in

Gurgaon News : पेमेंट लेने के बाद भी नहीं दिया पजेशन, कोर्ट ने बिल्डर पर FIR दर्ज के दिए आदेश


गुड़गांव : डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने एम3एम बिल्डर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के आदेश दिए हैं। रिपोर्ट की जानकारी आज पेश करने के लिए कहा है। शिकायत करने वाले का आरोप है कि 7 साल पहले सेक्टर 63 में एक प्रॉजेक्ट में 2 यूनिट बुक कराई थी। बिल्डर ने पेमेंट लेने के बाद भी पजेशन नहीं दिया। बगैर ओसी के पजेशन लेने का मेल भेजा गया था। बिल्डर का सेक्टर 63 में अर्बना नाम से प्रॉजेक्ट है। बिल्डर ने शिकायत करने वाले पर पेमेंट न देकर एग्रीमेंट का उल्लंघन का आरोप लगाया है।

साल 2015 में अर्बना प्रॉजेक्ट में की थी बुकिंग
अखिलेशन कुमार नथानी ने कोर्ट में बताया कि उन्होंने 30 सितंबर 2015 को बिल्डर के अर्बना प्रॉजेक्ट में 2 यूनिट बुक की थी। इसके लिए एक करोड़ 95 लाख 26 हजार 270 रुपये और एक करोड़ 76 लाख 97 हजार 696 रुपये भुगतान किए थे। यह रकम कई बार किस्तों में दी गई थी। 21 दिसंबर 2019 को बिल्डर ने फाइनल पेमेंट कर पजेशन लेने की सूचना दी। ई-मेल में फाइनल पेमेंट का तो जिक्र था, लेकिन ओसी नहीं था। कई बार कहने पर भी उनको ओसी नहीं दिया गया।

परिवार को बिना बताए जयपुर घूमने निकले 3 दोस्त, 2 की मौत, KMP पर मोकलवास गांव के पास ट्रॉल में पीछे से टकराई बाइक
यूनिट किया कैंसल, पैसे भी नहीं लौटाए
इसके बाद फिर बिल्डर ने 20 अगस्त 2020 को दोनों यूनिट कैंसल करने का ई-मेल भेज दिया। उनके पैसे भी वापस नहीं किए गए। जूडिशियल मैजिस्ट्रेट हर्ष कुमार सिंह की कोर्ट ने मामले की जांच के बाद एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं। यह एफआईआर 6 जून को कोर्ट में पेश करनी है। बादशाहपुर थाना प्रभारी संदीप कुमार ने बताया कि अभी इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं हुई है।

Aravali Forest: अरावली की हरियाली बचाने की मुहिम रंग लाई, NGT ने दिए जांच के आदेश
बिल्डर बोला- 3 बार नोटिस के बाद नहीं किया था पूरा पेमेंट
बिल्डर प्रतिनिधि ने कहा कि अखिलेशन ने पूरा भुगतान नहीं किया। 2 साल पुराना मामला है, जिसमें कोर्ट ने उनके खिलाफ ही आदेश दिया है। 3 बार नोटिस के बाद भी पूरा भुगतान नहीं किया। 2020 में कोर्ट यह ऑर्डर बिल्डर के पक्ष में दे चुका है। एग्रीमेंट के अनुसार यूनिट कैंसल हुई हैं। अखिलेशन ने 2 साल बाद कोर्ट में जाकर सभी कागजात नहीं दिखाए। बिल्डर कंपनी सोमवार को अखिलेशन के खिलाफ कोर्ट जाएगी।

.


बिना नंबर की बाइक पर आए तीन युवक, पिस्तौल तान मोबाइल दुकानदार से मांगे रुपये

कोर्ट ने आरोपी पर लगाया एक साल की सजा व दस लाख रुपये का जुर्माना