in

रजत जीतने वाले आर्यन का जोरदार स्वागत


ख़बर सुनें

कैथल। खेलो इंडिया की तांग था प्रतियोगिता में रजत पदक जीतने वाले खिलाड़ी आर्यन को कैथल व गांव में पहुंचने पर मंगलवार को सम्मानित किया गया। शहर के बस अड्डा से गांव धुंध रेहड़ी तक रोड शो निकाला गया। इसमें भारी संख्या में खिलाड़ी शामिल हुए।
खेलो इंडिया के पहले दिन ही धुंधरेहड़ी के आर्यन ने तांग था प्रतियोगिता में रजत पदक अपने नाम किया था। वर्ष 2021 में भी उसने राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में रजत पदक अपने नाम किया था। आर्यन का पहला मुकाबला छत्तीसगढ़, दूसरा असम के साथ, तीसरा मुकाबला दिल्ली के साथ व चौथा फाइनल मुकाबला मणिपुर के खिलाड़ी साथ हुआ था। मणिपुर के खिलाड़ी से महज तीन प्वाइंट से आर्यन पीछे रह गए।
कोच विक्रम कादियान ने बताया कि खेलो इंडिया में हरियाणा का पहला मेडल आर्यन ने जीता था। आर्यन ने दिन रात मेहनत कर मुकाम हासिल किया है। इस मौके पर जिला खेल अधिकारी अमरजीत सिंह, गुरमीत सिंह, कोच विक्रम, अनूप धीमान व शिव ने भी खिलाड़ी को बधाई दी।
पाई गांव की बेटी शीतल ने भी किया अच्छा प्रदर्शन
खेलो इंडिया में नेशनल कबड्डी कन्या वर्ग का फाइनल मुकाबला महाराष्ट्र व हरियाणा के बीच खेला गया। इसमें हरियाणा की टीम ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इस प्रतियोगिता में कैथल जिले के पाई गांव की बेटी शीतल ने अच्छा प्रदर्शन किया। शीतल के अच्छे प्रदर्शन पर गांव पाई में खुशी की लहर है। शीतल ने गांव पाई के स्टेडियम से कबड्डी खेलना शुरू किया था। इससे पहले 2020 में असम गुवाहाटी में हुए खेलों इंडिया में भी पदक जीत चुकी थी। कोच कमला सोलंकी ने अब तैयारी करवाई है। शुरुआत में कोच शमशेर सिंह ने खेलना सिखाया था। शीतल का कहना है कि स्वर्ण पदक जीतने पर खुशी है। खेलों के द्वारा लड़कियां भी अच्छा नाम कमा सकती हैं।

कैथल। खेलो इंडिया की तांग था प्रतियोगिता में रजत पदक जीतने वाले खिलाड़ी आर्यन को कैथल व गांव में पहुंचने पर मंगलवार को सम्मानित किया गया। शहर के बस अड्डा से गांव धुंध रेहड़ी तक रोड शो निकाला गया। इसमें भारी संख्या में खिलाड़ी शामिल हुए।

खेलो इंडिया के पहले दिन ही धुंधरेहड़ी के आर्यन ने तांग था प्रतियोगिता में रजत पदक अपने नाम किया था। वर्ष 2021 में भी उसने राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में रजत पदक अपने नाम किया था। आर्यन का पहला मुकाबला छत्तीसगढ़, दूसरा असम के साथ, तीसरा मुकाबला दिल्ली के साथ व चौथा फाइनल मुकाबला मणिपुर के खिलाड़ी साथ हुआ था। मणिपुर के खिलाड़ी से महज तीन प्वाइंट से आर्यन पीछे रह गए।

कोच विक्रम कादियान ने बताया कि खेलो इंडिया में हरियाणा का पहला मेडल आर्यन ने जीता था। आर्यन ने दिन रात मेहनत कर मुकाम हासिल किया है। इस मौके पर जिला खेल अधिकारी अमरजीत सिंह, गुरमीत सिंह, कोच विक्रम, अनूप धीमान व शिव ने भी खिलाड़ी को बधाई दी।

पाई गांव की बेटी शीतल ने भी किया अच्छा प्रदर्शन

खेलो इंडिया में नेशनल कबड्डी कन्या वर्ग का फाइनल मुकाबला महाराष्ट्र व हरियाणा के बीच खेला गया। इसमें हरियाणा की टीम ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इस प्रतियोगिता में कैथल जिले के पाई गांव की बेटी शीतल ने अच्छा प्रदर्शन किया। शीतल के अच्छे प्रदर्शन पर गांव पाई में खुशी की लहर है। शीतल ने गांव पाई के स्टेडियम से कबड्डी खेलना शुरू किया था। इससे पहले 2020 में असम गुवाहाटी में हुए खेलों इंडिया में भी पदक जीत चुकी थी। कोच कमला सोलंकी ने अब तैयारी करवाई है। शुरुआत में कोच शमशेर सिंह ने खेलना सिखाया था। शीतल का कहना है कि स्वर्ण पदक जीतने पर खुशी है। खेलों के द्वारा लड़कियां भी अच्छा नाम कमा सकती हैं।

.


ढाबा संचालक से रंगदारी मांगने वाला वांटेड गिरफ्तार

तीसरे दिन तीन किलोमीटर दूर मिला आकाश का शव