सुबह झमाझम बारिश, बादल छाने से मौसम हुआ सुहावना


ख़बर सुनें

यमुनानगर। नौतपा के बाद जून का तीसरा सप्ताह बेहद सुहावना रहा। चार दिन से आसमान में छाए बादलों और ठंडी हवा चलने से लोगों को बहुत राहत मिली। दो दिन की बारिश के बाद दो दिन आसमान पर बादल छाए रहे। धूप न निकले और बारिश के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई। वहीं बुधवार को भी मौसम सुहावना रहा। इस दौरान सुबह करीब साढ़े छह बजे से आठ बजे तक बारिश हुई। करीब पौने दो घंटे बारिश ने मौसम का मिजाज बदल दिया। हालांकि सुबह के बाद दोबारा बारिश नहीं हुई लेकिन तापमान में काफी फर्क आ गया।
बारिश रुकने के बाद बादल छाए रहे। बीच में धूप भी निकली। सूरज और बादलों की आंख मिचौली दिन भर जारी रही। खुशगवार मौसम का लोगों ने खूब आनंद लिया। बता दें कि कई दिन से प्रचंड गर्मी व लू के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त था। हालात ऐसे थे कि लोग शाम छह बजे तक घर से निकलना पसंद नहीं करते थे। वहीं वीरवार से मौसम ने करवट ली। गत सप्ताह वीरवार रात को बादल छाए गए और शुक्रवार को रुक-रुक कर दिनभर बारिश हुई। जबकि शनिवार को कुछ देर बारिश हुई। जिससे तापमान में गिरावट आई और लोगों को गर्मी से राहत मिली। वहीं रविवार व सोमवार को भी पूरी तरह धूप नहीं निकली। बादल छाए रहे और मंगलवार को भी यही स्थिति रही। बुधवार सुबह करीब पौने दो घंटे बारिश हुई। इस दौरान तापमान अधिकतम तापमान 30.1 डिग्री सेल्सियस तक रहा। जबकि दिन में यह 33.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि दोपहर में यह 35 डिग्री सेल्सियस रहा। शाम को न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
मौसम सुहावना होने के कारण लोगों ने इसका खूब आनंद उठाया। इस दौरान बाजारों, पार्कों व सड़क पर अन्य दिनों की अपेक्षा ज्यादा रौनक देखने को मिली। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि अभी एक दो दिन मौसम सामान्य रहेगा। जबकि जून के अंत में बारिश की संभावना है।
धान रोपाई के लिए उत्तम, फसलों को लाभ
बारिश का पानी फसलों के अमृत समान है। उप जिला कृषि निदेशक जसविंद्र सैनी ने बताया कि सभी फसलों की अच्छी पैदावार के लिए बारिश की आवश्यकता थी। इस बारिश से किसी फसल को नुकसान नहीं होगा। वहीं धान की रोपाई में तेजी आएगी।

यमुनानगर। नौतपा के बाद जून का तीसरा सप्ताह बेहद सुहावना रहा। चार दिन से आसमान में छाए बादलों और ठंडी हवा चलने से लोगों को बहुत राहत मिली। दो दिन की बारिश के बाद दो दिन आसमान पर बादल छाए रहे। धूप न निकले और बारिश के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई। वहीं बुधवार को भी मौसम सुहावना रहा। इस दौरान सुबह करीब साढ़े छह बजे से आठ बजे तक बारिश हुई। करीब पौने दो घंटे बारिश ने मौसम का मिजाज बदल दिया। हालांकि सुबह के बाद दोबारा बारिश नहीं हुई लेकिन तापमान में काफी फर्क आ गया।

बारिश रुकने के बाद बादल छाए रहे। बीच में धूप भी निकली। सूरज और बादलों की आंख मिचौली दिन भर जारी रही। खुशगवार मौसम का लोगों ने खूब आनंद लिया। बता दें कि कई दिन से प्रचंड गर्मी व लू के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त था। हालात ऐसे थे कि लोग शाम छह बजे तक घर से निकलना पसंद नहीं करते थे। वहीं वीरवार से मौसम ने करवट ली। गत सप्ताह वीरवार रात को बादल छाए गए और शुक्रवार को रुक-रुक कर दिनभर बारिश हुई। जबकि शनिवार को कुछ देर बारिश हुई। जिससे तापमान में गिरावट आई और लोगों को गर्मी से राहत मिली। वहीं रविवार व सोमवार को भी पूरी तरह धूप नहीं निकली। बादल छाए रहे और मंगलवार को भी यही स्थिति रही। बुधवार सुबह करीब पौने दो घंटे बारिश हुई। इस दौरान तापमान अधिकतम तापमान 30.1 डिग्री सेल्सियस तक रहा। जबकि दिन में यह 33.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि दोपहर में यह 35 डिग्री सेल्सियस रहा। शाम को न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम सुहावना होने के कारण लोगों ने इसका खूब आनंद उठाया। इस दौरान बाजारों, पार्कों व सड़क पर अन्य दिनों की अपेक्षा ज्यादा रौनक देखने को मिली। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि अभी एक दो दिन मौसम सामान्य रहेगा। जबकि जून के अंत में बारिश की संभावना है।

धान रोपाई के लिए उत्तम, फसलों को लाभ

बारिश का पानी फसलों के अमृत समान है। उप जिला कृषि निदेशक जसविंद्र सैनी ने बताया कि सभी फसलों की अच्छी पैदावार के लिए बारिश की आवश्यकता थी। इस बारिश से किसी फसल को नुकसान नहीं होगा। वहीं धान की रोपाई में तेजी आएगी।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

निगम की टीम ने चलाया अतिक्रमण हटाओ व जागरुकता अभियान

Bhiwani: सीएम फ्लाइंग ने लकड़ियों से भरी 16 गाड़ी पकड़ी, हरी लकड़ियों को आरा मशीन पर बेचने की मिली थी शिकायत