in

हनीट्रैप: दुष्कर्म का झूठा केस और फोटो वायरल करने की धमकी देकर महिला ने मांगे 5 लाख रुपये 


ख़बर सुनें

हिसार शहर के मिल में काम करने वाले व्यक्ति को हनीट्रैप में फंसाकर 5 लाख रुपये मांगे। महिला की धमकियां से परेशान होकर व्यक्ति ने पुलिस से गुहार लगाई कि बचा लो, नहीं तो परिवार सहित आत्महत्या करनी पड़ेगी। इस संबंध में एचटीएम थाना पुलिस ने सोमबीर और एक महिला के खिलाफ केस दर्ज किया है।  

पुलिस को दी शिकायत में कैथल जिले के सीवन गांव के रहने वाले संजीव ने बताया कि वह नौ साल से हिसार की एक मिल में काम करता है। करीब एक साल पहले मिल में ही काम करने वाली महिला से जान पहचान हुई। वह अपने घर की सभी बातें बताने लगी, जिस कारण मुझे उस पर विश्वास हो गया। एक दिन उसने बाहर के लिए बुलाया।

इस दौरान उसने मोबाइल पर हम दोनों की कुछ फोटो खींच ली। उसने फरवरी महीने में मुझ से 70 हजार रुपये उधार मांगे, तो मैंने इनकार कर दिया। इसके बाद उसने हम दोनों के फोटो वायरल करने की धमकी देकर 70 हजार रुपये मांगे। बाद में पता चला कि मिल में ही काम करने वाला शिफ्ट ऑफिसर सोमबीर और महिला मुझे ब्लैकमेल कर रहे हैं।

26 अप्रैल को सोमबीर ने मुझे कैंची चौक पर बुलाया। इसके बाद वे दोनों मुझे एमजी क्लब के पास ले गए। इस दौरान सोमबीर ने मुझे फोटो वायरल करने की धमकी देकर पांच लाख रुपये मांगे। मेरे एक दोस्त ने उन्हें समझाना चाहा तो आरोपियों ने उसके मोबाइल पर फोटो भेजकर दो लाख रुपये मांगे।

मेरी पत्नी ने 23 मई को 2 लाख रुपये देने की बात कही, लेकिन रकम नहीं मिली। फिर वह कहने लगा कि 1 लाख रुपये तो देने ही पड़ेंगे नहीं तो महिला जातिसूचक शब्द कहने और दुष्कर्म का केस दर्ज करवा देगी। इसके बाद उन्होंने पुलिस से न्याय की मांग की। जांच कर रहे एएसआई अनिल कुमार ने बताया कि संजीव की शिकायत पर सोमबीर और एक महिला के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। 

विस्तार

हिसार शहर के मिल में काम करने वाले व्यक्ति को हनीट्रैप में फंसाकर 5 लाख रुपये मांगे। महिला की धमकियां से परेशान होकर व्यक्ति ने पुलिस से गुहार लगाई कि बचा लो, नहीं तो परिवार सहित आत्महत्या करनी पड़ेगी। इस संबंध में एचटीएम थाना पुलिस ने सोमबीर और एक महिला के खिलाफ केस दर्ज किया है।  

पुलिस को दी शिकायत में कैथल जिले के सीवन गांव के रहने वाले संजीव ने बताया कि वह नौ साल से हिसार की एक मिल में काम करता है। करीब एक साल पहले मिल में ही काम करने वाली महिला से जान पहचान हुई। वह अपने घर की सभी बातें बताने लगी, जिस कारण मुझे उस पर विश्वास हो गया। एक दिन उसने बाहर के लिए बुलाया।

इस दौरान उसने मोबाइल पर हम दोनों की कुछ फोटो खींच ली। उसने फरवरी महीने में मुझ से 70 हजार रुपये उधार मांगे, तो मैंने इनकार कर दिया। इसके बाद उसने हम दोनों के फोटो वायरल करने की धमकी देकर 70 हजार रुपये मांगे। बाद में पता चला कि मिल में ही काम करने वाला शिफ्ट ऑफिसर सोमबीर और महिला मुझे ब्लैकमेल कर रहे हैं।

26 अप्रैल को सोमबीर ने मुझे कैंची चौक पर बुलाया। इसके बाद वे दोनों मुझे एमजी क्लब के पास ले गए। इस दौरान सोमबीर ने मुझे फोटो वायरल करने की धमकी देकर पांच लाख रुपये मांगे। मेरे एक दोस्त ने उन्हें समझाना चाहा तो आरोपियों ने उसके मोबाइल पर फोटो भेजकर दो लाख रुपये मांगे।

मेरी पत्नी ने 23 मई को 2 लाख रुपये देने की बात कही, लेकिन रकम नहीं मिली। फिर वह कहने लगा कि 1 लाख रुपये तो देने ही पड़ेंगे नहीं तो महिला जातिसूचक शब्द कहने और दुष्कर्म का केस दर्ज करवा देगी। इसके बाद उन्होंने पुलिस से न्याय की मांग की। जांच कर रहे एएसआई अनिल कुमार ने बताया कि संजीव की शिकायत पर सोमबीर और एक महिला के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। 

.


NGT मॉनिटरिंग कमेटी: चेयरमैन ने ली बैठक, बोले- धरती, जल और वायु की शुद्धता के लिए हरसंभव प्रयास किए जाएं

शहर को मिली नए बिजली घर की सौगात, सेक्टर 9-11 में 33 केवी बिलजी घर शुरू