in

सिद्धू मिसेवाला की हत्या के मामले में मिशन मिशन ने…


सिद्धू मूस वाला हत्याकांड: प्रसिद्ध गीतू मूसेवाला के मरडर के मामले में पंजाब सरकार पर है। पंजाब पुलिस ने जांच की। पंजाब पुलिस ने सिद्धू मूस वाला (सिद्धू मूस वाला) की हत्या की जांच में तेजी के लिए तेज गति से कार्य किया है।

पंजाब पुलिस ने सूचना दी। अतिरिक्त प्रमोद बाण एजी के प्रभाव में हैं। तीनों सदस्य सदस्य सौरमंडल के थे, मनसा पृथ्वी (जांच) धर्मवीर सिंह, बठिंडा, डी बैटरी (जांच) विश्वजीत विश्वजीत के पृथ्वीपाल सिंह सम्मिलित थे।

अब इसमें तीन और सदस्य जोड़े गये हैं, जिनमें नये अध्यक्ष, पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) जसकरण सिंह और दो नए सदस्य- सहायक महानिरीक्षक एजीटीएफ गुरमीत सिंह चौहान और मनसा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) गौरव तोरा शामिल हैं.

घातक घातक

इस कार्य में विशेष रूप से खराब होने की जांच की गई थी।

भविष्य में आगे कहा गया है कि किसी अन्य पुलिस अधिकारी का चयन किया जा सकता है और किसी अधिकारी/अधिकारी की सहायता के लिए आदेश दिया जाना चाहिए।

प्रसिद्ध पंजाबी निष्क्रिय और निष्क्रिय कार्यकर्ता, मुंबई के मनसा में अन्य लोगों ने गोया मारकर हत्या कर दी थी। इस घटना को अंजाम दिया गया था जब बिश्नोई का मामला था। बिश्नोई के सदस्यों की गलती के खाते की देनदारी है।

सिद्धू मूसेवाला समाचार: सिद्धू मुसेवाला माता-पिता ने भविष्य में बदलाव किया है, प्रश्न- अब क्या बदल गया है?

.


‘इंग्लैंड के

जेईई मेन 2022 सत्र 2 आवेदन फॉर्म आउट, 21 जुलाई से 30 जुलाई तक परीक्षा