in

हरियाणा: गूंगा पहलवान ने किया ट्वीट, लिखा- हरियाणा सरकार के काले कानूनों की कड़ी निंदा करता हूं…


संवाद न्यूज एजेंसी, साल्हावास, झज्जर (हरियाणा)
Published by: भूपेंद्र सिंह
Updated Tue, 31 May 2022 11:59 PM IST

ख़बर सुनें

ब्राजील में आयोजित पांचवें डेफ ओलंपिक में सासरौली गांव के लाडले वीरेंद्र सिंह उर्फ गूंगा पहलवान ने कांस्य पदक जीता था। स्वदेश लौटने पर हरियाणा सरकार ने सोमवार को पंचकूला में सभी डेफ ओलंपिक खिलाड़ियों को सम्मानित किया। वीरेंद्र सिंह उर्फ गूंगा पहलवान को भी हरियाणा सरकार की ओर से चालीस लाख रुपये का चेक सम्मान स्वरूप दिया गया है। 

इस पर उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि मैं हरियाणा सरकार के काले कानूनों की कड़ी निंदा करता हूं। जिन्होंने मुझे पांचवां डेफ ओलंपिक जीतने पर पैरा ओलंपिक का पांचवां हिस्सा दिया, यह पैसा अपने बापू को समर्पित करता हूं। जो भी अंगूठे में स्याही के निशान है, सभी को हटा दें। मेरा शौक गाड़ी और मकान नहीं देश के लिए खेलना है। 

पंचकूला में डेफ ओलंपिक खिलाड़ियों रोहित भाकर, महेश, दीक्षा डागर और सुमित दहिया को बैडमिंटन, गोल्फ और कुश्ती में स्वर्ण पदक जीतने के लिए डेढ़-डेढ़ करोड़ रुपये के चेक भेंट किए गए। मुख्यमंत्री ने कुश्ती में कांस्य पदक जीतने वाले अमित और वीरेंद्र सिंह को 40 लाख रुपये का चेक भी दिया। प्रियंका, बलराम, योगेश डागर, निर्चिरा, अजय कुमार, कुलदीप शर्मा, आसिफ खान, अमन और शुभम वशिष्ठ को ढाई- ढाई लाख रुपये का चेक देकर सम्मानित किया गया है।

विस्तार

ब्राजील में आयोजित पांचवें डेफ ओलंपिक में सासरौली गांव के लाडले वीरेंद्र सिंह उर्फ गूंगा पहलवान ने कांस्य पदक जीता था। स्वदेश लौटने पर हरियाणा सरकार ने सोमवार को पंचकूला में सभी डेफ ओलंपिक खिलाड़ियों को सम्मानित किया। वीरेंद्र सिंह उर्फ गूंगा पहलवान को भी हरियाणा सरकार की ओर से चालीस लाख रुपये का चेक सम्मान स्वरूप दिया गया है। 

इस पर उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि मैं हरियाणा सरकार के काले कानूनों की कड़ी निंदा करता हूं। जिन्होंने मुझे पांचवां डेफ ओलंपिक जीतने पर पैरा ओलंपिक का पांचवां हिस्सा दिया, यह पैसा अपने बापू को समर्पित करता हूं। जो भी अंगूठे में स्याही के निशान है, सभी को हटा दें। मेरा शौक गाड़ी और मकान नहीं देश के लिए खेलना है। 

पंचकूला में डेफ ओलंपिक खिलाड़ियों रोहित भाकर, महेश, दीक्षा डागर और सुमित दहिया को बैडमिंटन, गोल्फ और कुश्ती में स्वर्ण पदक जीतने के लिए डेढ़-डेढ़ करोड़ रुपये के चेक भेंट किए गए। मुख्यमंत्री ने कुश्ती में कांस्य पदक जीतने वाले अमित और वीरेंद्र सिंह को 40 लाख रुपये का चेक भी दिया। प्रियंका, बलराम, योगेश डागर, निर्चिरा, अजय कुमार, कुलदीप शर्मा, आसिफ खान, अमन और शुभम वशिष्ठ को ढाई- ढाई लाख रुपये का चेक देकर सम्मानित किया गया है।

.


नौकरी या कॉलेज की पेशकश नहीं? कोई बात नहीं, नया वीज़ा दुनिया भर के शीर्ष विश्वविद्यालयों के छात्रों को यूके में प्रवेश की अनुमति देता है

गरीब कल्याण सम्मेलन: सीएम योगी ने पूरे राज्य में आक्रमण किया।