in

रेवाड़ी: पावर प्लांट हादसे में पांचवें उपचाराधीन घायल की भी मौत, ग्रामीणों में रोष


ख़बर सुनें

चालू वर्ष फरवरी में हरियाणा के रेवाड़ी जिले के कोसली क्षेत्र के गांव खुर्शीदनगर में पराली से बिजली पैदा करने वाला ग्रीन एनर्जी पावर प्लांट बीते शुक्रवार को बॉयलर से निकली लपट की वजह से वहां काम कर रहे पांच लोगों की जिंदगी खा गया। इस हादसे में गंभीर रूप से घायल पांचों लोग को बेहतर इलाज के लिए दिल्ली और गुरुग्राम भिजवाया गया था मगर इनमें से शनिवार को 3, सोमवार को 1 जबकि बुधवार को फिर 1 घायल की मौत हो गई। यह दुखद सूचना मिलते ही प्लांट मालिक के विरुद्घ गांव भडंगी में कोहरड़, बिसोवा, मुमताजपुर, लुखी के ग्रामीणों ने एकत्रित होकर रोष जताया। 

मौके पर पहुंचे नाहड़ चौकी प्रभारी जगदीश चंद ने ग्रामीणों को समझा बुझाकर उनकी मांग को पूरा कराने तथा 48 घंटे में प्लांट मालिक की गिरफ्तारी किए जाने का आश्वासन दिया। करीब डेढ़ घटे तक चले इस प्रकरण के बाद ग्रामीण मृतक संजय निवासी भड़ंगी का अंतिम संस्कार करने के लिए सहमत हो गए। 

सोमवार को ग्रामीणों ने दिया था धरना 
सोमवार को इस चौथे घायल गांव मुमताजपुर के नरेंद्र की मौत से गुस्साए सैकड़ों ग्रामीण इस पावर प्लांट के बाहर धरने पर बैठ गए थे। इनको समझाने में नाहड़ पुलिस चौकी प्रभारी जगदीशचंद, कोसली थाना प्रभारी सुमेर सिंह को जब कामयाबी नहीं तब आखिरकार एसडीएम कोसली होशियार सिंह को धरना स्थल पर आकर ग्रामीणों की बात सुननी पड़ी। ग्रामीण संबंधित प्लांट मालिक के विरुद्घ एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी मांग रहे थे। इनकी मांग थी कि पुलिस और प्रशासन इस प्लांट को सील करें। इस मामले में प्रशासन ने प्लांट मालिक पर एफआईआर दर्ज कर दी है और प्लांट सील करने की कार्रवाई के लिए श्रम एवं उद्योग विभाग की टीमें मौका मुआयना कर चुकी हैं। 

यह था मामला
शुक्रवार इस पावर प्लांट की गैस पाइप लाइन में अचानक अधिक दबाव बना और बॉयलर के बैक मारने से निकली लपट में वहां काम कर रहे पांच लोग बुरी तरह झुलस गए। इनमें प्रदेश के जिला रेवाड़ी के कोसली क्षेत्र के गांव भड़ंगी का संजय, मुमताजपुर का नरेंद्र जबकि गुजरात के निवासी तीन इंजीनियर छोटेलाल, केशव व योगेंद्र शामिल हैं।

इनमें से कुछ को गुरुग्राम, तो कुछ को बेहतर इलाज के लिए दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया। हादसे की सूचना मिलते ही नाहड़ पुलिस चौकी प्रभारी जगदीशचंद मौके पर पहुंचे तब वहां ग्रामीण जमा थे। उन्होंने स्थिति संभालते हुए विभागीय उच्चाधिकारियों को हादसे की जानकारी दी।

इसके बाद एसएचओ कोसली सुमेर सिंह मौके पर पहुंचे। सभी घायलों को इलाज के लिए भिजवाने के बाद मामला कुछ ठंडा पड़ा मगर शनिवार को गुजरात निवासी तीन घायलों की मौत हो गई। इनके शवों को पंचनामा कार्यवाही के बाद परिजनों को सौंप दिया गया और वे शव लेकर गुजरात चले गए। 

प्लांट में पाई अनेक खामियां
मंगलवार की देर शाम प्लांट की कमियों का जायजा लेने के लिए श्रम विभाग और उद्योग विभाग की टीम मौके पर आई। उनके माध्यम से प्लांट के पास वैध अनुमति नहीं होने के अलावा कई तरह की अन्य अनियमितताएं पाई गईं। इस मामले में इन विभागों की ओर से जरूरी कार्रवाई जारी है।

उधर बुधवार को इस हादसे के पांचवें घायल संजय भडंगी की मौत की सूचना पांच गांवों के ग्रामीण गांव भड़ंगी में जुटना शुरू हो गए। ग्रामीण इस मामले में प्लांट मालिक की जल्द गिरफ्तारी, मृतकों के एक-एक परिजन को सरकारी नौकरी और समुचित मुआवजा दिए जाने की मांग कर रहे हैं। 
 

विस्तार

चालू वर्ष फरवरी में हरियाणा के रेवाड़ी जिले के कोसली क्षेत्र के गांव खुर्शीदनगर में पराली से बिजली पैदा करने वाला ग्रीन एनर्जी पावर प्लांट बीते शुक्रवार को बॉयलर से निकली लपट की वजह से वहां काम कर रहे पांच लोगों की जिंदगी खा गया। इस हादसे में गंभीर रूप से घायल पांचों लोग को बेहतर इलाज के लिए दिल्ली और गुरुग्राम भिजवाया गया था मगर इनमें से शनिवार को 3, सोमवार को 1 जबकि बुधवार को फिर 1 घायल की मौत हो गई। यह दुखद सूचना मिलते ही प्लांट मालिक के विरुद्घ गांव भडंगी में कोहरड़, बिसोवा, मुमताजपुर, लुखी के ग्रामीणों ने एकत्रित होकर रोष जताया। 

मौके पर पहुंचे नाहड़ चौकी प्रभारी जगदीश चंद ने ग्रामीणों को समझा बुझाकर उनकी मांग को पूरा कराने तथा 48 घंटे में प्लांट मालिक की गिरफ्तारी किए जाने का आश्वासन दिया। करीब डेढ़ घटे तक चले इस प्रकरण के बाद ग्रामीण मृतक संजय निवासी भड़ंगी का अंतिम संस्कार करने के लिए सहमत हो गए। 

सोमवार को ग्रामीणों ने दिया था धरना 

सोमवार को इस चौथे घायल गांव मुमताजपुर के नरेंद्र की मौत से गुस्साए सैकड़ों ग्रामीण इस पावर प्लांट के बाहर धरने पर बैठ गए थे। इनको समझाने में नाहड़ पुलिस चौकी प्रभारी जगदीशचंद, कोसली थाना प्रभारी सुमेर सिंह को जब कामयाबी नहीं तब आखिरकार एसडीएम कोसली होशियार सिंह को धरना स्थल पर आकर ग्रामीणों की बात सुननी पड़ी। ग्रामीण संबंधित प्लांट मालिक के विरुद्घ एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी मांग रहे थे। इनकी मांग थी कि पुलिस और प्रशासन इस प्लांट को सील करें। इस मामले में प्रशासन ने प्लांट मालिक पर एफआईआर दर्ज कर दी है और प्लांट सील करने की कार्रवाई के लिए श्रम एवं उद्योग विभाग की टीमें मौका मुआयना कर चुकी हैं। 

यह था मामला

शुक्रवार इस पावर प्लांट की गैस पाइप लाइन में अचानक अधिक दबाव बना और बॉयलर के बैक मारने से निकली लपट में वहां काम कर रहे पांच लोग बुरी तरह झुलस गए। इनमें प्रदेश के जिला रेवाड़ी के कोसली क्षेत्र के गांव भड़ंगी का संजय, मुमताजपुर का नरेंद्र जबकि गुजरात के निवासी तीन इंजीनियर छोटेलाल, केशव व योगेंद्र शामिल हैं।

इनमें से कुछ को गुरुग्राम, तो कुछ को बेहतर इलाज के लिए दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया। हादसे की सूचना मिलते ही नाहड़ पुलिस चौकी प्रभारी जगदीशचंद मौके पर पहुंचे तब वहां ग्रामीण जमा थे। उन्होंने स्थिति संभालते हुए विभागीय उच्चाधिकारियों को हादसे की जानकारी दी।

इसके बाद एसएचओ कोसली सुमेर सिंह मौके पर पहुंचे। सभी घायलों को इलाज के लिए भिजवाने के बाद मामला कुछ ठंडा पड़ा मगर शनिवार को गुजरात निवासी तीन घायलों की मौत हो गई। इनके शवों को पंचनामा कार्यवाही के बाद परिजनों को सौंप दिया गया और वे शव लेकर गुजरात चले गए। 

प्लांट में पाई अनेक खामियां

मंगलवार की देर शाम प्लांट की कमियों का जायजा लेने के लिए श्रम विभाग और उद्योग विभाग की टीम मौके पर आई। उनके माध्यम से प्लांट के पास वैध अनुमति नहीं होने के अलावा कई तरह की अन्य अनियमितताएं पाई गईं। इस मामले में इन विभागों की ओर से जरूरी कार्रवाई जारी है।

उधर बुधवार को इस हादसे के पांचवें घायल संजय भडंगी की मौत की सूचना पांच गांवों के ग्रामीण गांव भड़ंगी में जुटना शुरू हो गए। ग्रामीण इस मामले में प्लांट मालिक की जल्द गिरफ्तारी, मृतकों के एक-एक परिजन को सरकारी नौकरी और समुचित मुआवजा दिए जाने की मांग कर रहे हैं। 

 

यह दुखदायी हादसा है। मैं पीड़ित परिवारों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। पुलिस इस मामले में प्लांट मालिक की गिरफ्तारी के लिए प्रयास कर रही है। सरकार की तरफ से जो मदद होगी, वह पीड़ित परिवारों को उपलब्ध कराई जाएगी। – होशियार सिंह, एसडीएम, कोसली। 

.


बिजली के झटकों से त्रस्त सीएचडी सिटी के बाशिंदे

कॉलेज में पढ़ रही छात्रा ने युवक पर परेशान करने का लगाया आरोप, केस दर्ज