सीवरेज व्यवस्था दुरुस्त करने की तैयारी


ख़बर सुनें

कैथल। जनस्वास्थ्य विभाग मानसून से पहले अब शहर के सीवरेज व ड्रेनों की सफाई व्यवस्था दुरुस्त करनेे का काम करेगा। इसके लिए करीब 28 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। सीवरेज व ड्रेनों में गंदगी की समस्या पर ‘अमर उजाला’ मेें नौ से 13 जून तक समाचार प्रकाशित किए थे। खबर को प्रशासन ने संज्ञान लिया है। एक सप्ताह के अंदर ड्रेनों व सीवरेजों की सफाई कर दी जाएगी।
मानसून की आमद नजदीक होने के बावजूद अभी तक सीवरेज व ड्रेनों की सफाई नहीं की गई है। जगह-जगह गलियों में गंदा पानी जमा है। ड्रेनों में पॉलिथिन, बोतलें व कूड़ा कचरा दिख रहा है। लोगों ने बदबू से बीमारी फैलने की आशंका जताई है। कई ऐसी जगहें हैं, जहां पर जगह-जगह सीवरेज ओवरफ्लो हैं। गंदा पानी कॉलोनियों के खाली प्लाटों में जमा हो रहा है। जनस्वास्थ्य विभाग के कदम से अब लोगों को राहत मिल सकेगी।
सीवरेजों की सफाई के साथ टूट गए ढक्कनों को बदलने की भी तैयारी है। कई जगहों पर सड़कों पर सीवरों के ढक्कन धंस गए हैं। कई दोपहिया वाहन सवार चालक चोटिल हो जाते हैं। यह जानकारी जनस्वास्थ्य विभाग के एसडीओ सतपाल ने दी। उन्होंने बताया कि तीन ड्रेनों सहित शहर की कॉलोनियों की सीवरेज व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए 28 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।
यहां होगी सफाई
ग्योग ड्रेन, मानस ड्रेन व सिला खेड़ा ड्रेन की सफाई करवाई जाएगी। इसके अलावा करनाल रोड, पिहोवा चौक, ढांड रोड, भगत सिंह चौक, न्यू करनाल रोड, अंबाला रोड, जींद रोड, देवीगढ़ रोड, नए बस स्टैंड के नजदीक, मायापुरी कॉलोनी, जनकपुरी कॉलोनी, हिंदू स्कूल के नजदीक, माता गेट, भगत सिंह चौक, सब्जी मंडी सहित कई कॉलोनियों में सीवरेजों की सफाई करवाई जाएगी।

कैथल। जनस्वास्थ्य विभाग मानसून से पहले अब शहर के सीवरेज व ड्रेनों की सफाई व्यवस्था दुरुस्त करनेे का काम करेगा। इसके लिए करीब 28 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। सीवरेज व ड्रेनों में गंदगी की समस्या पर ‘अमर उजाला’ मेें नौ से 13 जून तक समाचार प्रकाशित किए थे। खबर को प्रशासन ने संज्ञान लिया है। एक सप्ताह के अंदर ड्रेनों व सीवरेजों की सफाई कर दी जाएगी।

मानसून की आमद नजदीक होने के बावजूद अभी तक सीवरेज व ड्रेनों की सफाई नहीं की गई है। जगह-जगह गलियों में गंदा पानी जमा है। ड्रेनों में पॉलिथिन, बोतलें व कूड़ा कचरा दिख रहा है। लोगों ने बदबू से बीमारी फैलने की आशंका जताई है। कई ऐसी जगहें हैं, जहां पर जगह-जगह सीवरेज ओवरफ्लो हैं। गंदा पानी कॉलोनियों के खाली प्लाटों में जमा हो रहा है। जनस्वास्थ्य विभाग के कदम से अब लोगों को राहत मिल सकेगी।

सीवरेजों की सफाई के साथ टूट गए ढक्कनों को बदलने की भी तैयारी है। कई जगहों पर सड़कों पर सीवरों के ढक्कन धंस गए हैं। कई दोपहिया वाहन सवार चालक चोटिल हो जाते हैं। यह जानकारी जनस्वास्थ्य विभाग के एसडीओ सतपाल ने दी। उन्होंने बताया कि तीन ड्रेनों सहित शहर की कॉलोनियों की सीवरेज व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए 28 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।

यहां होगी सफाई

ग्योग ड्रेन, मानस ड्रेन व सिला खेड़ा ड्रेन की सफाई करवाई जाएगी। इसके अलावा करनाल रोड, पिहोवा चौक, ढांड रोड, भगत सिंह चौक, न्यू करनाल रोड, अंबाला रोड, जींद रोड, देवीगढ़ रोड, नए बस स्टैंड के नजदीक, मायापुरी कॉलोनी, जनकपुरी कॉलोनी, हिंदू स्कूल के नजदीक, माता गेट, भगत सिंह चौक, सब्जी मंडी सहित कई कॉलोनियों में सीवरेजों की सफाई करवाई जाएगी।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

स्कार्पियो चालक ने मारी चार महिलाओं को टक्कर, एक की मौत

कोरोना संक्रमण के एक ही दिन में मिले सात नए केस