in

Chandigarh Burail Jail: बुड़ैल जेल के पीछे बम मिलने की एनआईए ने शुरू की जांच, मामले में दर्ज की गई नई एफआईआर


ख़बर सुनें

चंडीगढ़ में बुडैल जेल के पीछे बम मिलने के मामले में एनआईए ने नई एफआईआर दर्ज कर नए सिरे से जांच शुरू कर दी है। 23 अप्रैल को जेल के पीछे दीवार के पास बम मिला था। पुलिस की जांच में आतंकी जसविंदर सिंह मुल्तानी का नाम सामने आया था।

पुलिस ने घटनास्थल का डंप डाटा उठाया था, जिसमें एक संदिग्ध नंबर मिला है, जो घटना वाले दिन से ही बंद है। पुलिस का दावा है कि इस नंबर से आखिरी कॉल जर्मनी में बैठे आतंकी जेएस मुल्तानी को की गई थी। वहीं, पुलिस को घटना के पांच दिन बाद जांच के दौरान घटनास्थल से एक डेटोनेटर और एक मोबाइल भी मिला था। इस मोबाइल के तार भी आतंकी जेएस मुल्तानी से जुड़ रहे हैं। आतंकी जसविंदर सिंह मुल्तानी का लुधियाना बम ब्लास्ट मामले में भी लिंक सामने आया था।  

23 अप्रैल को बम मिलने के 5 दिन बाद बम डिटेक्शन स्क्वॉड बुड़ैल जेल के पीछे सर्च कर रही थी। इस दौरान टीम को एक काले रंग का रेडमी का मोबाइल और एक डेटोनेटर मिला। जांच के दौरान इस फोन के लिंक भी मुल्तानी से मिले। टीम ने तत्काल पूरी सामग्री सीएफएसएल को जमा करा दी है। रिपोर्ट के आधार पर पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

पुलिस को यह सामान हुआ था बरामद

तीन डेटोनेटर, टिफिन बम, एक किलो विस्फोटक, कीलें और जले हुए कोडेक्स तार, एक उर्दू अखबार, नाखूनों वाला एक छोटा पॉलीपैक, कुछ प्रिंटआउट जिस पर खालिस्तान एक्शन फोर्स लिखा है, एक रेडमी 9-ए मोबाइल फोन।

विस्तार

चंडीगढ़ में बुडैल जेल के पीछे बम मिलने के मामले में एनआईए ने नई एफआईआर दर्ज कर नए सिरे से जांच शुरू कर दी है। 23 अप्रैल को जेल के पीछे दीवार के पास बम मिला था। पुलिस की जांच में आतंकी जसविंदर सिंह मुल्तानी का नाम सामने आया था।

पुलिस ने घटनास्थल का डंप डाटा उठाया था, जिसमें एक संदिग्ध नंबर मिला है, जो घटना वाले दिन से ही बंद है। पुलिस का दावा है कि इस नंबर से आखिरी कॉल जर्मनी में बैठे आतंकी जेएस मुल्तानी को की गई थी। वहीं, पुलिस को घटना के पांच दिन बाद जांच के दौरान घटनास्थल से एक डेटोनेटर और एक मोबाइल भी मिला था। इस मोबाइल के तार भी आतंकी जेएस मुल्तानी से जुड़ रहे हैं। आतंकी जसविंदर सिंह मुल्तानी का लुधियाना बम ब्लास्ट मामले में भी लिंक सामने आया था।  

23 अप्रैल को बम मिलने के 5 दिन बाद बम डिटेक्शन स्क्वॉड बुड़ैल जेल के पीछे सर्च कर रही थी। इस दौरान टीम को एक काले रंग का रेडमी का मोबाइल और एक डेटोनेटर मिला। जांच के दौरान इस फोन के लिंक भी मुल्तानी से मिले। टीम ने तत्काल पूरी सामग्री सीएफएसएल को जमा करा दी है। रिपोर्ट के आधार पर पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

पुलिस को यह सामान हुआ था बरामद

तीन डेटोनेटर, टिफिन बम, एक किलो विस्फोटक, कीलें और जले हुए कोडेक्स तार, एक उर्दू अखबार, नाखूनों वाला एक छोटा पॉलीपैक, कुछ प्रिंटआउट जिस पर खालिस्तान एक्शन फोर्स लिखा है, एक रेडमी 9-ए मोबाइल फोन।

.


महेंद्रगढ़: क्राइम कंट्रोल की टीम बताकर चार होटलों से वसूले 63 हजार रुपये, अज्ञात पर केस दर्ज

संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्यों ने किया प्रदर्शन, नगराधीश को सौंपा मांगपत्र