12वीं परीक्षा परिणाम में सरकारी स्कूल की छात्राओं ने जमाई धाक


ख़बर सुनें

सिरसा। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की ओर से बुधवार को 12वीं का परीक्षा परिणाम जारी कर दिया गया। जिला का परिणाम 89.65 फीसदी रहा। इस स्कोर के साथ सिरसा प्रदेश भर में 5वें स्थान पर रहा। इस बार भी छात्राओं ने बाजी मारी। खास बात ये रही कि इस बार राजकीय विद्यालयों के विद्यार्थियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और निजी स्कूलों को पछाड़ा। जिला टॉपर्स की सूची में पहले तीन स्थानों पर राजकीय विद्यालयों की छात्राएं रहीं।
बुधवार शाम पंाच बजे के बाद शिक्षा बोर्ड की वेबसाइट पर परिणाम जारी कर दिया गया। सुबह से विद्यार्थी, अभिभावक और स्कूल संचालक परीक्षा परिणाम का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। जैसे ही परीक्षा परिणाम जारी हुआ, तभी पूरे उत्साह के साथ देखा। बेहतरीन अंक हासिल करने वाले विद्यार्थियों ने खुशियां मनाई और एक-दूसरे को बधाई दी। स्कूल कैंपस में एकत्रित हुए विद्यार्थियों ने शिक्षकों का भी धन्यवाद किया। अब 12वीं पास करने वाले विद्यार्थियों का कॉलेज में जाने का सपना पूरा होगा। इसी के साथ अब विद्यार्थियों ने भविष्य के लिए दाखिला की भी तैयारियां शुरू कर दी हैं।
लड़कों से आगे रही छात्राएं, 924 को मिली निराशा
मई में आयोजित परीक्षा में कुल 11 हजार 386 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। इसमें से 10 हजार 207 विद्यार्थियों ने परीक्षा उत्तीर्ण कर ली है। वहीं 924 विद्यार्थी परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर पाए है। इन विद्यार्थियों में से 5215 छात्राओं व 4992 छात्र उत्तीर्ण हुए हैं। बुधवार को दिनभर विद्यार्थी चिंता में दिखाई दिए और देर शाम रिजल्ट आने के बाद विद्यार्थियों ने राहत की सांस ली। वहीं देर शाम रिजल्ट घोषित होने के बाद विद्यार्थियों के चेहरे पर खुशी देखने को मिली।
सरकारी स्कूल की तीन छात्राओं ने किया टॉप
जिले के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जोधपुरिया की शर्मिला ने 490 अंक प्राप्त कर जिले में टॉप किया। मांगेआना की नूरदीप कौर ने 487 अंक लेकर दूसरे स्थान पर कब्जा किया। वहीं गांव जीवन नगर की अमनदीप ने 486 अंक प्राप्त कर तीसरा स्थान हासिल किया। तीनों ही छात्राओं ने विपरित स्थितियों में तैयारी की और यह स्थान हासिल किया है।

सिरसा। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की ओर से बुधवार को 12वीं का परीक्षा परिणाम जारी कर दिया गया। जिला का परिणाम 89.65 फीसदी रहा। इस स्कोर के साथ सिरसा प्रदेश भर में 5वें स्थान पर रहा। इस बार भी छात्राओं ने बाजी मारी। खास बात ये रही कि इस बार राजकीय विद्यालयों के विद्यार्थियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और निजी स्कूलों को पछाड़ा। जिला टॉपर्स की सूची में पहले तीन स्थानों पर राजकीय विद्यालयों की छात्राएं रहीं।

बुधवार शाम पंाच बजे के बाद शिक्षा बोर्ड की वेबसाइट पर परिणाम जारी कर दिया गया। सुबह से विद्यार्थी, अभिभावक और स्कूल संचालक परीक्षा परिणाम का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। जैसे ही परीक्षा परिणाम जारी हुआ, तभी पूरे उत्साह के साथ देखा। बेहतरीन अंक हासिल करने वाले विद्यार्थियों ने खुशियां मनाई और एक-दूसरे को बधाई दी। स्कूल कैंपस में एकत्रित हुए विद्यार्थियों ने शिक्षकों का भी धन्यवाद किया। अब 12वीं पास करने वाले विद्यार्थियों का कॉलेज में जाने का सपना पूरा होगा। इसी के साथ अब विद्यार्थियों ने भविष्य के लिए दाखिला की भी तैयारियां शुरू कर दी हैं।

लड़कों से आगे रही छात्राएं, 924 को मिली निराशा

मई में आयोजित परीक्षा में कुल 11 हजार 386 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। इसमें से 10 हजार 207 विद्यार्थियों ने परीक्षा उत्तीर्ण कर ली है। वहीं 924 विद्यार्थी परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर पाए है। इन विद्यार्थियों में से 5215 छात्राओं व 4992 छात्र उत्तीर्ण हुए हैं। बुधवार को दिनभर विद्यार्थी चिंता में दिखाई दिए और देर शाम रिजल्ट आने के बाद विद्यार्थियों ने राहत की सांस ली। वहीं देर शाम रिजल्ट घोषित होने के बाद विद्यार्थियों के चेहरे पर खुशी देखने को मिली।

सरकारी स्कूल की तीन छात्राओं ने किया टॉप

जिले के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जोधपुरिया की शर्मिला ने 490 अंक प्राप्त कर जिले में टॉप किया। मांगेआना की नूरदीप कौर ने 487 अंक लेकर दूसरे स्थान पर कब्जा किया। वहीं गांव जीवन नगर की अमनदीप ने 486 अंक प्राप्त कर तीसरा स्थान हासिल किया। तीनों ही छात्राओं ने विपरित स्थितियों में तैयारी की और यह स्थान हासिल किया है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

नहर में गिरे बच्चे की तलाश के लिए स्टेट हाईवे पर लगाया जाम

कंवारी गांव की बेटी ऋतुल का एनडीए में हुआ चयन