सचिन पायलट का शेखावत पर पलटवार, कहा- जनता आपको चुनने में चूक नहीं करेगी; जानें मामला


राजस्थान में सियासी पारा गरमाया हुआ है। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह के बयान के बाद सचिन पायलट ने पटलवार किया है। पायलट ने कहा कि जनता सब समझ चुकी है। अब आपको चुनने में चूक नहीं करेगी। जनता आपके झूंठे वादे में नहीं फंसेगी। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावल ने कहा था कि राजस्थान में पायलट में कुछ खामी थी। इसलिए मध्यप्रदेश जैसा नहीं हुआ। शेखावत के बयान के बाद पायलट ने जमकर निशाना साधा है। शेखावत ने कहा कि राजस्थान में सचिन पायलट से थोड़ी चूक हो गई। पायलट जी में थोड़ी खामी रह गई। अगर मध्य प्रदेश की तरह राजस्थान में सबकुछ ठीक-ठाक हो जाता तो अब तक ईस्टर्न राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट पर काम चालू हो जाता। मैं आज जिम्मेदारी से कहता हूं। जिस तरह 2018 के बाद 2020 में मध्य प्रदेश के विधायकों ने फैसला किया। उसी तरह राजस्थान में हो गया होता तो 13 जिले अब तक प्यासे नहीं रहे होते।

2020 पायलट ने की थी बगावत 

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2018 में पायलट गुट ने गहलोत के खिलाफ बगावत कर दी थी। सीएम गहलोत ने केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर उनकी सरकार गिराने का आरोप लगाया था। केंद्रीय मंत्री का नाम फोन टैपिंग मामले में भी उछला था। हालांकि, बाद में शेखावत ने सरकार गिराने में उनकी भूमिका से इंकार किया था। लेकिन वाॅयस सैंपल देने से इंकार कर दिया। 

ERCP पर गहलोत पर साधा था निशाना 

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने जयपुर जिले के चौमू में आयोजित भाजपा की जनाक्रोश रैली को संबोधित करते हुए सीएम गहलोत को निशाने पर लिया। शेखावत ने कहा कि  ERCP को लेकर गहलोत सरकार गंभीर नहीं है। गहलोत सरकार के मंत्रियों को शायद मेरे ऑफिस में आने में डर लगता है। कोई मंत्री बात करने के लिए नहीं आया। मध्यप्रदेश की तरह राजस्थान में भाजपा की सरकार होती तो प्रोजेक्ट में मंजूरी मिल जाती। लेकिन सीएम गहलोत प्रोजेक्ट को अटकाना चाहते हैं। शेखालत ने कहा कि राजस्थान में मध्यप्रदेश जैसे हालात हो जाते तो अब तक ईआरसीपी प्रोजेक्ट को मंजूरी मिल जाती। मैं इसे तुरंत स्वीकृत करवा देता। शेखावत ने सीएम गहलोत पर ईआरसीपी प्रोजेक्ट के प्रति गंभीर नहीं होने का आरोप लगाया। 

पायलट के बयान के सियासी मायने

राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम ने जिस तरह से केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के बयान दिया है। जानकार उसके तरह-तरह के मायने निकाल रहे हैं। राहुल गांधी को ईडी के समन के विरोध में सीएम गहलोत के बाद सचिन पायलट सबसे ज्यादा मुखर हो रहे हैं। मतलब साफ है राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 में सचिन पायलट को बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। पालयट ने बेहद आक्रामक तरीसे से केंद्रीय मंत्री शेखावत को जवाब देकर अपने इरादे साफ जाहिर क दिए है कि वह गांधी परिवार के प्रति वफादार है। कांग्रेस छोड़कर कही नहीं जाएंगे। 

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

महाराष्ट्र में सियासी संकट पर बोले गहलोत- मोदी है तो सब मुमकिन है

ICC Women’s ODI Rankings: स्मृति मंधाना आठवें स्थान पर बरकरार, झूलन गोस्वामी को हुआ नुकसान