योगा टीचर व सहायक पीटीआई लगवाने के नाम पर की महिला से दो लाख 80 हजार की ठगी


ख़बर सुनें

भिवानी। योग टीचर व सहायक पीटीआई की सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर एक लड़की से दो लाख 80 हजार रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। पीड़ित ने मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक को दी। जिस पर सिविल लाइन पुलिस ने फेडरेशन की एक महिला सहित तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।
शिकायत में जीतुवाला जोहड़ क्षेत्र की गली तीन निवासी सुमन ने बताया कि प्रियंका कादियान व उसके पति रजनीश कादियान और विष्णु शर्मा ने नेशनल कमीश्नर ऑफ स्पोर्ट्स एंड स्काउट फेडरेशन का रोहतक में भिवानी रोड पर कार्यालय खोला हुआ है। जिसमें प्रियंका और रजनीश डायरेक्टर बनी हैं वहीं विष्णु शर्मा कर्मचारी है। मार्च 2020 में प्रियंका व विष्णु उसके रिश्तेदार संतोष के घर पुराना बस स्टैंड नए बाजार में आई थे। इसी दौरान संतोष ने उसकी व उसकी बहन पूजा की मुलाकात कराई थी। आरोपियों ने कहा कि उनकी फेडरेशन बेरोजगार युवक युवतियों को फेडरेशन के माध्यम से कोर्स करवाकर योग टीचर, सहायक पीटीआई व पीटीआई की गारंटी से सरकारी नौकरी दिलाते हैं। जिसके लिए वे प्रत्येक उम्मीदवार से तीन लाख 80 हजार रुपये लेते हैं। उसकी बहन पूजा पढ़ी लिखी और बेरोजगार है। इसलिए उसकी बहन को योगा टीचर व सहायक पीटीआई लगवाने के लिए 18 मार्च 2020 को तीन संतोष की मौजूदगी में तीन लाख 80 हजार रुपये दिए थे। इस दौरान आरोपियों ने उसकी बहन के कुछ शैक्षणिक दस्तावेज भी लिए थे। इसके बाद फेडरेशन के माध्यम से उसकी बहन पूजा का साक्षात्कार व लिखित परीक्षा ली गई। जिसके बाद आरोपियों ने दबाव बनाकर उसकी बहन से एक शपथ पत्र लिया, जिसमें यह लिखा था कि उनसे कोई पैसे नहीं लिए हैं। आरोपियों ने कहा कि शपथ पत्र न देने पर कोर्स का सर्टिफिकेट न देने व सरकारी नौकरी न लगवाने की धमकी दी थी। जिसके बाद दबाव में शपथ पत्र उसकी बहन ने दे दिया था। उसकी बहन पूजा की 10 अगस्त 2020 को तीन माह तक ट्रेनिंग भी कराई गई। आरोपियों ने फर्जी ज्वाइनिंग लेटर भी जारी कर दिया, लेकिन उसकी बहन की कोई सरकारी नौकरी नहीं लगी। जब बार-बार अनुरोध करने पर आरोपियों से पैसे मांगे तो 50-50 हजार कर केवल एक लाख रुपये वापस लौटाए गए, जबकि दो लाख 80 हजार रुपये की राशि आरोपियों ने हड़प कर ली। जिसके बाद पैसे वापस मांगने पर उन्हें ही धमकियां देने लगे। पीड़ित ने मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक को दी। जिसके बाद सिविल लाइन पुलिस थाना में फेडरेशन की डायरेक्टर प्रियंका कादियान व उसके पति रजनीश कादियान और विष्णु शर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी की संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज हुआ है।

भिवानी। योग टीचर व सहायक पीटीआई की सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर एक लड़की से दो लाख 80 हजार रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। पीड़ित ने मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक को दी। जिस पर सिविल लाइन पुलिस ने फेडरेशन की एक महिला सहित तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

शिकायत में जीतुवाला जोहड़ क्षेत्र की गली तीन निवासी सुमन ने बताया कि प्रियंका कादियान व उसके पति रजनीश कादियान और विष्णु शर्मा ने नेशनल कमीश्नर ऑफ स्पोर्ट्स एंड स्काउट फेडरेशन का रोहतक में भिवानी रोड पर कार्यालय खोला हुआ है। जिसमें प्रियंका और रजनीश डायरेक्टर बनी हैं वहीं विष्णु शर्मा कर्मचारी है। मार्च 2020 में प्रियंका व विष्णु उसके रिश्तेदार संतोष के घर पुराना बस स्टैंड नए बाजार में आई थे। इसी दौरान संतोष ने उसकी व उसकी बहन पूजा की मुलाकात कराई थी। आरोपियों ने कहा कि उनकी फेडरेशन बेरोजगार युवक युवतियों को फेडरेशन के माध्यम से कोर्स करवाकर योग टीचर, सहायक पीटीआई व पीटीआई की गारंटी से सरकारी नौकरी दिलाते हैं। जिसके लिए वे प्रत्येक उम्मीदवार से तीन लाख 80 हजार रुपये लेते हैं। उसकी बहन पूजा पढ़ी लिखी और बेरोजगार है। इसलिए उसकी बहन को योगा टीचर व सहायक पीटीआई लगवाने के लिए 18 मार्च 2020 को तीन संतोष की मौजूदगी में तीन लाख 80 हजार रुपये दिए थे। इस दौरान आरोपियों ने उसकी बहन के कुछ शैक्षणिक दस्तावेज भी लिए थे। इसके बाद फेडरेशन के माध्यम से उसकी बहन पूजा का साक्षात्कार व लिखित परीक्षा ली गई। जिसके बाद आरोपियों ने दबाव बनाकर उसकी बहन से एक शपथ पत्र लिया, जिसमें यह लिखा था कि उनसे कोई पैसे नहीं लिए हैं। आरोपियों ने कहा कि शपथ पत्र न देने पर कोर्स का सर्टिफिकेट न देने व सरकारी नौकरी न लगवाने की धमकी दी थी। जिसके बाद दबाव में शपथ पत्र उसकी बहन ने दे दिया था। उसकी बहन पूजा की 10 अगस्त 2020 को तीन माह तक ट्रेनिंग भी कराई गई। आरोपियों ने फर्जी ज्वाइनिंग लेटर भी जारी कर दिया, लेकिन उसकी बहन की कोई सरकारी नौकरी नहीं लगी। जब बार-बार अनुरोध करने पर आरोपियों से पैसे मांगे तो 50-50 हजार कर केवल एक लाख रुपये वापस लौटाए गए, जबकि दो लाख 80 हजार रुपये की राशि आरोपियों ने हड़प कर ली। जिसके बाद पैसे वापस मांगने पर उन्हें ही धमकियां देने लगे। पीड़ित ने मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक को दी। जिसके बाद सिविल लाइन पुलिस थाना में फेडरेशन की डायरेक्टर प्रियंका कादियान व उसके पति रजनीश कादियान और विष्णु शर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी की संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज हुआ है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

HBSE 10th Result 2022 Out: हरियाणा बोर्ड 10वीं का रिजल्ट जारी, 499 अंकों के साथ भिवानी की अमीषा अव्वल

मजदूरी कर वापस घर की तरफ जा रहे दो मजदूरों को बातों में उलझाकर चुराए मोबाइल फोन