संगरूर लोकसभा उपचुनाव : दोपहर तीन बजे तक करीब 30 फीसदी मतदान


चंडीगढ़, 23 जून (भाषा) पंजाब की संगरूर लोकसभा सीट के लिए बृहस्पतिवार को हो रहे उपचुनाव में दोपहर तीन बजे तक महज 30 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने दोपहर में ट्वीट कर निर्वाचन आयोग से मांग की कि धान की बुवाई का मौसम चलने के मद्देनजर मतदान का समय शाम सात बजे तक बढ़ाया जाए।

निर्वाचन आयोग द्वारा उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, दोपहर तीन बजे तक संगरूर लोकसभा सीट पर मतदान प्रतिशत 29.07 प्रतिशत दर्ज किया गया।

विधानसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन के बाद इसे सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) की पहली परीक्षा के तौर पर देखा जा रहा है।

अधिकारियों ने बताया कि कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह आठ बजे मतदान शुरू हुआ, जो शाम छह बजे तक चलेगा। मतगणना 26 जून को होगी।

निर्वाचन आयोग की ओर से उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के मुताबिक मतदान के शुरुआती एक घंटे में चार प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ जबकि पूर्वाह्न 11 बजे तक 12.75 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

निर्वाचन आयोग के मुताबिक दोपहर एक बजे तक 22.21 प्रतिशत मतदान हुआ है।

संसदीय सीट में नौ विधानसभा सीटों में से ज्यादातर में दोपहर तक मतदान सुस्त रहा।

संगरूर लोकसभा क्षेत्र में 15,69,240 मतदाता हैं, जिनमें 8,30,056 पुरुष, 7,39,140 महिलाएं और 44 ट्रांसजेंडर हैं। कुल 16 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं जिनमें तीन महिलाएं भी हैं। मतदान के लिए कुल 1,766 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

मतदान करने वालों में पंजाब के वित्त मंत्री हरपाल चीमा और आप उम्मीदवार गुरमेल सिंह, कांग्रेस प्रत्याशी दलवीर सिंह गोल्डी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रत्याशी केवल सिंह ढिल्लों शामिल हैं।

पंजाब में यह उपचुनाव ऐसे समय हो रहा है जब आप सरकार राज्य में कानून-व्यवस्था के मुद्दे और पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या को लेकर विपक्षी दलों की तीखी आलोचना का सामना कर रही है।

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने विश्वास जताया, ‘‘संगरूर के क्रांतिकारी लोग एक बार फिर आम आदमी पार्टी को वोट देंगे और आप के गुरमेल सिंह प्रचंड बहुमत से उपचुनाव जीतेंगे।’’

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भगवंत मान ने 2014 और 2019 में संगरूर लोकसभा सीट से चुनाव जीता था। हाल में धूरी सीट से विधानसभा चुनाव जीतने के बाद उन्होंने लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था।

आप ने पार्टी के संगरूर जिला प्रभारी गुरमेल सिंह, मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने धूरी के पूर्व विधायक दलवीर सिंह गोल्डी व भाजपा ने बरनाला के पूर्व विधायक केवल ढिल्लों को अपना उम्मीदवार बनाया है।

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह हत्याकांड के दोषी बलवंत सिंह राजोआना की बहन कमलदीप कौर को मैदान में उतारा है।

शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के प्रमुख सिमरनजीत सिंह मान भी चुनावी मैदान में हैं।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

कॉमनवेल्थ गेम्स से हटे पूर्व ऑल इंग्लैंड चैंपियन शटलर ली जी जिया, जानिए – वजह

लॉरेंस बिश्नोई ने मूसेवाला हत्याकांड में मास्टरमाइंड होना स्वीकार किया: पंजाब पुलिस