in

सुखना लेक पर वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए कैंप का आगाज


ख़बर सुनें

चंडीगढ़। वाटर स्पोर्ट्स की वर्ल्ड चैंपियनशिप में हिस्सा लेने के लिए भारतीय टीम का कैंप का बुधवार से सुखना लेक पर आगाज हुआ। सुबह 6 बजे क्योकिंग, कैनोइंग और ड्रैगन बोट के टीमों के कुल 50 खिलाड़ी पहुंचे। दिन की शुरुआत खिलाड़ियों ने रनिंग से की।
इस मौके पर कैंप के कोच दीपक कुमार वहां उपस्थित रहे। उन्होंने खिलाड़ियों के साथ खुद रनिंग की। इसके बाद कुछ वर्क आउट कराया गया। बाद में खिलाड़ियों को अभ्यास करने वाला एरिया दिखाया गया, जिस पर रोजना तीनों टीमों के खिलाड़ी अभ्यास करेंगे। इस दौरान खिलाड़ियों को बोट के जरिए पानी में भी उतारा गया। इसके बाद शाम को इन खिलाड़ियों के लिए पंजाब यूनिवर्सिटी में एक थ्यूरी क्लास का भी आयोजन किया गया। सितंबर माह में चेक रिपब्लिक में वाटर स्पोर्ट्स की वर्ल्ड चैंपियनशिप का आयोजन किया जाना है। इसके लिए सुखना लेक पर भारतीय कैंप को लगाया गया है। कैंप में देश से जूनियर, सीनियर, पुरुष और महिला वर्ग खिलाड़ी शिरकत कर रहे हैं। वर्ल्ड चैंपियनशिप में क्याकिंग, कैनोइंग और ड्रैगन बोट के इवेंट में भारतीय टीमें शिरकत करेंगी।
बोट में खिलाड़ियों के बैठने की क्षमता
भारतीय कैंप के कोच दीपक कुमार ने बताया कि उनके पास कुल चार बोट है। इनमें एक बोट पर एक साथ 22 खिलाड़ी सवार होकर अभ्यास कर सकते हैं। वहीं तीन अन्य में हर एक पर 12 खिलाड़ी एक साथ सवार होकर अभ्यास कर सकते हैं।

चंडीगढ़। वाटर स्पोर्ट्स की वर्ल्ड चैंपियनशिप में हिस्सा लेने के लिए भारतीय टीम का कैंप का बुधवार से सुखना लेक पर आगाज हुआ। सुबह 6 बजे क्योकिंग, कैनोइंग और ड्रैगन बोट के टीमों के कुल 50 खिलाड़ी पहुंचे। दिन की शुरुआत खिलाड़ियों ने रनिंग से की।

इस मौके पर कैंप के कोच दीपक कुमार वहां उपस्थित रहे। उन्होंने खिलाड़ियों के साथ खुद रनिंग की। इसके बाद कुछ वर्क आउट कराया गया। बाद में खिलाड़ियों को अभ्यास करने वाला एरिया दिखाया गया, जिस पर रोजना तीनों टीमों के खिलाड़ी अभ्यास करेंगे। इस दौरान खिलाड़ियों को बोट के जरिए पानी में भी उतारा गया। इसके बाद शाम को इन खिलाड़ियों के लिए पंजाब यूनिवर्सिटी में एक थ्यूरी क्लास का भी आयोजन किया गया। सितंबर माह में चेक रिपब्लिक में वाटर स्पोर्ट्स की वर्ल्ड चैंपियनशिप का आयोजन किया जाना है। इसके लिए सुखना लेक पर भारतीय कैंप को लगाया गया है। कैंप में देश से जूनियर, सीनियर, पुरुष और महिला वर्ग खिलाड़ी शिरकत कर रहे हैं। वर्ल्ड चैंपियनशिप में क्याकिंग, कैनोइंग और ड्रैगन बोट के इवेंट में भारतीय टीमें शिरकत करेंगी।

बोट में खिलाड़ियों के बैठने की क्षमता

भारतीय कैंप के कोच दीपक कुमार ने बताया कि उनके पास कुल चार बोट है। इनमें एक बोट पर एक साथ 22 खिलाड़ी सवार होकर अभ्यास कर सकते हैं। वहीं तीन अन्य में हर एक पर 12 खिलाड़ी एक साथ सवार होकर अभ्यास कर सकते हैं।

.


जल्द मिलेगा जींद- खाटू श्याम बस सेवा का उपहार

Rohtak: दो बसों में आगे निकलने की लगी होड़, सीट से उछलकर गिरी महिला, रीढ़ की हड्डी में हुआ फ्रैक्चर