in

मौसम : 43.7 डिग्री पर पहुंच गया तापमान


ख़बर सुनें

करनाल। भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है। रविवार को अधिकतम तापमान 43.7 डिग्री पर पहुंच गया। लोगों को शाम तक झुलसा देने वाली गर्मी का सामना करना पड़ा। पूर्वानुमान है कि कर्ण नगरी में 25 जून के आसपास प्री-मानसून की बारिश हो सकती है। वहीं इस बार जुलाई के प्रथम सप्ताह में मानसून आने की उम्मीद है।
पिछले वर्ष कर्ण नगरी में 14 जुलाई को मानसून की बारिश हुई थी। पूरे सीजन में करीब 675 एमएम वर्षा दर्ज की गई थी, जो पिछले वर्षों के औसत वर्षा के आंकड़े की तुलना में करीब 25 प्रतिशत अधिक आंकी गई। 15 जुलाई 2021 को 24 घंटे रिकॉर्ड बारिश हुई थी। उसके बाद 27 व 28 जुलाई को भी अत्यधिक बारिश दर्ज की गई थी।
इस बार मानसून को लेकर पूर्वानुमान है कि जिले में एक दिन बहुत तेज बारिश फिर कई दिन मौसम साफ रह सकता है, उसके बाद फिर चार-पांच दिन लगातार बारिश की संभावना रहेगी। फार्मर्स प्रोड्यूर्स आर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया के उपाध्यक्ष एवं कृषि विभाग हरियाणा के पूर्व तकनीकी अधिकारी डॉ. एसपी तोमर ने कहा कि 15 जून से किसान धान की रोपाई शुरू करेंगे। जल संरक्षण के प्रयासों के तहत धान की सीधी बिजाई पर ज्यादा जोर दें।
दस जून की रात को बदलेगा मौसम
चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विशेषज्ञ डॉ. मदन खीचड़ के अनुसार राज्य में दस जून तक मौसम परिवर्तनशील, खुश्क व गर्म रहने की संभावना है। दिन के तापमान में हल्की वृद्धि की संभावना रहेगी। बीच-बीच में शाम के समय हल्के बादल, कहीं-कहीं पर धूल भरी गर्म हवाएं चलने की संभावना है। दस जून की रात से पश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव से मौसम परिवर्तनशील होने की संभावना है।
रात का तापमान 25 डिग्री से ऊपर
केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मौसम विभाग के अनुसार रविवार को अधिकतम तापमान 43.7 व न्यूनतम 25.4 डिग्री सेल्सियस रहा। आर्र्दता सुबह 39 व दोपहर को 15 प्रतिशत रही। वाष्प दाब 9.7 एमम रहा। हवा की औसत गति 0.97 किलोमीटर प्रति घंटा रही। एक दिन पूर्व शनिवार को अधिकतम तापमान 42.8 व न्यूनतम 24.3 डिग्री सेल्सियस था। पिछले वर्ष पांच जून को अधिकतम तापमान 37.6 व न्यूनतम 21.8 डिग्री सेल्सियस था और 17.9 एमएम वर्षा हुई थी।

करनाल। भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है। रविवार को अधिकतम तापमान 43.7 डिग्री पर पहुंच गया। लोगों को शाम तक झुलसा देने वाली गर्मी का सामना करना पड़ा। पूर्वानुमान है कि कर्ण नगरी में 25 जून के आसपास प्री-मानसून की बारिश हो सकती है। वहीं इस बार जुलाई के प्रथम सप्ताह में मानसून आने की उम्मीद है।

पिछले वर्ष कर्ण नगरी में 14 जुलाई को मानसून की बारिश हुई थी। पूरे सीजन में करीब 675 एमएम वर्षा दर्ज की गई थी, जो पिछले वर्षों के औसत वर्षा के आंकड़े की तुलना में करीब 25 प्रतिशत अधिक आंकी गई। 15 जुलाई 2021 को 24 घंटे रिकॉर्ड बारिश हुई थी। उसके बाद 27 व 28 जुलाई को भी अत्यधिक बारिश दर्ज की गई थी।

इस बार मानसून को लेकर पूर्वानुमान है कि जिले में एक दिन बहुत तेज बारिश फिर कई दिन मौसम साफ रह सकता है, उसके बाद फिर चार-पांच दिन लगातार बारिश की संभावना रहेगी। फार्मर्स प्रोड्यूर्स आर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया के उपाध्यक्ष एवं कृषि विभाग हरियाणा के पूर्व तकनीकी अधिकारी डॉ. एसपी तोमर ने कहा कि 15 जून से किसान धान की रोपाई शुरू करेंगे। जल संरक्षण के प्रयासों के तहत धान की सीधी बिजाई पर ज्यादा जोर दें।

दस जून की रात को बदलेगा मौसम

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विशेषज्ञ डॉ. मदन खीचड़ के अनुसार राज्य में दस जून तक मौसम परिवर्तनशील, खुश्क व गर्म रहने की संभावना है। दिन के तापमान में हल्की वृद्धि की संभावना रहेगी। बीच-बीच में शाम के समय हल्के बादल, कहीं-कहीं पर धूल भरी गर्म हवाएं चलने की संभावना है। दस जून की रात से पश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव से मौसम परिवर्तनशील होने की संभावना है।

रात का तापमान 25 डिग्री से ऊपर

केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मौसम विभाग के अनुसार रविवार को अधिकतम तापमान 43.7 व न्यूनतम 25.4 डिग्री सेल्सियस रहा। आर्र्दता सुबह 39 व दोपहर को 15 प्रतिशत रही। वाष्प दाब 9.7 एमम रहा। हवा की औसत गति 0.97 किलोमीटर प्रति घंटा रही। एक दिन पूर्व शनिवार को अधिकतम तापमान 42.8 व न्यूनतम 24.3 डिग्री सेल्सियस था। पिछले वर्ष पांच जून को अधिकतम तापमान 37.6 व न्यूनतम 21.8 डिग्री सेल्सियस था और 17.9 एमएम वर्षा हुई थी।

.


बाइक पर जा रहे सीएम सिक्योरिटी इंस्पेक्टर पर चढ़ा दिया पीछे से ट्रक, मौके पर ही मौत

कागजों में कैटल फ्री शहर, गोवंश का जमावड़ा सड़कों पर