वन विभाग के मजदूरों का मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना जारी


वन विभाग के कार्यालय के बाहर मांगों को लेकर धरने पर बैठे मजदूर।

वन विभाग के कार्यालय के बाहर मांगों को लेकर धरने पर बैठे मजदूर।
– फोटो : Jind

ख़बर सुनें

जींद। वन विभाग के मजदूरों का मांगों को लेकर वीरवार को 16वें दिन भी अनिश्चितकालीन धरना विभाग के कार्यालय के बाहर उपप्रधान तारो देवी की अध्यक्षता में जारी रहा।
धरने पर उपप्रधान तारो देवी ने कहा कि प्रदेश सरकार आए दिन वन मजदूरों से पर्यावरण संरक्षण के लिए काम करवा रही है, लेकिन वेतन देने के नाम पर गुमराह कर रही है। पिछले चार महीनों से कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला। जिसके कारण उनके परिवार को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा उन्होंने मांग की है कि सभी विभागों के कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाए, विभागों के निजीकरण पर रोक लगाई जाए। सभी वन मजदूरों के हाजिरी कार्ड व पहचान पत्र जारी किए जाए, वरिष्ठता सूची बनाकर कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाए, 2018 से लेकर अब तक सभी मजदूरों का एरियर दिया जाए, हटाए गए सभी मजदूरों को काम पर लगाया जाए, कार्य कुशलता के आधार पर कैटेगरी का लाभ दिया जाए, दुर्घटना बीमा जारी किया जाए, सभी मजदूरों को वर्दी भत्ता व औजार दिए जाए।

जींद। वन विभाग के मजदूरों का मांगों को लेकर वीरवार को 16वें दिन भी अनिश्चितकालीन धरना विभाग के कार्यालय के बाहर उपप्रधान तारो देवी की अध्यक्षता में जारी रहा।

धरने पर उपप्रधान तारो देवी ने कहा कि प्रदेश सरकार आए दिन वन मजदूरों से पर्यावरण संरक्षण के लिए काम करवा रही है, लेकिन वेतन देने के नाम पर गुमराह कर रही है। पिछले चार महीनों से कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला। जिसके कारण उनके परिवार को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा उन्होंने मांग की है कि सभी विभागों के कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाए, विभागों के निजीकरण पर रोक लगाई जाए। सभी वन मजदूरों के हाजिरी कार्ड व पहचान पत्र जारी किए जाए, वरिष्ठता सूची बनाकर कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाए, 2018 से लेकर अब तक सभी मजदूरों का एरियर दिया जाए, हटाए गए सभी मजदूरों को काम पर लगाया जाए, कार्य कुशलता के आधार पर कैटेगरी का लाभ दिया जाए, दुर्घटना बीमा जारी किया जाए, सभी मजदूरों को वर्दी भत्ता व औजार दिए जाए।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

मां को चोरी में फंसने की बात कहकर मासूम से की ठगी

अग्निपथ विरोध: सबका सैनिक समिति बोली- मंत्री-अधिकारियों के बच्चों को सेना में भर्ती करें, शहीद हुए तो देंगे एक करोड़