in

हिंसक सांड ने महिला व एक व्यक्ति को किया घायल


ख़बर सुनें

महेंद्रगढ़। शहर में बेसहारा पशुओं का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। आईटीआई रोड पर शुक्रवार को एक हिंसक सांड़ ने एक 55 वर्षीय व्यक्ति को उठा-उठा कर पटका और एक महिला पर हमला कर दिया। इस घटना में दोनों घायल हैं। घायल रामचंद्र और ममता को स्थानीय लोगों ने नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया। इनमें गंभीर रूप से घायल रामचंद्र को भर्ती किया गया है। हिंसक सांड़ों के हमले से आए दिन लोग घायल हो रहे हैं लेकिन उन्हें पकड़ने के लिए ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है।
दुकानदारों ने बताया कि शुक्रवार को गांव मालड़ा निवासी महिला ममता आईटीआई रोड पर एक रेहड़ी से सामान खरीद रही थी जबकि महेंद्रगढ़ निवासी रामचंद्र वहां से गुजर रहे थे। इसी दौरान एक हिंसक सांड़ ने दोनों पर हमला बोल दिया। सांढ़ ने 55 वर्षीय रामचंद्र को उठा-उठाकर पटका जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। इसी दौरान सांड़ ने ममता पर भी हमला कर उसे घायल कर दिया। यह देख स्थानीय दुकानदारों और अन्य लोगों ने सांड़ को भगाया। दुकानदारों घायल रामचंद्र और ममता को नागरिक अस्पताल महेंद्र गढ़ पहुंचाया। इस घटना में रामचंद्र के पैर की हड्डी टूट गई है जिससे चिकित्सकों ने उसे भर्ती कर लिया है। चिकित्सकों ने घायल महिला का प्राथमिक उपचार किया।
महेंद्रगढ़ और नारनौल में लावारिश सांड़ों का भय हमेशा बना रहता है। सड़कों पर घूम रहे सांड़ आए दिन हमला कर लोगों को घायल करते रहते हैं। पांच दिन पहले एक सांड़ ने नारनौल में भाजपा नेता सत्यव्रत शास्त्री के बेटे पर हमलाकर घायल कर उसे घायल कर दिया दिया। लावारिस पशु नारनौल महेंद्रगढ़ स्टेट हाईवे पर भी बैठकर रोड को जाम कर देते हैं। नारनौल के महाबीर चौक, रेवाड़ी रोड, सिंघाना रोड, निजामपुर रोड, रेलवे रोड, पुरानी कचेहरी, पुरानी सराय तथा शहर के मुख्य बाजारों में लावारिस गोवंश घूमते रहते हैं। आए दिन हो रही घटनाओं के बाद भी सांड़ों को नहीं पकड़ा जा रहा है। नगर परिषद नारनौल ने अबतक 260 लावारिस गोवंशों को ही पकड़ा है।
सांड़ों के हमले से घायल तीन लोग गंवा चुके हैं जान
नारनौल। क्षेत्र में तीन वर्ष में तीन लोग सांड़ों के हमले से घायल होकर अपनी जान गंवा चुके हैं। डेढ़ वर्ष पहले लावारिस गोवंश के हमले से घायल शहर के मोहल्ला मिश्रवाड़ा निवासी एक बुजुर्ग की मौत हो गई थी। बहादुर सिंह तालाब के पास एक बुजुर्ग महिला को लावारिस गोवंश ने मारकर घायल कर दिया था जिसकी बाद में मौत हो गई। इसी प्रकार महेंद्रगढ़ में नगर पालिका के पास पशु के हमले से घायल एक बुजुर्ग की मौत हो चुकी है। इसी प्रकरा ढाणी किरारोद में एक बुजुर्ग, नूूनी शेखपुरा में भी एक व्यक्ति और महेंद्रगढ़ सिटी में एक महिला घायल हो चुकी है।

महेंद्रगढ़। शहर में बेसहारा पशुओं का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। आईटीआई रोड पर शुक्रवार को एक हिंसक सांड़ ने एक 55 वर्षीय व्यक्ति को उठा-उठा कर पटका और एक महिला पर हमला कर दिया। इस घटना में दोनों घायल हैं। घायल रामचंद्र और ममता को स्थानीय लोगों ने नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया। इनमें गंभीर रूप से घायल रामचंद्र को भर्ती किया गया है। हिंसक सांड़ों के हमले से आए दिन लोग घायल हो रहे हैं लेकिन उन्हें पकड़ने के लिए ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है।

दुकानदारों ने बताया कि शुक्रवार को गांव मालड़ा निवासी महिला ममता आईटीआई रोड पर एक रेहड़ी से सामान खरीद रही थी जबकि महेंद्रगढ़ निवासी रामचंद्र वहां से गुजर रहे थे। इसी दौरान एक हिंसक सांड़ ने दोनों पर हमला बोल दिया। सांढ़ ने 55 वर्षीय रामचंद्र को उठा-उठाकर पटका जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। इसी दौरान सांड़ ने ममता पर भी हमला कर उसे घायल कर दिया। यह देख स्थानीय दुकानदारों और अन्य लोगों ने सांड़ को भगाया। दुकानदारों घायल रामचंद्र और ममता को नागरिक अस्पताल महेंद्र गढ़ पहुंचाया। इस घटना में रामचंद्र के पैर की हड्डी टूट गई है जिससे चिकित्सकों ने उसे भर्ती कर लिया है। चिकित्सकों ने घायल महिला का प्राथमिक उपचार किया।

महेंद्रगढ़ और नारनौल में लावारिश सांड़ों का भय हमेशा बना रहता है। सड़कों पर घूम रहे सांड़ आए दिन हमला कर लोगों को घायल करते रहते हैं। पांच दिन पहले एक सांड़ ने नारनौल में भाजपा नेता सत्यव्रत शास्त्री के बेटे पर हमलाकर घायल कर उसे घायल कर दिया दिया। लावारिस पशु नारनौल महेंद्रगढ़ स्टेट हाईवे पर भी बैठकर रोड को जाम कर देते हैं। नारनौल के महाबीर चौक, रेवाड़ी रोड, सिंघाना रोड, निजामपुर रोड, रेलवे रोड, पुरानी कचेहरी, पुरानी सराय तथा शहर के मुख्य बाजारों में लावारिस गोवंश घूमते रहते हैं। आए दिन हो रही घटनाओं के बाद भी सांड़ों को नहीं पकड़ा जा रहा है। नगर परिषद नारनौल ने अबतक 260 लावारिस गोवंशों को ही पकड़ा है।

सांड़ों के हमले से घायल तीन लोग गंवा चुके हैं जान

नारनौल। क्षेत्र में तीन वर्ष में तीन लोग सांड़ों के हमले से घायल होकर अपनी जान गंवा चुके हैं। डेढ़ वर्ष पहले लावारिस गोवंश के हमले से घायल शहर के मोहल्ला मिश्रवाड़ा निवासी एक बुजुर्ग की मौत हो गई थी। बहादुर सिंह तालाब के पास एक बुजुर्ग महिला को लावारिस गोवंश ने मारकर घायल कर दिया था जिसकी बाद में मौत हो गई। इसी प्रकार महेंद्रगढ़ में नगर पालिका के पास पशु के हमले से घायल एक बुजुर्ग की मौत हो चुकी है। इसी प्रकरा ढाणी किरारोद में एक बुजुर्ग, नूूनी शेखपुरा में भी एक व्यक्ति और महेंद्रगढ़ सिटी में एक महिला घायल हो चुकी है।

.


डेढ़ ग्राम स्मैक के साथ आरोपी गिरफ्तार

सपना चौधरी खाने की तगड़ी ने मचाया ग़दर,