रात में हुई बारिश से गिरा तापमान


ख़बर सुनें

कैथल। बृहस्पतिवार देर रात को मौसम ने करवट ली और बारिश होने से तापमान गिर गया। इससे लोगों को गर्मी से राहत मिली। अधिकतम व न्यूनतम तापमान में करीब तीन डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई। बारिश होने से किसानों के चेहरों पर भी खुशी छाई।
गौरतलब है कि बारिश होने के बाद धान की रोपाई के कार्य में तेजी आएगी। पिछले 15 दिनों से गर्मी लोगों को परेशान कर रही थी। शुक्रवार को अधिकतम तापमान 37.5 डिग्री सेल्सियस और 26.3 डिग्री रहा। जिले में कुल 56 एमएम बारिश दर्ज की गई। सबसे अधिक पूंडरी क्षेत्र में 30 एमएम बारिश हुई। जिले में औसतन सात एमएम बारिश दर्ज की।
मौसम में हुए बदलाव के बाद बारिश होने पर सुबह के समय तो उमस रही। जबकि दोपहर बाद ठंडी हवाएं चली। हालांकि सुबह के समय हुई उमस ने लोगों को अधिक परेशान किया। उधर, चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय के अधीनस्थ कृषि विज्ञान केंद्र के मुख्य समन्वयक डा. रमेश चंद्र वर्मा ने बताया कि मौसम विभाग के पूर्वानुमान के तहत अभी शनिवार को भी बरसात होने की संभावना बनी रहेगी।
जिले में खंड अनुसार हुई इतनी बरसात
कैथल सात एमएम
कलायत नहीं हुई
सीवन नहीं हुई
गुहला-चीका 12 एमएम
राजौंद दो एमएम
ढांड पांच एमएम
पूंडरी 30 एमएम
कुल 56 एमएम
बारिश से किसानों के चेहरे खिले
पूंडरी। पिछले कई दिनों से पड़ रही भीषण गर्मी व लू के थपेड़ों से आमजन व किसानों के चेहरे मुरझाए हुए थे। वीरवार देर रात हुई बारिश ने किसानों के चेहरों पर मुस्कान ला दी। बारिश ने उमस भरी गर्मी को भी धो डाला। किसानों का कहना है कि बारिश धान लगाने में काफी सहायक सिद्ध होगी। 15 जून से पहले धान लगाने की सरकार की मनाही भी है। ऐसे में 17 जून को बारिश का आना सोने पर सुहागा साबित होगा। पूंडरी में बाजारों में दोपहर के दो बजे भी रौनक देखी गई।

कैथल। बृहस्पतिवार देर रात को मौसम ने करवट ली और बारिश होने से तापमान गिर गया। इससे लोगों को गर्मी से राहत मिली। अधिकतम व न्यूनतम तापमान में करीब तीन डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई। बारिश होने से किसानों के चेहरों पर भी खुशी छाई।

गौरतलब है कि बारिश होने के बाद धान की रोपाई के कार्य में तेजी आएगी। पिछले 15 दिनों से गर्मी लोगों को परेशान कर रही थी। शुक्रवार को अधिकतम तापमान 37.5 डिग्री सेल्सियस और 26.3 डिग्री रहा। जिले में कुल 56 एमएम बारिश दर्ज की गई। सबसे अधिक पूंडरी क्षेत्र में 30 एमएम बारिश हुई। जिले में औसतन सात एमएम बारिश दर्ज की।

मौसम में हुए बदलाव के बाद बारिश होने पर सुबह के समय तो उमस रही। जबकि दोपहर बाद ठंडी हवाएं चली। हालांकि सुबह के समय हुई उमस ने लोगों को अधिक परेशान किया। उधर, चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय के अधीनस्थ कृषि विज्ञान केंद्र के मुख्य समन्वयक डा. रमेश चंद्र वर्मा ने बताया कि मौसम विभाग के पूर्वानुमान के तहत अभी शनिवार को भी बरसात होने की संभावना बनी रहेगी।

जिले में खंड अनुसार हुई इतनी बरसात

कैथल सात एमएम

कलायत नहीं हुई

सीवन नहीं हुई

गुहला-चीका 12 एमएम

राजौंद दो एमएम

ढांड पांच एमएम

पूंडरी 30 एमएम

कुल 56 एमएम

बारिश से किसानों के चेहरे खिले

पूंडरी। पिछले कई दिनों से पड़ रही भीषण गर्मी व लू के थपेड़ों से आमजन व किसानों के चेहरे मुरझाए हुए थे। वीरवार देर रात हुई बारिश ने किसानों के चेहरों पर मुस्कान ला दी। बारिश ने उमस भरी गर्मी को भी धो डाला। किसानों का कहना है कि बारिश धान लगाने में काफी सहायक सिद्ध होगी। 15 जून से पहले धान लगाने की सरकार की मनाही भी है। ऐसे में 17 जून को बारिश का आना सोने पर सुहागा साबित होगा। पूंडरी में बाजारों में दोपहर के दो बजे भी रौनक देखी गई।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

ग्रामीण क्षेत्र की 4 छात्राओं ने किया जिले में टॉप, सोशल मीडिया से दूर रहकर पाया मुकाम

प्रशासन ने 21 जून तक दावा या आपत्तियां मांगी