालिका में अध्यक्ष चुने गए।

ऐलनाबाद में नहीं चला अभय का जादू
पिछले निकाय चुनावों में आईएनएलडी के पास न तो कोई नगर परिषद पर कब्जा था और न ही नगर पालिका पर। अबकी बार पार्टी पहली बार डबवाली नगर परिषद और रानियां नगर पालिका का अध्यक्ष पद का चुनाव जीत सकी। हालांकि अभय चौटाला अपने विधानसभा सीट ऐलनाबाद में नगर पालिका की सीट जीत नहीं सकें।

AAP के लिए अच्छे नहीं रहे नतीजे
पंजाब में प्रचंड बहुमत के बाद निकायों के चुनाव सिंबल पर लड़ने वाली आम आदमी पार्टी के लिए नतीजों को अच्छा नहीं माना जा रहा। बेशक, आप ने सबसे छोटे निकाय-इस्माइलाबाद में चेयरमैन का चुनाव जीता है, लेकिन कई शहरों में उनके उम्मीदवारों की जमानत तक नहीं बची। इसके बावजूद सोहना, कुंडली, भिवानी, कैथल, जींद, पलवल, घरौंडा, पिहोवा व लाडवा नगर परिषद/पालिका में आम आदमी पार्टी के प्रत्याशियों को मिले वोट ने पार्टी को संजीवनी जरूर प्रदान की है।

राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग का डर, हरियाणा के कांग्रेस विधायक रायपुर में ‘नजरबंद’

सीएम के गृह क्षेत्र में एक सीट
सीएम मनोहर लाल के जिले करनाल में 4 नगर पालिकाओं में से सिर्फ एक घरौंडा पालिका में बीजेपी का चेयरमैन कैंडिडेट जीत पाया, वह भी महज 31 वोट से चुनाव जीते।

डिप्टी सीएम को झटका
डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला उचाना विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीते हैं। उचाना नगर पालिका में जेजेपी उम्मीदवार तीसरे स्थान पर रहा। नरवाना में जजपा का उम्मीदवार छठे नंबर पर रहा। चौटाला परिवार के गृह हलके मंडी डबवाली नगर परिषद सीट पर पार्टी उम्मीदवार तीसरे स्थान पर रहा। टोहाना में जेजेपी उम्मीदवार जीत नहीं सका और दूसरे स्थान पर रहा।

खट्टर ने बीजेपी के सभी विजेता उम्मीदवारों को बधाई दी
चुनाव र‍िजल्‍ट को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बीजेपी के सभी विजेता उम्मीदवारों को बधाई दी और कहा कि लोगों ने एक बार फिर बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों में अपना विश्वास जताया है। खट्टर ने एक ट्वीट में कहा क‍ि स्थानीय निकाय चुनाव जीतने वाले बीजेपी के सभी उम्मीदवारों को बहुत-बहुत बधाई। आपकी यह जीत लोगों के विश्वास की जीत है जो 2014 और 2019 से लगातार बीजेपी के प्रति दिखाई दे रही है। यह जीत पार्टी के मेहनती कार्यकर्ताओं को समर्पित है।

सचिन पायलट बोले- हरियाणा में बहुमत छीना, कांग्रेस पार्टी कोर्ट जाएगी

कांग्रेस व‍िधायकों वाले क्षेत्र में जीती बीजेपी
बाद में, कुछ मीडियाकर्मियों से बातचीत में खट्टर ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि केंद्र की अग्निपथ योजना के विरोध का नगरपालिका चुनावों के परिणाम पर कोई प्रभाव पड़ा है। उन्होंने कहा कि युवाओं ने महसूस किया है कि यह योजना उनके और देश के हित में है। उन्होंने कहा कि सशस्त्र बलों और सरकार के शीर्ष अधिकारियों ने भी इस योजना के लंबे समय में होने वाले लाभों के बारे में विस्तार से बताया है। खट्टर ने कहा कि बीजेपी-जजपा उम्मीदवारों ने उन 12 सीट पर जीत दर्ज की, जो उस क्षेत्र में आती हैं, जहां के विधायक विपक्षी दल कांग्रेस से हैं।

चुनावी लड़ाई से भाग खड़ी हुई कांग्रेस: खट्टर
कांग्रेस की ओर से अपने पार्टी चिह्न पर चुनाव न लड़ने के बारे में खट्टर ने कहा कि वे यह जानकर चुनावी लड़ाई से भाग खड़े हुए कि लोग उन्हें अस्वीकार कर देंगे। हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष ओपी धनखड़ ने मतदाताओं का धन्यवाद किया। धनखड़ ने कहा क‍ि लोगों ने एक बार फिर राज्य और केंद्र दोनों सरकारों के कार्यक्रमों और नीतियों में अपना विश्वास जताया है।

.


योजना: बहादुरगढ़ से सांपला तक आठ औद्योगिक सेक्टर बनाने की तैयारी, क्षेत्र के लोगों को होगा लाभ

Accident in Sonipat: डंपर की टक्कर से कार सवार दो टैक्सी चालकों की मौत, एक गंभीर