in

मुंबई की सीमेंट कंपनी का फर्जी सेल्स मैनेजर बनकर की रोहतक के कारोबारी से 9 लाख 92 हजार की ठगी


ख़बर सुनें

मुंबई की सीमेंट कंपनी का फर्जी सेल्स मैनेजर बनकर एक युवक ने रोहतक के कारोबारी से 9 लाख 92 हजार रुपये ठग लिए। सेक्टर एक निवासी चांद सिंह हुड्डा ने साइबर क्राइम थाने में धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है।
चांद सिंह हुड्डा ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसके मोबाइल फोन पर 14 जून को एक एसएमएस आया, जिसे भेजने वाले युवक ने खुद को मुंबई की एक सीमेंट कंपनी का सेल्स मैनेजर बताया। उसने लिखा कि उसकी कंपनी देशभर में सीमेंट की सप्लाई करती है। प्रति बैग रेट भी लिखा। कॉल करने के लिए नंबर भी दिया था। चांद सिंह ने कहा कि उसकी कंपनी में रोजाना सीमेंट की जरूरत होती है। उसने अपने अकाउंटेंट अमित कुमार को संदेश भेज दिया। अमित ने संबंधित नंबर पर बात की तो फोन उठाने वाले ने सीमेंट कंपनी का सेल्स मैनेजर बताया। इसके बाद डील करके 3200 बैग सीमेंट प्रति बैग 300 रुपये के हिसाब से ऑर्डर दे दिया। साथ ही सेल्स मैनेजर के बताए गए अकाउंट में 9 लाख 92 हजार रुपये की राशि भेज दी। उसे बताया गया कि सीमेंट कंपनी को राशि मिल गई है, सीमेंट के बैग से भरी गाड़ी रवाना कर दी जाएगी। इसी बीच अमित के पास फोन आया कि और राशि भेजनी होगी, नहीं तो सीमेंट से भरी गाड़ी रवाना नहीं होगी। अमित ने तत्काल कंपनी मालिक चांद सिंह हुड्डा को अवगत कराया। हुड्डा ने मामले की शिकायत अर्बन एस्टेट थाने में दी गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

मुंबई की सीमेंट कंपनी का फर्जी सेल्स मैनेजर बनकर एक युवक ने रोहतक के कारोबारी से 9 लाख 92 हजार रुपये ठग लिए। सेक्टर एक निवासी चांद सिंह हुड्डा ने साइबर क्राइम थाने में धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है।

चांद सिंह हुड्डा ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसके मोबाइल फोन पर 14 जून को एक एसएमएस आया, जिसे भेजने वाले युवक ने खुद को मुंबई की एक सीमेंट कंपनी का सेल्स मैनेजर बताया। उसने लिखा कि उसकी कंपनी देशभर में सीमेंट की सप्लाई करती है। प्रति बैग रेट भी लिखा। कॉल करने के लिए नंबर भी दिया था। चांद सिंह ने कहा कि उसकी कंपनी में रोजाना सीमेंट की जरूरत होती है। उसने अपने अकाउंटेंट अमित कुमार को संदेश भेज दिया। अमित ने संबंधित नंबर पर बात की तो फोन उठाने वाले ने सीमेंट कंपनी का सेल्स मैनेजर बताया। इसके बाद डील करके 3200 बैग सीमेंट प्रति बैग 300 रुपये के हिसाब से ऑर्डर दे दिया। साथ ही सेल्स मैनेजर के बताए गए अकाउंट में 9 लाख 92 हजार रुपये की राशि भेज दी। उसे बताया गया कि सीमेंट कंपनी को राशि मिल गई है, सीमेंट के बैग से भरी गाड़ी रवाना कर दी जाएगी। इसी बीच अमित के पास फोन आया कि और राशि भेजनी होगी, नहीं तो सीमेंट से भरी गाड़ी रवाना नहीं होगी। अमित ने तत्काल कंपनी मालिक चांद सिंह हुड्डा को अवगत कराया। हुड्डा ने मामले की शिकायत अर्बन एस्टेट थाने में दी गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

.


पांच साल की बच्ची से दुष्कर्म करने के दोषी को 10 साल की कैद

पुलिस साफ फुटेज न होने की बात कहती रही, महिला प्रोफेसर ने ढूंढकर दे दी नई फुटेज