सेल्फ स्टडी से बनी टॉपर, अब वकील व आईएएस बनने का अरमान


ख़बर सुनें

यमुनानगर। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने बुधवार शाम पांच बजे 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया। वाणिज्य संकाय में सरकारी स्कूल की छात्रा ने बाजी मारी है। छछरौली के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की कोमल ने पहला स्थान पाया है। जबकि कला संकाय में सरस्वती विद्या मंदिर सीनियर सेकेंडरी स्कूल की छात्रा वैशाली बंसल ने पहला स्थान पाया है। जिले का परिणाम प्रतिशत 88.47 रहा। कुल 11560 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी थी। जिसमें से 10227 उत्तीर्ण हुए और 1057 की कंपार्टमेंट आई है, जबकि 276 विद्यार्थी अनुत्तीर्ण रहे।
बोर्ड की ओर से शाम पांच बजे साइट पर परिणाम जारी किया गया। देर शाम तक विद्यार्थी अपना परिणाम जानने में जुटे रहे। साइट पर काफी लोड रहा। इसके चलते विद्यार्थियों और अध्यापकों को परिणाम जानने के लिए काफी इंतजार करना पड़ा।
बाक्स
मजदूर की बेटी कोमल रही अव्वल, आईएएस बनने का सपना
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय छछरौली की छात्रा ने निजी स्कूलों के विद्यार्थियों को पछाड़ते हुए जिला टॉप किया है। वाणिज्य संकाय में गांव गनोली निवासी कोमल ने 486 अंक प्राप्त किए हैं। कोमल के पिता मजदूरी करते हैं। जबकि बड़ी बहन बीए में पढ़ती है और छोटा भाई सातवीं कक्षा में पढ़ता है। कोमल ने बताया कि इसके लिए किसी प्रकार की कोचिंग नहीं ली। वह सेल्फ स्टडी करती थी। मन लगाकर पढ़ाई करने के साथ ही लक्ष्य की ओर ध्यान केंद्रित करती थी। कोमल ने बताया कि उसका सपना आईएएस बनने का है। कोमल की इस उपलब्धि से स्कूल व परिवार में खुशियां हैं। स्टाफ के सदस्य उसे फोन कर बधाई दे रहे हैं।
—————
फोटो:- 66, 67
वैशाली ने नहीं ली कोचिंग, बनना चाहती हैं वकील
कला संकाय में जगाधरी की जैन नगर निवासी वैशाली बंसल ने पहला स्थान पाया है। वैशाली ने कुल 489 अंक प्राप्त किए हैं। वैशाली को घुटने की हड्डी में दिक्कत है। जिस कारण वह ज्यादा चल फिर नहीं सकती हैं। वैशाली ने कहा कि उन्होंने किसी प्रकार की कोचिंग नहीं ली। वे स्कूल से आने के बाद घर पर स्वयं ही पढ़ाई करती थी। पढ़ाई के लिए वे चैप्टर का लक्ष्य लेकर चलती थी। पढ़ने के साथ दोहराव पर भी ध्यान रहता था। कहा कि यदि लगन से काम किया जाए तो कुछ असंभव नहीं होता है। वह वकील बनना चाहती हैं और इसे लेकर ही तैयारी कर रही है। वैशाली की उपलब्धि से मां नीलम बंसल व पिता संजय बंसल बेहद खुश हैं। परिवार में खुशी का माहौल है और लोग बधाई देने पहुंच रहे हैं।
——————
फोटो:- 68
इशिता बनना चाहती है आईएएस
कॉमर्स संकाय में 481 अंक प्राप्त कर इशिता शर्मा ने जिले में दूसरा स्थान पाया है। इशिता सरस्वती विद्या मंदिर सीनियर सेकेंडरी स्कूल की छात्रा है। जगाधरी की ग्रीन विहार कॉलोनी निवासी इशिता ने बताया कि उन्होंने कोई ट्यूशन व कोचिंग नहीं ली। बल्कि स्वयं से पढ़ाई के लिए समय निकाला। इसके लिए उन्होंने ध्यानपूर्वक पढ़ाई की। परीक्षा के समय तनाव नहीं लिया। बल्कि चैप्टर्स रिवाइज किए और महत्वपूर्ण चीजों पर ध्यान दिया। इशिता ने कहा कि यदि इस तरह पढ़ाई की जाए तो कोचिंग की जरूरत नहीं है। इशिता की मां लक्ष्मी देवी और रविंद्र कुमार बेहद खुश हैं। रविंद्र कुमार ने बताया कि इशिता आईएएस बनना चाहती है और इसकी तैयारी में जुटी है। —

यमुनानगर। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने बुधवार शाम पांच बजे 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया। वाणिज्य संकाय में सरकारी स्कूल की छात्रा ने बाजी मारी है। छछरौली के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की कोमल ने पहला स्थान पाया है। जबकि कला संकाय में सरस्वती विद्या मंदिर सीनियर सेकेंडरी स्कूल की छात्रा वैशाली बंसल ने पहला स्थान पाया है। जिले का परिणाम प्रतिशत 88.47 रहा। कुल 11560 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी थी। जिसमें से 10227 उत्तीर्ण हुए और 1057 की कंपार्टमेंट आई है, जबकि 276 विद्यार्थी अनुत्तीर्ण रहे।

बोर्ड की ओर से शाम पांच बजे साइट पर परिणाम जारी किया गया। देर शाम तक विद्यार्थी अपना परिणाम जानने में जुटे रहे। साइट पर काफी लोड रहा। इसके चलते विद्यार्थियों और अध्यापकों को परिणाम जानने के लिए काफी इंतजार करना पड़ा।

बाक्स

मजदूर की बेटी कोमल रही अव्वल, आईएएस बनने का सपना

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय छछरौली की छात्रा ने निजी स्कूलों के विद्यार्थियों को पछाड़ते हुए जिला टॉप किया है। वाणिज्य संकाय में गांव गनोली निवासी कोमल ने 486 अंक प्राप्त किए हैं। कोमल के पिता मजदूरी करते हैं। जबकि बड़ी बहन बीए में पढ़ती है और छोटा भाई सातवीं कक्षा में पढ़ता है। कोमल ने बताया कि इसके लिए किसी प्रकार की कोचिंग नहीं ली। वह सेल्फ स्टडी करती थी। मन लगाकर पढ़ाई करने के साथ ही लक्ष्य की ओर ध्यान केंद्रित करती थी। कोमल ने बताया कि उसका सपना आईएएस बनने का है। कोमल की इस उपलब्धि से स्कूल व परिवार में खुशियां हैं। स्टाफ के सदस्य उसे फोन कर बधाई दे रहे हैं।

—————

फोटो:- 66, 67

वैशाली ने नहीं ली कोचिंग, बनना चाहती हैं वकील

कला संकाय में जगाधरी की जैन नगर निवासी वैशाली बंसल ने पहला स्थान पाया है। वैशाली ने कुल 489 अंक प्राप्त किए हैं। वैशाली को घुटने की हड्डी में दिक्कत है। जिस कारण वह ज्यादा चल फिर नहीं सकती हैं। वैशाली ने कहा कि उन्होंने किसी प्रकार की कोचिंग नहीं ली। वे स्कूल से आने के बाद घर पर स्वयं ही पढ़ाई करती थी। पढ़ाई के लिए वे चैप्टर का लक्ष्य लेकर चलती थी। पढ़ने के साथ दोहराव पर भी ध्यान रहता था। कहा कि यदि लगन से काम किया जाए तो कुछ असंभव नहीं होता है। वह वकील बनना चाहती हैं और इसे लेकर ही तैयारी कर रही है। वैशाली की उपलब्धि से मां नीलम बंसल व पिता संजय बंसल बेहद खुश हैं। परिवार में खुशी का माहौल है और लोग बधाई देने पहुंच रहे हैं।

——————

फोटो:- 68

इशिता बनना चाहती है आईएएस

कॉमर्स संकाय में 481 अंक प्राप्त कर इशिता शर्मा ने जिले में दूसरा स्थान पाया है। इशिता सरस्वती विद्या मंदिर सीनियर सेकेंडरी स्कूल की छात्रा है। जगाधरी की ग्रीन विहार कॉलोनी निवासी इशिता ने बताया कि उन्होंने कोई ट्यूशन व कोचिंग नहीं ली। बल्कि स्वयं से पढ़ाई के लिए समय निकाला। इसके लिए उन्होंने ध्यानपूर्वक पढ़ाई की। परीक्षा के समय तनाव नहीं लिया। बल्कि चैप्टर्स रिवाइज किए और महत्वपूर्ण चीजों पर ध्यान दिया। इशिता ने कहा कि यदि इस तरह पढ़ाई की जाए तो कोचिंग की जरूरत नहीं है। इशिता की मां लक्ष्मी देवी और रविंद्र कुमार बेहद खुश हैं। रविंद्र कुमार ने बताया कि इशिता आईएएस बनना चाहती है और इसकी तैयारी में जुटी है। —

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

काल करे सो आज कर, आज करे सो अब का महत्व बताया

2020 में 85.92 % से प्रदेश में रहा दूसरा स्थान, अब 88.47 % लेकर भी पाया 8वां स्थान