in

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड: सिरसा में पंजाब पुलिस ने दो युवकों के घरों पर दी दबिश, कोरोला कार से जुड़े तार


ख़बर सुनें

पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या मामले के तार सिरसा से जुड़े होने के बाद पंजाब पुलिस ने शनिवार देर रात्रि ओढां थाना क्षेत्र के गांव किंगरे में छापा मारा। इस दौरान ओढां पुलिस पंजाब पुलिस के साथ रही। सूत्रों के मुताबिक इस हत्याकांड में जो करोला गाड़ी मूसेवाला की थार गाड़ी का पीछा कर रही थी उस गाड़ी के तार किंगरे निवासी दो युवकों के साथ जुड़े हैं। 

शनिवार देर रात पंजाब की मुक्तसर सीआईए टीम ने ओढां पुलिस को साथ लेकर गांव किंगरे में दबिश दी। आरोपी युवक पुलिस के हाथ नहीं लगे। पुलिस काफी देर तक दोनों युवकों के घरों में बारीकी से छानबीन करती रही। मूसेवाला की हत्या के बाद किंगरे निवासी दोनों युवक भूमिगत हैं। बताया जा रहा है कि दोनों युवकों के खिलाफ विभिन्न थानों में कई आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। फिलहाल दोनों युवकों के हाथ लगने के बाद ही सामने आएगा कि उक्त युवकों का इस हत्याकांड में क्या रोल था। ओढां थाना प्रभारी कर्ण सिंह ने बताया कि उन्होंने पंजाब पुलिस का सहयोग किया था। जो भी कार्रवाई थी, वो पंजाब पुलिस की ही थी।  

सिद्धू मूसेवाला के परिवार से मिला जेजेपी नेताओं का प्रतिनिधिमंडल
रविवार को जननायक जनता पार्टी के नेताओं का प्रतिनिधिमंडल मशहूर पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला के परिवार से मिला। जेजेपी के प्रधान महासचिव दिग्विजय चौटाला व अन्य नेताओं ने सिद्धू मूसेवाला के पैतृक गांव मूसा पहुंचकर शोक संतप्त परिजनों को ढांढस बंधाया। जेजेपी नेताओं ने शोकाकुल परिवार के प्रति अपनी शोक संवेदनाएं व्यक्त की और ईश्वर से सिद्धू मूसेवाला की आत्मा को शांति और परिवार को यह क्षति सहने की शक्ति प्रदान करने की कामना की।

संधवां ने सिद्धू परिवार के साथ दुख साझा किया
पंजाब विधानसभा अध्यक्ष कुलतार सिंह संधवां ने प्रसिद्ध पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला के परिवार के साथ दुख साझा किया है। वह रविवार को गांव मूसा पहुंचे, जहां उन्होंने सिद्धू परिवार और दिवंगत गायक के प्रशंसकों के साथ दुख व्यक्त करते हुए कहा कि शुभदीप सिंह सिद्धू ने छोटी उम्र में बड़ा यश अर्जित करके अपने गांव और माता-पिता का नाम देश-दुनिया में फैलाया। 

उन्होंने कहा कि युवा अवस्था में इस तरह चल जाने से देश-दुनिया में बसते सभी पंजाबियों में शोक की लहर है। उन्होंने कहा कि किसी नौजवान की मौत पर मौजूदा समय राजनीतिक रोटियां सेकने का नहीं है, बल्कि एक साथ बैठने और विचार करने का है कि पंजाब की जवानी को सही दिशा की तरफ किस तरह बढ़ाया जाए ताकि भविष्य में इस तरह की दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं से बचाव हो सके।

विस्तार

पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या मामले के तार सिरसा से जुड़े होने के बाद पंजाब पुलिस ने शनिवार देर रात्रि ओढां थाना क्षेत्र के गांव किंगरे में छापा मारा। इस दौरान ओढां पुलिस पंजाब पुलिस के साथ रही। सूत्रों के मुताबिक इस हत्याकांड में जो करोला गाड़ी मूसेवाला की थार गाड़ी का पीछा कर रही थी उस गाड़ी के तार किंगरे निवासी दो युवकों के साथ जुड़े हैं। 

शनिवार देर रात पंजाब की मुक्तसर सीआईए टीम ने ओढां पुलिस को साथ लेकर गांव किंगरे में दबिश दी। आरोपी युवक पुलिस के हाथ नहीं लगे। पुलिस काफी देर तक दोनों युवकों के घरों में बारीकी से छानबीन करती रही। मूसेवाला की हत्या के बाद किंगरे निवासी दोनों युवक भूमिगत हैं। बताया जा रहा है कि दोनों युवकों के खिलाफ विभिन्न थानों में कई आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। फिलहाल दोनों युवकों के हाथ लगने के बाद ही सामने आएगा कि उक्त युवकों का इस हत्याकांड में क्या रोल था। ओढां थाना प्रभारी कर्ण सिंह ने बताया कि उन्होंने पंजाब पुलिस का सहयोग किया था। जो भी कार्रवाई थी, वो पंजाब पुलिस की ही थी।  

सिद्धू मूसेवाला के परिवार से मिला जेजेपी नेताओं का प्रतिनिधिमंडल

रविवार को जननायक जनता पार्टी के नेताओं का प्रतिनिधिमंडल मशहूर पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला के परिवार से मिला। जेजेपी के प्रधान महासचिव दिग्विजय चौटाला व अन्य नेताओं ने सिद्धू मूसेवाला के पैतृक गांव मूसा पहुंचकर शोक संतप्त परिजनों को ढांढस बंधाया। जेजेपी नेताओं ने शोकाकुल परिवार के प्रति अपनी शोक संवेदनाएं व्यक्त की और ईश्वर से सिद्धू मूसेवाला की आत्मा को शांति और परिवार को यह क्षति सहने की शक्ति प्रदान करने की कामना की।

संधवां ने सिद्धू परिवार के साथ दुख साझा किया

पंजाब विधानसभा अध्यक्ष कुलतार सिंह संधवां ने प्रसिद्ध पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला के परिवार के साथ दुख साझा किया है। वह रविवार को गांव मूसा पहुंचे, जहां उन्होंने सिद्धू परिवार और दिवंगत गायक के प्रशंसकों के साथ दुख व्यक्त करते हुए कहा कि शुभदीप सिंह सिद्धू ने छोटी उम्र में बड़ा यश अर्जित करके अपने गांव और माता-पिता का नाम देश-दुनिया में फैलाया। 

उन्होंने कहा कि युवा अवस्था में इस तरह चल जाने से देश-दुनिया में बसते सभी पंजाबियों में शोक की लहर है। उन्होंने कहा कि किसी नौजवान की मौत पर मौजूदा समय राजनीतिक रोटियां सेकने का नहीं है, बल्कि एक साथ बैठने और विचार करने का है कि पंजाब की जवानी को सही दिशा की तरफ किस तरह बढ़ाया जाए ताकि भविष्य में इस तरह की दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं से बचाव हो सके।

.


हापुड़ की जांच में: दर्ज की गई संख्या में 13 की हत्या, इन मामलों में दर्ज दर्ज करें

कौशल निगम ने बढ़ाया कर्मचारियों का दर्द, बैंक खाते में एक रुपया डाल भुला विभाग