संदिग्ध हालत में जहरीला पदार्थ निगलने से आपरेटर की मौत


ख़बर सुनें

शहर की निजी कंपनी में नौकरी से निकाले कर्मचारी आजाद नगर निवासी रामकुमार (56) ने वीरवार देर रात जहरीला पदार्थ निगल लिया इससे उसकी मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने कंपनी के अधिकारियों पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए रोष जताया। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को समझाया लेकिन वे कंपनी के अधिकारियों पर केस दर्ज करने की मांग पर अड़े रहे। बाद में कंपनी के अधिकारी मौके पर पहुंचे और परिवार की हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया। इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों के हवाले कर दिया।
आजाद नगर निवासी मृतक की पत्नी श्यामली पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसके पति शहर की निजी कंपनी में 32 वर्ष से ऑपरेटर थे। उन्होंने वीरवार देर रात संदिग्ध हालात में जहरीला पदार्थ खा लिया। जिससे उसकी तबीयत बिगड़ गई। परिजनों ने उसे अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां उसकी मौत हो गई। परिजनों ने आरोप लगाया कि कंपनी के कुछ लोगों की प्रताड़ना से परेशान होकर उसके पति ने जहरीला पदार्थ निगला है। इस दौरान कंपनी कर्मचारी यूनियन प्रधान धर्मपाल समेत अन्य पदाधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने भी कहा कि रामकुमार को परेशान किया गया। परिवार ने पुलिस को इस मामले में केस दर्ज करने की मांग की। बाद में कंपनी के पदाधिकारी सिविल अस्पताल पहुंचे। उन्होंने आश्वासन दिया कि परिवार की पूरी सहायता की जाएगी। तब परिवार के लोग शांत हुए। शहर थाना प्रभारी कमलजीत का कहना है कि शव का पोस्टमार्टम करा दिया है। मामले की जांच की जा रही है।

शहर की निजी कंपनी में नौकरी से निकाले कर्मचारी आजाद नगर निवासी रामकुमार (56) ने वीरवार देर रात जहरीला पदार्थ निगल लिया इससे उसकी मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने कंपनी के अधिकारियों पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए रोष जताया। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को समझाया लेकिन वे कंपनी के अधिकारियों पर केस दर्ज करने की मांग पर अड़े रहे। बाद में कंपनी के अधिकारी मौके पर पहुंचे और परिवार की हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया। इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों के हवाले कर दिया।

आजाद नगर निवासी मृतक की पत्नी श्यामली पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसके पति शहर की निजी कंपनी में 32 वर्ष से ऑपरेटर थे। उन्होंने वीरवार देर रात संदिग्ध हालात में जहरीला पदार्थ खा लिया। जिससे उसकी तबीयत बिगड़ गई। परिजनों ने उसे अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां उसकी मौत हो गई। परिजनों ने आरोप लगाया कि कंपनी के कुछ लोगों की प्रताड़ना से परेशान होकर उसके पति ने जहरीला पदार्थ निगला है। इस दौरान कंपनी कर्मचारी यूनियन प्रधान धर्मपाल समेत अन्य पदाधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने भी कहा कि रामकुमार को परेशान किया गया। परिवार ने पुलिस को इस मामले में केस दर्ज करने की मांग की। बाद में कंपनी के पदाधिकारी सिविल अस्पताल पहुंचे। उन्होंने आश्वासन दिया कि परिवार की पूरी सहायता की जाएगी। तब परिवार के लोग शांत हुए। शहर थाना प्रभारी कमलजीत का कहना है कि शव का पोस्टमार्टम करा दिया है। मामले की जांच की जा रही है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

पेड़ काटने का आरोप, नौ लोगों पर केस दर्ज

लाखों रुपये का राशन गबन करने के आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर