in

सिपाही की नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाला गिरफ्तार


ख़बर सुनें

गुरुग्राम। साइबर थाना पुलिस ने तीन साल पहले हरियाणा पुलिस में सिपाही की नौकरी दिलाने के नाम पर 9.30 लाख रुपये ठगने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस टीम ने आरोपी को पांच दिन की पुलिस रिमांड पर लेकर चालीस हजार रुपये बरामद किए हैं।
एसीपी साइबर इंदीवर ने बताया कि तीन साल पहले आशीष नाम के युवक ने साइबर थाना पुलिस को शिकायत दी थी कि रेवाड़ी के रहने वाले व्यक्ति ने खुद को नेताओं का करीबी बता कर उससे 9.30 लाख रुपये ठग लिए। विश्वास जमाने के लिए उसने एनआईसी से मिलती-जुलती ईमेल आईडी बना कर नौकरी में चयनित होने का भरोसा दिलाया। साइबर थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी व आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था।
छानबीन के दौरान पुलिस टीम ने सुधीर चौहान निवासी मायण थाना खोल, जिला रेवाड़ी को पांच दिन पहले दिल्ली से गिरफ्तार किया। पपुलिस को छानबीन के दौरान पता चला कि वारदात के बाद से ही वह घर से फरार था। बीटेक की शिक्षा ग्रहण किया है। परिवार वालों ने उसे बेदखल कर रखा है।

गुरुग्राम। साइबर थाना पुलिस ने तीन साल पहले हरियाणा पुलिस में सिपाही की नौकरी दिलाने के नाम पर 9.30 लाख रुपये ठगने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस टीम ने आरोपी को पांच दिन की पुलिस रिमांड पर लेकर चालीस हजार रुपये बरामद किए हैं।

एसीपी साइबर इंदीवर ने बताया कि तीन साल पहले आशीष नाम के युवक ने साइबर थाना पुलिस को शिकायत दी थी कि रेवाड़ी के रहने वाले व्यक्ति ने खुद को नेताओं का करीबी बता कर उससे 9.30 लाख रुपये ठग लिए। विश्वास जमाने के लिए उसने एनआईसी से मिलती-जुलती ईमेल आईडी बना कर नौकरी में चयनित होने का भरोसा दिलाया। साइबर थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी व आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था।

छानबीन के दौरान पुलिस टीम ने सुधीर चौहान निवासी मायण थाना खोल, जिला रेवाड़ी को पांच दिन पहले दिल्ली से गिरफ्तार किया। पपुलिस को छानबीन के दौरान पता चला कि वारदात के बाद से ही वह घर से फरार था। बीटेक की शिक्षा ग्रहण किया है। परिवार वालों ने उसे बेदखल कर रखा है।

.


जनस्वास्थ्य विभाग ने नहीं शुरू करवाया बरसाती नालों की सफाई का काम, वाटर सप्लाई व सीवर डिस्पोजल सब कमेटी की बैठक में दी जानकारी

साल 2005 में अच्छी तरह से चलने वाला अच्छा प्रदर्शन, 17 में चलने वाला सफर का सफर तय हो गया था