मोबाइल टावर लगाने का झांसा देकर 2.55 लाख रुपये ठगे


ख़बर सुनें

पानीपत। ठगों ने मोबाइल कंपनी अधिकारी बनकर एक व्यक्ति को उसकी भूमि पर मोबाइल टावर लगाने का झांसा दिया। व्यक्ति को हर माह 18 हजार रुपये किराया देने व 10 लाख रुपये कैश देने की बात कहकर अपनी बातों में फंसा लिया। इसके बाद ठगों ने विभिन्न बहानों से व्यक्ति से 2.55 लाख रुपये अपने खाते में ट्रांसफर करवा लिए। मॉडल टाउन थाना पुलिस ने मामले में छह नामजद समेत नौ लोगों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
पुलिस को दी शिकायत में आरके पुरम निवासी भीम सिंह ने बताया कि उसके पास 11 अप्रैल 2021 को एक कॉल आई थी। फोन करने वाले ने अपना नाम सरवन सक्सेना बताया। सरवन ने कहा कि वह पश्चिमी बंगाल से जियो कंपनी से बात कर रहा है। कंपनी को मोबाइल टावर लगाने के लिए उनकी भूमि चाहिए। उसने भूमि देने के लिए हामी कर दी। सरवन सक्सेना ने कहा कि 10 साल का एग्रीमेंट किया जाएगा और 10 लाख रुपये कैश देंगे और हर माह 18 हजार रुपये किराए के साथ एक व्यक्ति को नौकरी भी देंगे। जिसका वेतन 15 हजार रुपये मासिक होगा। वह उनकी बातों में आ गया।
सरवन ने कागजी कार्रवाई के लिए उससे अपने खाते में 11800 रुपये ट्रांसफर कराए। 16 अप्रैल को उसके पास दोबारा अमित पटेल नाम के व्यक्ति की कॉल आई। उसने कंपनी से उसका खाता लिंक कराने के नाम पर उससे 45 हजार रुपये ट्रांसफर करवा लिए। अगले दिन उसके पास अनुपम सिन्हा नाम के व्यक्ति की कॉल आई। उसने कहा कि उन्होंने टावर का सामान लोड करवा दिया है। इसके नाम पर उससे 65 हजार रुपये ट्रांसफर कराए गए। इसके बाद ओमप्रकाश इंजीनियर, राहुल , प्रवीन मिश्रा, विपिन यादव व तीन अन्य ने उससे 1.54 लाख रुपये उससे विभिन्न बहानों से ट्रांसफर करवा लिए।

पानीपत। ठगों ने मोबाइल कंपनी अधिकारी बनकर एक व्यक्ति को उसकी भूमि पर मोबाइल टावर लगाने का झांसा दिया। व्यक्ति को हर माह 18 हजार रुपये किराया देने व 10 लाख रुपये कैश देने की बात कहकर अपनी बातों में फंसा लिया। इसके बाद ठगों ने विभिन्न बहानों से व्यक्ति से 2.55 लाख रुपये अपने खाते में ट्रांसफर करवा लिए। मॉडल टाउन थाना पुलिस ने मामले में छह नामजद समेत नौ लोगों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस को दी शिकायत में आरके पुरम निवासी भीम सिंह ने बताया कि उसके पास 11 अप्रैल 2021 को एक कॉल आई थी। फोन करने वाले ने अपना नाम सरवन सक्सेना बताया। सरवन ने कहा कि वह पश्चिमी बंगाल से जियो कंपनी से बात कर रहा है। कंपनी को मोबाइल टावर लगाने के लिए उनकी भूमि चाहिए। उसने भूमि देने के लिए हामी कर दी। सरवन सक्सेना ने कहा कि 10 साल का एग्रीमेंट किया जाएगा और 10 लाख रुपये कैश देंगे और हर माह 18 हजार रुपये किराए के साथ एक व्यक्ति को नौकरी भी देंगे। जिसका वेतन 15 हजार रुपये मासिक होगा। वह उनकी बातों में आ गया।

सरवन ने कागजी कार्रवाई के लिए उससे अपने खाते में 11800 रुपये ट्रांसफर कराए। 16 अप्रैल को उसके पास दोबारा अमित पटेल नाम के व्यक्ति की कॉल आई। उसने कंपनी से उसका खाता लिंक कराने के नाम पर उससे 45 हजार रुपये ट्रांसफर करवा लिए। अगले दिन उसके पास अनुपम सिन्हा नाम के व्यक्ति की कॉल आई। उसने कहा कि उन्होंने टावर का सामान लोड करवा दिया है। इसके नाम पर उससे 65 हजार रुपये ट्रांसफर कराए गए। इसके बाद ओमप्रकाश इंजीनियर, राहुल , प्रवीन मिश्रा, विपिन यादव व तीन अन्य ने उससे 1.54 लाख रुपये उससे विभिन्न बहानों से ट्रांसफर करवा लिए।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

कहासुनी होने पर नौकर ने मालिक के गोदाम में लगाई आग . 19-22-49

Yamunanagar Municipal Election Results: साढौरा में भाजपा प्रत्याशी शालिनी शर्मा जीतीं, सात वार्ड निर्दलीयों के खाते में