लगातार बढ़ते जा रहे कोरोना संक्रमण के मामले, पांच नए मामले आए सामने


ख़बर सुनें

जींद। जिले में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग को मिली 338 सैंपल रिपोर्ट में पांच नए कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। हालांकि चार लोग कोरोना को मात देकर ठीक भी हुए। जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 18 हो गई है।
स्वास्थ्य विभाग को अबतक 24,398 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसमें से 23,829 लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिले में अबतक चार लाख 82,716 सैंपल लिए जा चुके हैं। इसमें से 458 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। लगातार केस मिलने के बाद अब
कोरोना के नमूने लेने में भी रफ्तार आने की संभावना है, क्योंकि स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना काल में 42 कर्मचारियों को आउटसोर्स पर लिया था। इनमें से अधिकतर कर्मी सैंपलिंग का कार्य करते थे। कोरोना समाप्त हुआ तो इन कर्मियों को हटा दिया गया। इसके चलते लगातार कोरोना की सैंपलिंग भी कम हो रही थी। ज्वाइनिंग की मांग को लेकर यह कर्मी लगातार आंदोलनरत थे जबकि विभाग द्वारा कोरोना काल में लगे कर्मचारियों के लिए बजट नहीं होने की बात कही जा रही थी। अब जब कोरोना संक्रमण के मामले बढने लगे हैं तो विभाग ने बजट का प्रावधान किया है। सोमवार को नागरिक अस्पताल में एनएचएम कार्यालय में हटाए गए कर्मचारियों के दोबारा से कागजात लिए गए।
वर्जन
हटाए गए कर्मियों के कागजातों की जांच की जा रही है। जल्द ही इन्हें काम पर रख लिया जाएगा। डॉ. रघुवीर पूनिया, एनएचएम नोडल अधिकारी

जींद। जिले में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग को मिली 338 सैंपल रिपोर्ट में पांच नए कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। हालांकि चार लोग कोरोना को मात देकर ठीक भी हुए। जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 18 हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग को अबतक 24,398 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसमें से 23,829 लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिले में अबतक चार लाख 82,716 सैंपल लिए जा चुके हैं। इसमें से 458 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। लगातार केस मिलने के बाद अब

कोरोना के नमूने लेने में भी रफ्तार आने की संभावना है, क्योंकि स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना काल में 42 कर्मचारियों को आउटसोर्स पर लिया था। इनमें से अधिकतर कर्मी सैंपलिंग का कार्य करते थे। कोरोना समाप्त हुआ तो इन कर्मियों को हटा दिया गया। इसके चलते लगातार कोरोना की सैंपलिंग भी कम हो रही थी। ज्वाइनिंग की मांग को लेकर यह कर्मी लगातार आंदोलनरत थे जबकि विभाग द्वारा कोरोना काल में लगे कर्मचारियों के लिए बजट नहीं होने की बात कही जा रही थी। अब जब कोरोना संक्रमण के मामले बढने लगे हैं तो विभाग ने बजट का प्रावधान किया है। सोमवार को नागरिक अस्पताल में एनएचएम कार्यालय में हटाए गए कर्मचारियों के दोबारा से कागजात लिए गए।

वर्जन

हटाए गए कर्मियों के कागजातों की जांच की जा रही है। जल्द ही इन्हें काम पर रख लिया जाएगा। डॉ. रघुवीर पूनिया, एनएचएम नोडल अधिकारी

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

दिल्ली की सभी ट्रेन रद्द होने के बाद परेशान हुए यात्री

शहर में जल निकासी प्रबंधों की व्यवस्था सुनिश्चित हो : डीसी