योजना: बहादुरगढ़ से सांपला तक आठ औद्योगिक सेक्टर बनाने की तैयारी, क्षेत्र के लोगों को होगा लाभ


ख़बर सुनें

कॉन्फेडरेशन ऑफ बहादुरगढ़ इंडस्ट्रीज (कोबी) के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल ने मंत्री से उद्योगों के सुचारू संचालन के लिए बहादुरगढ़ आकर उद्योगों स्थिति को समझने का निवेदन किया। मंत्री ने उद्यमियों को क्षेत्र के औद्योगिक विकास का भरोसा दिलाया।

दिल्ली गए प्रतिनिधिमंडल में प्रवीण गर्ग के साथ नरेंद्र बिंदल, संजीव, लालेंद्र, प्रदीप कौल, रवि चमरिया और अशोक मित्तल शामिल थे। उद्यमियों ने केंद्रीय मंत्री को जिले के उद्योगों की समस्याओं से अवगत करवाया। गर्ग ने बहादुरगढ़ के उद्योगों की सुविधा के लिए कार्गो टर्मिनल की स्थापना करने की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि बहादुरगढ़-सांपला मास्टर प्लान में हजारों उद्योगों के आने की संभावना है।

इसे देखते हुए रेलवे भी अपना इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार करने की योजना बना रहा है। मास्टर प्लान के तहत बहादुरगढ़ से सांपला तक क्षेत्र में आठ औद्योगिक सेक्टर तैयार करने की प्लानिंग पर काम शुरू हो चुका है। इससे पहले यहां ट्रांसपोर्ट के लिए सड़कों का जाल तैयार किया जाना है।

सबसे जरूरी रेलवे सेवा में लॉजिस्टिक सेवाओं के लिए केंद्र सरकार की ओर से काम शुरू किए जा रहे हैं। इन कार्यों से पीएम गति शक्ति मल्टी मॉडल कार्गो टर्मिनल का बहादुरगढ़ सांपला को सबसे अधिक लाभ मिलेगा। इसके बाद बहादुरगढ़ किसी बड़े औद्योगिक सेंटर की दौड़ में शामिल हो जाएगा। 

प्रवीण गर्ग ने कहा कि आयात और निर्यात व्यवस्था के लिए कार्गो सुविधा उद्योग और व्यापार के लिए सबसे महत्वपूर्ण होती है। रेलवे के गति शक्ति मल्टी मॉडल कार्गो टर्मिनल के जरिए सामान ढुलाई के लिए रेल के अलावा विमान, ट्रक आदि को साथ जोड़ने की तैयारी है।

इसका उद्देश्य लॉजिस्टिक्स का खर्च कम करना और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए बुनियादी ढांचे का विकास करना है। इससे न केवल लॉजिस्टिक्स की लागत में कमी व कार्गो हैंडलिंग क्षमता बढ़ेगी बल्कि सामान भेजना तेज होगा और समय व खर्च की बचत होगी।

विस्तार

कॉन्फेडरेशन ऑफ बहादुरगढ़ इंडस्ट्रीज (कोबी) के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल ने मंत्री से उद्योगों के सुचारू संचालन के लिए बहादुरगढ़ आकर उद्योगों स्थिति को समझने का निवेदन किया। मंत्री ने उद्यमियों को क्षेत्र के औद्योगिक विकास का भरोसा दिलाया।

दिल्ली गए प्रतिनिधिमंडल में प्रवीण गर्ग के साथ नरेंद्र बिंदल, संजीव, लालेंद्र, प्रदीप कौल, रवि चमरिया और अशोक मित्तल शामिल थे। उद्यमियों ने केंद्रीय मंत्री को जिले के उद्योगों की समस्याओं से अवगत करवाया। गर्ग ने बहादुरगढ़ के उद्योगों की सुविधा के लिए कार्गो टर्मिनल की स्थापना करने की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि बहादुरगढ़-सांपला मास्टर प्लान में हजारों उद्योगों के आने की संभावना है।

इसे देखते हुए रेलवे भी अपना इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार करने की योजना बना रहा है। मास्टर प्लान के तहत बहादुरगढ़ से सांपला तक क्षेत्र में आठ औद्योगिक सेक्टर तैयार करने की प्लानिंग पर काम शुरू हो चुका है। इससे पहले यहां ट्रांसपोर्ट के लिए सड़कों का जाल तैयार किया जाना है।

सबसे जरूरी रेलवे सेवा में लॉजिस्टिक सेवाओं के लिए केंद्र सरकार की ओर से काम शुरू किए जा रहे हैं। इन कार्यों से पीएम गति शक्ति मल्टी मॉडल कार्गो टर्मिनल का बहादुरगढ़ सांपला को सबसे अधिक लाभ मिलेगा। इसके बाद बहादुरगढ़ किसी बड़े औद्योगिक सेंटर की दौड़ में शामिल हो जाएगा। 

प्रवीण गर्ग ने कहा कि आयात और निर्यात व्यवस्था के लिए कार्गो सुविधा उद्योग और व्यापार के लिए सबसे महत्वपूर्ण होती है। रेलवे के गति शक्ति मल्टी मॉडल कार्गो टर्मिनल के जरिए सामान ढुलाई के लिए रेल के अलावा विमान, ट्रक आदि को साथ जोड़ने की तैयारी है।

इसका उद्देश्य लॉजिस्टिक्स का खर्च कम करना और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए बुनियादी ढांचे का विकास करना है। इससे न केवल लॉजिस्टिक्स की लागत में कमी व कार्गो हैंडलिंग क्षमता बढ़ेगी बल्कि सामान भेजना तेज होगा और समय व खर्च की बचत होगी।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

बहादुरगढ़: KMP एक्सप्रेस वे पर पिस्तौल की नोंक पर चालक को बंधक बनाकर ट्राला लूटा, छह बदमाशों ने की वारदात

Haryana Municipal Election Results: बीजेपी का 27 निकायों पर कब्‍जा, पर पिछली बार से सीटें कम, क्यों कांग्रेस को भी दिखी उम्मीद, जानें