in

युवक की हत्या मामले में पुलिस से मुठभेड़, तीन गिरफ्तार


ख़बर सुनें

होडल। फतेहपुर बिल्लौच निवासी दो भाइयों का अपहरण कर एक को जान से मार देने के मामले में पुलिस ने मुठभेड़ में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जिनकी पहचान गौरव, आकाश तथा विजय निवासी गांव जनौली के रूप में हुई। पुलिस ने बताया कि तीनों आरोपी जनौली गांव में एक ट्यूबवेल के पास हथियारों के साथ छिपकर बैठे थे।
पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल ने बताया कि हथौड़े से पीट-पीटकर पवन की हत्या कर दी गई थी। पुलिस को जैसे ही इस वारदात की जानकारी मिली तो टीमें गठित कर दी थी। आरोपियों के बारे में जैसे ही सूचना मिली तो पुलिस टीम जनौली पहुंच गई और आरोपियों को ट्यूबवेल के पास से गिरफ्तार करने का प्रयास किया, लेकिन आरोपी भागने लगे। पुलिस ने उन्हें आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी। जिन्होंने चेतावनी की परवाह किए बिना पुलिस पार्टी पर सीधे फायरिंग करनी शुरू कर दी। जिस पर निरीक्षक विश्व गौरव और पुलिस कर्मियों ने आत्मरक्षा में चार हवाई फायर किए व आरोपियों के पैरों की तरफ फायर किया।
पुलिस अधीक्षक दुगगल ने बताया कि कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने आरोपी गौरव को पिस्टल और एक कारतूस तथा आरोपी आकाश को तमंचे और जिंदा रौंद एवं विजय को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पवन एवं मुख्य आरोपी गौरव आपराधिक प्रवृत्ति के हैं। उन्होंने बताया कि मृतक पवन पर भी लूट, डकैती, फिरौती व हत्या आदि के 28 मामले दर्ज थे। इसके अलावा मुख्य आरोपी गौरव के खिलाफ भी एक दर्जन से अधिक लूट, हत्या, डकैती व फिरौती आदि संगीन मामले दर्ज हैं। आरोपियों से अन्य वारदात का खुलासा होने की भी संभावना है, जिन्हें अदालत में पेश कर पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा।

होडल। फतेहपुर बिल्लौच निवासी दो भाइयों का अपहरण कर एक को जान से मार देने के मामले में पुलिस ने मुठभेड़ में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जिनकी पहचान गौरव, आकाश तथा विजय निवासी गांव जनौली के रूप में हुई। पुलिस ने बताया कि तीनों आरोपी जनौली गांव में एक ट्यूबवेल के पास हथियारों के साथ छिपकर बैठे थे।

पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल ने बताया कि हथौड़े से पीट-पीटकर पवन की हत्या कर दी गई थी। पुलिस को जैसे ही इस वारदात की जानकारी मिली तो टीमें गठित कर दी थी। आरोपियों के बारे में जैसे ही सूचना मिली तो पुलिस टीम जनौली पहुंच गई और आरोपियों को ट्यूबवेल के पास से गिरफ्तार करने का प्रयास किया, लेकिन आरोपी भागने लगे। पुलिस ने उन्हें आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी। जिन्होंने चेतावनी की परवाह किए बिना पुलिस पार्टी पर सीधे फायरिंग करनी शुरू कर दी। जिस पर निरीक्षक विश्व गौरव और पुलिस कर्मियों ने आत्मरक्षा में चार हवाई फायर किए व आरोपियों के पैरों की तरफ फायर किया।

पुलिस अधीक्षक दुगगल ने बताया कि कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने आरोपी गौरव को पिस्टल और एक कारतूस तथा आरोपी आकाश को तमंचे और जिंदा रौंद एवं विजय को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पवन एवं मुख्य आरोपी गौरव आपराधिक प्रवृत्ति के हैं। उन्होंने बताया कि मृतक पवन पर भी लूट, डकैती, फिरौती व हत्या आदि के 28 मामले दर्ज थे। इसके अलावा मुख्य आरोपी गौरव के खिलाफ भी एक दर्जन से अधिक लूट, हत्या, डकैती व फिरौती आदि संगीन मामले दर्ज हैं। आरोपियों से अन्य वारदात का खुलासा होने की भी संभावना है, जिन्हें अदालत में पेश कर पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा।

.


दहेज में स्कॉर्पियो न मिलने पर विवाहिता को घर से निकाला

तमंचे दिखा दो भाइयों का अपहरण, एक को हथौड़े और रॉड से पीट-पीटकर मार डाला