सतलोक आश्रम प्रकरण में आरोपी 8 साल बाद काबू


ख़बर सुनें

बरवाला। सतलोक आश्रम प्रकरण में शामिल एक आरोपी को पुलिस ने घटना के 8 साल बाद गिरफ्तार किया है। जिला सोनीपत के गांव खानपुर कलां निवासी संजय फौजी को पुलिस ने वीरवार को अदालत में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस ने आरोपी को रोहतक से काबू किया।
रिमांड के दौरान पुलिस को आरोपी संजय ने बताया कि वह लगातार अपने ठिकाने बदलता रहा। इसके चलते वह पुलिस की पकड़ में नहीं आया। बता दें कि वर्ष 2014 में सतलोक आश्रम संचालक रामपाल की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस ने कार्रवाई की थी। इस दौरान रामपाल समर्थकों व पुलिस के बीच टकराव हुआ था। पुलिस ने इस मामले में दिल्ली की लखपत कॉलोनी निवासी शिवपाल के बयान पर केस दर्ज किया था। आरोप था कि रामपाल के कई समर्थकों ने महिलाओं व बच्चों को ढाल बना लिया था। इस दौरान समर्थकों ने आश्रम में मौजूद लोगों को रोकने की कोशिश की तो तीन महिलाओं की मौत हो गई थी। इसी मामले में संजय फौजी भी आरोपी है। संजय पर मृतकों के परिजनों ने षड्यंत्र में शामिल होने, हत्या करने के केस दर्ज कराए गए थे।

बरवाला। सतलोक आश्रम प्रकरण में शामिल एक आरोपी को पुलिस ने घटना के 8 साल बाद गिरफ्तार किया है। जिला सोनीपत के गांव खानपुर कलां निवासी संजय फौजी को पुलिस ने वीरवार को अदालत में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस ने आरोपी को रोहतक से काबू किया।

रिमांड के दौरान पुलिस को आरोपी संजय ने बताया कि वह लगातार अपने ठिकाने बदलता रहा। इसके चलते वह पुलिस की पकड़ में नहीं आया। बता दें कि वर्ष 2014 में सतलोक आश्रम संचालक रामपाल की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस ने कार्रवाई की थी। इस दौरान रामपाल समर्थकों व पुलिस के बीच टकराव हुआ था। पुलिस ने इस मामले में दिल्ली की लखपत कॉलोनी निवासी शिवपाल के बयान पर केस दर्ज किया था। आरोप था कि रामपाल के कई समर्थकों ने महिलाओं व बच्चों को ढाल बना लिया था। इस दौरान समर्थकों ने आश्रम में मौजूद लोगों को रोकने की कोशिश की तो तीन महिलाओं की मौत हो गई थी। इसी मामले में संजय फौजी भी आरोपी है। संजय पर मृतकों के परिजनों ने षड्यंत्र में शामिल होने, हत्या करने के केस दर्ज कराए गए थे।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

जेल जाने के डर से दीवार फांद भागा चोरी का आरोपी, डेढ़ घंटे बाद किया काबू

स्वास्थ्य सुधारने के बजाय कहीं सेहत न बिगाड़ दे दवा