39 साल पहले लॉर्ड्स में कपिल सेना ने लहराया तिरंगा, भारत में क्रिकेट बन गया धर्म


नई दिल्ली. 25 जून, 1983…एक ऐसी तारीख जो भारतीय क्रिकेट इतिहास में सुनहरे अक्षरों में दर्ज है. ये वो दिन है जिसके बाद भारतीय क्रिकेट पूरी तरह बदल गया. 1980 के दशक में जब भारतीय हॉकी टीम एस्ट्रोटर्फ आने के बाद अपनी चमक खो रही थी, उसी समय 24 साल के युवा कप्तान कपिल देव की अगुवाई भारतीय क्रिकेट टीम नया इतिहास बना रही थी. भारतीय टीम जब वर्ल्ड कप खेलने इंग्लैंड पहुंची तो किसी को भी उम्मीद नहीं थी कि वह वर्ल्ड कप का खिताब वापस लेकर लौटेगी. वेस्टइंडीज की टीम पहले दो वर्ल्ड कप की चैंपियन थी. भारत ने लो स्कोरिंग फाइनल मैच में सितारों से सजी कैरेबियन टीम को 43 रन से हराया. यह उस समय का सबसे बड़ा उलटफेर था. टीम इंडिया ने पहली बार आईसीसी टूर्नामेंट का कोई खिताब जीता

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : June 25, 2022, 07:13 IST

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

मॉडल टाउन में खरीदारी करने आई महिला टीचर का पर्स चुराया

सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल पर एक जुलाई से नगर निगम काटेगा चालान