समालखा: एक सप्ताह पुरानी रंजिश में युवक की गंडासी-चाकू से हमला कर हत्या, दोस्त गंभीर


Youth attacked and killed with knife, friend injured

ख़बर सुनें

समालखा। चुलकाना गांव में दो युवकों पर चाकू, गंडासी और लाठियों से हमला हुआ। इसमें एक युवक की मौत हो गई, जबकि दूसरा गंभीर रूप से घायल हो गया। एक सप्ताह पहले हुई कहासुनी के बाद रविवार रात वारदात को अंजाम दिया गया। रात 11 बजे के आसपास दोनों गुटों में रास्ता देने को लेकर कहासुनी हुई थी। आरोपी वारदात को अंजाम देने के बाद फरार हो गए। मृतक के पिता ने पुलिस कंट्रोल रूम में कॉल कर वारदात की सूचना दी। पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लिया। वहां एक गोली का खोखा भी मिला। अस्पताल में उपचाराधीन युवक का आरोप है कि उस पर गोली भी चलाई गई थी। इस घटना के बाद गांव में माहौल तनावपूर्ण हो गया है। पुलिस ने ग्रामीणों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। मृतक के पिता के बयान पर पुलिस ने आठ नामजद और अन्य आरोपियों पर हत्या का केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है।
चुलकाना निवासी निरंजन ने बताया कि राकेश और बिट्टू उसके बेटे हैं। राकेश (24) किसानी करता था। उसकी एक सप्ताह पहले गांव के ही अंकुश उर्फ बंटी के साथ कहासुनी हो गई थी। रविवार को खाना खाकर गांव के अड्डे की तरफ जा रहा था। उसका बेटा राकेश भी अपने दोस्त आशु के साथ खेत में गया था। दोनों सड़क किनारे खड़े थे। इस वक्त यहां पर अंकुश उर्फ बंटी, उसका भाई अंकित, बिजेंद्र, जयबीर, अनूप, चूहड़ सिंह, बल्ला, नरेश, मास पुत्र रोहताश और अनुज कार में आए। उनके साथ कुछ अन्य युवक पैदल वहां आए थे। ये सभी गंडासी, चाकू और लाठी डंडों से लैस थे। युवकों ने आते ही राकेश और आशु पर हमला कर दिया। दोनों को बुरी तरह पीटा गया। फायर भी किए गए। दोनों को मरा समझकर आरोपी फरार हो गए। वह राकेश और आशु को लेकर सिविल अस्पताल पहुंचे। यहां जांच के बाद डॉक्टरों ने राकेश को मृत घोषित कर दिया। बेटे के दोस्त आशु को डॉक्टरों ने रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया। परिजन उसकी हालत को देखते हुए उसे निजी अस्पताल में ले गए, जहां उसका इलाज चल रहा है।

समालखा। चुलकाना गांव में दो युवकों पर चाकू, गंडासी और लाठियों से हमला हुआ। इसमें एक युवक की मौत हो गई, जबकि दूसरा गंभीर रूप से घायल हो गया। एक सप्ताह पहले हुई कहासुनी के बाद रविवार रात वारदात को अंजाम दिया गया। रात 11 बजे के आसपास दोनों गुटों में रास्ता देने को लेकर कहासुनी हुई थी। आरोपी वारदात को अंजाम देने के बाद फरार हो गए। मृतक के पिता ने पुलिस कंट्रोल रूम में कॉल कर वारदात की सूचना दी। पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लिया। वहां एक गोली का खोखा भी मिला। अस्पताल में उपचाराधीन युवक का आरोप है कि उस पर गोली भी चलाई गई थी। इस घटना के बाद गांव में माहौल तनावपूर्ण हो गया है। पुलिस ने ग्रामीणों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। मृतक के पिता के बयान पर पुलिस ने आठ नामजद और अन्य आरोपियों पर हत्या का केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है।

चुलकाना निवासी निरंजन ने बताया कि राकेश और बिट्टू उसके बेटे हैं। राकेश (24) किसानी करता था। उसकी एक सप्ताह पहले गांव के ही अंकुश उर्फ बंटी के साथ कहासुनी हो गई थी। रविवार को खाना खाकर गांव के अड्डे की तरफ जा रहा था। उसका बेटा राकेश भी अपने दोस्त आशु के साथ खेत में गया था। दोनों सड़क किनारे खड़े थे। इस वक्त यहां पर अंकुश उर्फ बंटी, उसका भाई अंकित, बिजेंद्र, जयबीर, अनूप, चूहड़ सिंह, बल्ला, नरेश, मास पुत्र रोहताश और अनुज कार में आए। उनके साथ कुछ अन्य युवक पैदल वहां आए थे। ये सभी गंडासी, चाकू और लाठी डंडों से लैस थे। युवकों ने आते ही राकेश और आशु पर हमला कर दिया। दोनों को बुरी तरह पीटा गया। फायर भी किए गए। दोनों को मरा समझकर आरोपी फरार हो गए। वह राकेश और आशु को लेकर सिविल अस्पताल पहुंचे। यहां जांच के बाद डॉक्टरों ने राकेश को मृत घोषित कर दिया। बेटे के दोस्त आशु को डॉक्टरों ने रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया। परिजन उसकी हालत को देखते हुए उसे निजी अस्पताल में ले गए, जहां उसका इलाज चल रहा है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

Ambala News: गीता जयंती महोत्सव कुरूक्षेत्र में जाकर स्कूली छात्रों ने ब्रह्म-सरोवर का किया दौरा

Bharat Jodo Yatra: राहुल गांधी के साथ चलने के लिए पास करना होगा फिजिकल टेस्ट, कांग्रेस जयपुर में ले रही इंटरव्यू