राज्यसभा चुनाव: बीटीपी के दोनों विधायकों ने कांग्रेस को समर्थन देने का फैसला किया


जयपुर, सात जून (भाषा) भारतीय ट्राईबल पार्टी (बीटीपी) के दोनों विधायक 10 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव में राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस को समर्थन देंगे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ओएसडी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि बीटीपी के दोनों विधायकों रामप्रसाद डिंडोर और राजकुमार रोत ने पार्टी के प्रतिनिधिमंडल के साथ उदयपुर के एक होटल में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की है और अपनी बात रखी।

बयान के मुताबिक, मुलाकात के बाद बीटीपी ने राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस को समर्थन देने का फैसला किया, लेकिन बीटीपी विधायकों ने होटल में नहीं ठहर कर सर्किट हाउस या अन्य जगह रुकने की बात कही।

उल्लेखनीय है कि राजस्थान में 10 जून को राज्यसभा की चार सीट के लिये होने वाले चुनाव से पहले कांग्रेस ने पार्टी और समर्थक विधायकों को खरीद फरोख्त के डर से दो जून से उदयपुर के एक होटल में ठहरा रखा है ।

वहीं, भाजपा के विधायक जयपुर के बाहरी क्षेत्र में जामडोली के एक होटल में पार्टी के प्रशिक्षण शिविर में भाग ले रहे है।

कांग्रेस ने तीन और भाजपा ने एक प्रत्याशी को मैदान में उतारा है। मगर भाजपा ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन दाखिल करने वाले मीडिया कारोबारी सुभाष चंद्रा का समर्थन किया है।

राजस्थान की 200 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस अपने 108 विधायकों के दम पर उच्च सदन की दो सीट व भाजपा 71 विधायकों के बल पर राज्यसभा की एक सीट आराम से जीत सकती है।

इसके बाद चौथी सीट के लिए कांग्रेस के पास 26 अधिशेष व भाजपा के पास 30 अधिशेष वोट होंगे और जीत के लिए 41 विधायकों के समर्थन की जरूरत है।

कांग्रेस नेताओं का दावा है कि उनके पास कुल मिलाकर 126 विधायकों का समर्थन है। वहीं, भाजपा के 30 अधिशेष व आरएलपी के तीन (कुल 33) विधायकों का समर्थन निर्दलीय सुभाष चंद्रा को मिल सकता है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

मर्सिडीज-बेंज संभावित ब्रेक विफलता के मुद्दे पर लगभग 1 मिलियन कारों को वापस बुलाती है

राजस्थान राज्यसभा चुनाव: सुभाष चंद्रा बोले- कांग्रेस के 8 विधायक करेंगे क्राॅस वोटिंग, सचिन पायलट को लेकर कही ये बड़ी बात