in

हरियाणा, महाराष्ट्र व कर्नाटक कुश्ती संघ की कार्यकारिणी भंग


ख़बर सुनें

भारतीय कुश्ती संघ ने हरियाणा, महाराष्ट्र और कर्नाटक कुश्ती संघों की कार्यकारिणी को भंग कर दिया है। भारतीय संघ ने तीनों राज्यों के कुश्ती संघ के सभी पदाधिकारियों को हटाते हुए वहां चेयरमैन, कन्वीनर और सदस्य नियुक्त कर दिए हैं। तीनों संघों पर बड़ी प्रतियोगिता का आयोजन नहीं कराने का आरोप है। नई कार्यकारिणी के गठन तक काम करने के लिए भारतीय कुश्ती संघ ने चेयरमैन, कन्वीनर और सदस्य नियुक्त किए गए हैं।
भारतीय कुश्ती संघ की 30 जून को नई दिल्ली में बैठक हुई थी। बैठक में फैसला लिया गया कि बड़ी प्रतियोगिताओं में निष्क्रिय और जिम्मेदारी न निभाने वाले हरियाणा कुश्ती संघ, कर्नाटक राज्य कुश्ती संघ और महाराष्ट्र राज्य कुश्ती संघ की कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है। तीनों राज्यों के कुश्ती संघों में नियुक्त पदाधिकारियों को हटा दिया गया है। इसके साथ ही भारतीय कुश्ती संघ ने तीनों राज्यों में कुश्ती संघ के चुनाव कराकर नई कार्यकारिणी नियुक्त करने के आदेश दिए हैं। चुनाव के लिए कमेटी का गठन कर दिया गया है। फिलहाल कामकाज सुचारु चलाने के लिए तीनों राज्यों में चेयरमैन, कन्वीनर और सदस्य नियुक्त किए गए हैं। बताया गया है कि तीनों संघ के अध्यक्ष व अन्य पदाधिकारी बड़ी प्रतियोगिता कराने में सक्रिय नहीं रहे जिसके चलते कार्रवाई की गई है।
हरियाणा पर फर्जीवाड़े पर लगाम नहीं लगाने पर भी कार्रवाई
भारतीय कुश्ती संघ ने हरियाणा कुश्ती संघ पर पहलवानों के फर्जी जन्म प्रमाणपत्रों के मामले में कार्रवाई नहीं करने की बात कही है। पहलवान जो जन्म प्रमाणपत्र देते संघ के पदाधिकारी उन्हें आगे भारतीय कुश्ती संघ के पास भेज देते। संघ के पदाधिकारी अपने स्तर पर इन जन्म प्रमाणपत्रों की जांच नहीं कराते थे। भारतीय कुश्ती संघ को इनकी जांच करनी पड़ती थी। जांच के कई फर्जी निकलते थे। इसके साथ ही हरियाणा कुश्ती संघ के अध्यक्ष दीपेंद्र के काउंसिल की बैठकों में भाग नहीं लेने की बात भी कही गई है।
यह पदाधिकारी किए गए नियुक्त
भारतीय कुश्ती संघ ने हरियाणा में संयुक्त सचिव जयप्रकाश को चेयरमैन, उपाध्यक्ष दर्शन लाल को कन्वीनर और कार्यकारी सदस्य जगदीश कुमार को सदस्य नियुक्त किया है। महाराष्ट्र राज्य कुश्ती संघ में संयुक्त सचिव संजय कुमार सिंह को चेयरमैन, कोषाध्यक्ष एसपी देशवाल को कन्वीनर और संयुक्त सचिव आदित्य प्रताप सिंह को सदस्य लगाया गया है। इसके अलावा कर्नाटक कुश्ती संघ में महासचिव वीएन प्रसाद को चेयरमैन, कार्यकारी सदस्य आरके पुरुषोत्तम को कन्वीनर और कार्यकारी सदस्य एम लोगनाथन को सदस्य लगाया गया है।
हरियाणा कुश्ती संघ जताएगा विरोध
हरियाणा कुश्ती संघ के अध्यक्ष सांसद दीपेंद्र हुड्डा थे। संघ के महासचिव रहे राजकुमार हुड्डा ने बताया कि वह फैसले का विरोध करेंगे। इसके लिए वह जल्द ही अध्यक्ष दीपेंद्र हुड्डा व अन्य सदस्यों के साथ बैठक कर आगे की रणनीति बनाएंगे।
भारतीय कुश्ती संघ ने हरियाणा, महाराष्ट्र व कर्नाटक कुश्ती संघ की कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है। तीनों स्थानों पर चेयरमैन, कन्वीनर व सदस्य नियुक्त किए गए हैं। तीनों कुश्ती संघों ने बड़ी प्रतियोगिता कराने में कोई सक्रियता नहीं दिखाई थी। जिसके चलते कार्रवाई की गई।
-विनोद तोमर, सहायक सचिव, भारतीय कुश्ती संघ।

भारतीय कुश्ती संघ ने हरियाणा, महाराष्ट्र और कर्नाटक कुश्ती संघों की कार्यकारिणी को भंग कर दिया है। भारतीय संघ ने तीनों राज्यों के कुश्ती संघ के सभी पदाधिकारियों को हटाते हुए वहां चेयरमैन, कन्वीनर और सदस्य नियुक्त कर दिए हैं। तीनों संघों पर बड़ी प्रतियोगिता का आयोजन नहीं कराने का आरोप है। नई कार्यकारिणी के गठन तक काम करने के लिए भारतीय कुश्ती संघ ने चेयरमैन, कन्वीनर और सदस्य नियुक्त किए गए हैं।

भारतीय कुश्ती संघ की 30 जून को नई दिल्ली में बैठक हुई थी। बैठक में फैसला लिया गया कि बड़ी प्रतियोगिताओं में निष्क्रिय और जिम्मेदारी न निभाने वाले हरियाणा कुश्ती संघ, कर्नाटक राज्य कुश्ती संघ और महाराष्ट्र राज्य कुश्ती संघ की कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है। तीनों राज्यों के कुश्ती संघों में नियुक्त पदाधिकारियों को हटा दिया गया है। इसके साथ ही भारतीय कुश्ती संघ ने तीनों राज्यों में कुश्ती संघ के चुनाव कराकर नई कार्यकारिणी नियुक्त करने के आदेश दिए हैं। चुनाव के लिए कमेटी का गठन कर दिया गया है। फिलहाल कामकाज सुचारु चलाने के लिए तीनों राज्यों में चेयरमैन, कन्वीनर और सदस्य नियुक्त किए गए हैं। बताया गया है कि तीनों संघ के अध्यक्ष व अन्य पदाधिकारी बड़ी प्रतियोगिता कराने में सक्रिय नहीं रहे जिसके चलते कार्रवाई की गई है।

हरियाणा पर फर्जीवाड़े पर लगाम नहीं लगाने पर भी कार्रवाई

भारतीय कुश्ती संघ ने हरियाणा कुश्ती संघ पर पहलवानों के फर्जी जन्म प्रमाणपत्रों के मामले में कार्रवाई नहीं करने की बात कही है। पहलवान जो जन्म प्रमाणपत्र देते संघ के पदाधिकारी उन्हें आगे भारतीय कुश्ती संघ के पास भेज देते। संघ के पदाधिकारी अपने स्तर पर इन जन्म प्रमाणपत्रों की जांच नहीं कराते थे। भारतीय कुश्ती संघ को इनकी जांच करनी पड़ती थी। जांच के कई फर्जी निकलते थे। इसके साथ ही हरियाणा कुश्ती संघ के अध्यक्ष दीपेंद्र के काउंसिल की बैठकों में भाग नहीं लेने की बात भी कही गई है।

यह पदाधिकारी किए गए नियुक्त

भारतीय कुश्ती संघ ने हरियाणा में संयुक्त सचिव जयप्रकाश को चेयरमैन, उपाध्यक्ष दर्शन लाल को कन्वीनर और कार्यकारी सदस्य जगदीश कुमार को सदस्य नियुक्त किया है। महाराष्ट्र राज्य कुश्ती संघ में संयुक्त सचिव संजय कुमार सिंह को चेयरमैन, कोषाध्यक्ष एसपी देशवाल को कन्वीनर और संयुक्त सचिव आदित्य प्रताप सिंह को सदस्य लगाया गया है। इसके अलावा कर्नाटक कुश्ती संघ में महासचिव वीएन प्रसाद को चेयरमैन, कार्यकारी सदस्य आरके पुरुषोत्तम को कन्वीनर और कार्यकारी सदस्य एम लोगनाथन को सदस्य लगाया गया है।

हरियाणा कुश्ती संघ जताएगा विरोध

हरियाणा कुश्ती संघ के अध्यक्ष सांसद दीपेंद्र हुड्डा थे। संघ के महासचिव रहे राजकुमार हुड्डा ने बताया कि वह फैसले का विरोध करेंगे। इसके लिए वह जल्द ही अध्यक्ष दीपेंद्र हुड्डा व अन्य सदस्यों के साथ बैठक कर आगे की रणनीति बनाएंगे।

भारतीय कुश्ती संघ ने हरियाणा, महाराष्ट्र व कर्नाटक कुश्ती संघ की कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है। तीनों स्थानों पर चेयरमैन, कन्वीनर व सदस्य नियुक्त किए गए हैं। तीनों कुश्ती संघों ने बड़ी प्रतियोगिता कराने में कोई सक्रियता नहीं दिखाई थी। जिसके चलते कार्रवाई की गई।

-विनोद तोमर, सहायक सचिव, भारतीय कुश्ती संघ।

.


पहलवानों ने बजाया डंका : 15 दिन में देश की झोली में डाले चार एशियन खिताब

रास्ता रोककर हमला करने का एक आरोपी काबू, भेजा जेल