in

हरियाणा: प्रदेश में एडीएस स्प्रिट लिमिटेड के कई ठिकानों पर आयकर विभाग का सर्वे, आय व संपत्ति से संबंधित जुटाया जा रहा ब्योरा


ख़बर सुनें

आयकर विभाग की टीम ने बुधवार को एडीएस स्प्रिट लिमिटेड के हरियाणा के बहादुरगढ़ स्थित कई ठिकानों पर छापा मार कार्रवाई की। टीम ने पुराने बस स्टैंड के पास, दिल्ली-रोहतक रोड और गांव सिद्दीपुर लोवा स्थित ग्रुप के निदेशकों के पैतृक निवास पर भी दस्तक दी।

आयकर विभाग की सर्वे की कार्रवाई दिन भर जारी रही। इस दौरान न तो किसी को अंदर आने दिया और न ही बाहर जाने दिया गया। हालांकि कार्रवाई के संबंध में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिल पाई। स्थानीय पुलिस को कार्रवाई के दौरान सुरक्षा व्यवस्था से दूर रखा गया। सुरक्षा की सारी कमान आयकर अधिकारियों के साथ आए सीआरपी के जवान संभाले हुए थे।

सभी परिसरों में सीआरपी के जवान तैनात रहे। कंपनी सूत्रों ने बताया कि आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा आय व संपत्ति से संबंधित ब्योरा जुटाया जा रहा है। बुधवार सुबह 9 बजे ही एडीएस ग्रुप के ठिकानों पर जांच के लिए टीम पहुंच गई थी।

टीम में चडीगढ़, गुरुग्राम व रोहतक के अधिकारी शामिल बताए गए हैं। अधिकारियों का दस्ता करीब 15 गाड़ियों में आया। कंपनी निदेशक के पुराने बस स्टैंड के निकट घर, कार्यालय, सदर थाना के सामने स्थित एक कार्यालय व आरजे अस्पताल के निकट स्थित एक कार्यालय में भी जांच की गई। 

आयकर विभाग के अधिकारी कई पहलुओं को ध्यान में रखते हुए छानबीन में लगे हैं। सूत्रों ने बताया कि टीम यह पता लगाने में जुटी है कि कहीं कंपनी द्वारा टैक्स चोरी तो नहीं किया जा रहा। एडीएस पर इन छापों को लेकर शहर के लोगों में भी कौतूहल रहा।

एडीएस स्पिरिट लिमिटेड के मैनेजर के घर इनकम टैक्स का सर्वे
प्रदेश में इनकम टैक्स के चल रहे सर्वे के तहत रोहतक के सेक्टर एक स्थित एडीएस स्पिरिट लिमिटेड के मैनेजर के घर भी टीम पहुंची। टीम बुधवार को सुबह साढ़े 7 बजे पहुंची और शाम तक रही। टीम ने ग्रुप मैनेजर के घर से इनकम आदि से जुड़े कागजात और संपत्ति का ब्योरा जुटाया। इनकम टैक्स का मैनेजर के घर के अलावा कंपनी के अन्य जगहों पर भी सर्वे जारी है।

जानकारी के अनुसार इनकम टैक्स की टीम बुधवार को सुबह से एडीएस ग्रुप ऑफ कंपनी के कई ठिकानों पर जांच के लिए पहुंची। टीम में चंडीगढ़, गुरुग्राम और रोहतक के अधिकारी शामिल बताए जा रहे हैं। कंपनी से जुड़े जिन परिसरों में सर्वे चल रहा है, वहां न तो किसी को बाहर और न ही अंदर जाने दिया जा रहा है।

सीआरपीएफ के जवानों को सुरक्षा का जिम्मा सौंपा गया है। रोहतक में मैनेजर के आवास पर महिला सीआरपीएफ भी तैनात रही। बताया जा रहा है कि इनकम टैक्स अधिकारी टैक्स चोरी के मामले में कई स्तर पर छानबीन कर रही है। लंबे समय से कंपनी से जुड़े कामकाज और इनकम पर नजर रखी जा रही थी।

बेरी-कलानौर मार्ग पर स्थित एडीएस स्प्रिट लिमिटेड पर आयकर विभाग की टीम ने सर्वे किया
बेरी-कलानौर मार्ग पर स्थित एडीएस स्प्रिट लिमिटेड पर आयकर विभाग की टीम ने सर्वे किया। इस दौरान खास बात यह रही कि विभाग की टीम सुरक्षा के लिए हरियाणा पुलिस की बजाए सीआरपीएफ की टीम को साथ लेकर आई थी। बेरी में स्थित फैक्टरी पर बुधवार की सुबह करीब 7:40 बजे आठ गाड़ियों में आयकर विभाग के अधिकारी व सीआरपीएफ के कर्मचारी पहुंचे। टीम ने आते फैक्टरी के रिकॉर्ड की जांच शुरू कर दी।

यह सिलसिला देर शाम तक जारी रहा। सीआरपीएफ के कर्मचारियों को फैक्टरी के बाहर दोनों गेटों पर तैनात किया गया था। किसी भी व्यक्ति को फैक्टरी में नहीं जाने दिया जा रहा था। कंपनी के लेखा विभाग के रिकॉर्ड की निरंतर जांच चल रही थी।

कंपनी में मौजूद अधिकारियों से भी रिकॉर्ड की जांच के साथ-साथ पूछताछ की जा रही थी। कंपनी की और से आयकर में कहीं कोई घालमेल तो नहीं किया गया है। इसके लिए टीम एक-एक कागजात की बारीकी से जांच कर रही थी।

विस्तार

आयकर विभाग की टीम ने बुधवार को एडीएस स्प्रिट लिमिटेड के हरियाणा के बहादुरगढ़ स्थित कई ठिकानों पर छापा मार कार्रवाई की। टीम ने पुराने बस स्टैंड के पास, दिल्ली-रोहतक रोड और गांव सिद्दीपुर लोवा स्थित ग्रुप के निदेशकों के पैतृक निवास पर भी दस्तक दी।

आयकर विभाग की सर्वे की कार्रवाई दिन भर जारी रही। इस दौरान न तो किसी को अंदर आने दिया और न ही बाहर जाने दिया गया। हालांकि कार्रवाई के संबंध में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिल पाई। स्थानीय पुलिस को कार्रवाई के दौरान सुरक्षा व्यवस्था से दूर रखा गया। सुरक्षा की सारी कमान आयकर अधिकारियों के साथ आए सीआरपी के जवान संभाले हुए थे।

सभी परिसरों में सीआरपी के जवान तैनात रहे। कंपनी सूत्रों ने बताया कि आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा आय व संपत्ति से संबंधित ब्योरा जुटाया जा रहा है। बुधवार सुबह 9 बजे ही एडीएस ग्रुप के ठिकानों पर जांच के लिए टीम पहुंच गई थी।

टीम में चडीगढ़, गुरुग्राम व रोहतक के अधिकारी शामिल बताए गए हैं। अधिकारियों का दस्ता करीब 15 गाड़ियों में आया। कंपनी निदेशक के पुराने बस स्टैंड के निकट घर, कार्यालय, सदर थाना के सामने स्थित एक कार्यालय व आरजे अस्पताल के निकट स्थित एक कार्यालय में भी जांच की गई। 

आयकर विभाग के अधिकारी कई पहलुओं को ध्यान में रखते हुए छानबीन में लगे हैं। सूत्रों ने बताया कि टीम यह पता लगाने में जुटी है कि कहीं कंपनी द्वारा टैक्स चोरी तो नहीं किया जा रहा। एडीएस पर इन छापों को लेकर शहर के लोगों में भी कौतूहल रहा।

एडीएस स्पिरिट लिमिटेड के मैनेजर के घर इनकम टैक्स का सर्वे

प्रदेश में इनकम टैक्स के चल रहे सर्वे के तहत रोहतक के सेक्टर एक स्थित एडीएस स्पिरिट लिमिटेड के मैनेजर के घर भी टीम पहुंची। टीम बुधवार को सुबह साढ़े 7 बजे पहुंची और शाम तक रही। टीम ने ग्रुप मैनेजर के घर से इनकम आदि से जुड़े कागजात और संपत्ति का ब्योरा जुटाया। इनकम टैक्स का मैनेजर के घर के अलावा कंपनी के अन्य जगहों पर भी सर्वे जारी है।

जानकारी के अनुसार इनकम टैक्स की टीम बुधवार को सुबह से एडीएस ग्रुप ऑफ कंपनी के कई ठिकानों पर जांच के लिए पहुंची। टीम में चंडीगढ़, गुरुग्राम और रोहतक के अधिकारी शामिल बताए जा रहे हैं। कंपनी से जुड़े जिन परिसरों में सर्वे चल रहा है, वहां न तो किसी को बाहर और न ही अंदर जाने दिया जा रहा है।

सीआरपीएफ के जवानों को सुरक्षा का जिम्मा सौंपा गया है। रोहतक में मैनेजर के आवास पर महिला सीआरपीएफ भी तैनात रही। बताया जा रहा है कि इनकम टैक्स अधिकारी टैक्स चोरी के मामले में कई स्तर पर छानबीन कर रही है। लंबे समय से कंपनी से जुड़े कामकाज और इनकम पर नजर रखी जा रही थी।

बेरी-कलानौर मार्ग पर स्थित एडीएस स्प्रिट लिमिटेड पर आयकर विभाग की टीम ने सर्वे किया

बेरी-कलानौर मार्ग पर स्थित एडीएस स्प्रिट लिमिटेड पर आयकर विभाग की टीम ने सर्वे किया। इस दौरान खास बात यह रही कि विभाग की टीम सुरक्षा के लिए हरियाणा पुलिस की बजाए सीआरपीएफ की टीम को साथ लेकर आई थी। बेरी में स्थित फैक्टरी पर बुधवार की सुबह करीब 7:40 बजे आठ गाड़ियों में आयकर विभाग के अधिकारी व सीआरपीएफ के कर्मचारी पहुंचे। टीम ने आते फैक्टरी के रिकॉर्ड की जांच शुरू कर दी।

यह सिलसिला देर शाम तक जारी रहा। सीआरपीएफ के कर्मचारियों को फैक्टरी के बाहर दोनों गेटों पर तैनात किया गया था। किसी भी व्यक्ति को फैक्टरी में नहीं जाने दिया जा रहा था। कंपनी के लेखा विभाग के रिकॉर्ड की निरंतर जांच चल रही थी।

कंपनी में मौजूद अधिकारियों से भी रिकॉर्ड की जांच के साथ-साथ पूछताछ की जा रही थी। कंपनी की और से आयकर में कहीं कोई घालमेल तो नहीं किया गया है। इसके लिए टीम एक-एक कागजात की बारीकी से जांच कर रही थी।

.


आरबीएसई 12वीं परिणाम 2022 लाइव अपडेट: बीएसईआर राजस्थान बोर्ड विज्ञान, वाणिज्य मार्कशीट rajresults.nic.in पर, यहां सीधा लिंक है

️ रूस️ रूस️ रूस️️️️️️️