in

मानदेय नहीं मिलने पर आशा कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन


हथीन में नगर पालिका कर्मचारी  धरना पर बैठे हुए

हथीन में नगर पालिका कर्मचारी धरना पर बैठे हुए
– फोटो : Palwal

ख़बर सुनें

पलवल। आशा वर्कर यूनियन के तत्वावधान में सोमवार को कोरोना महामारी के दौरान लगाई ड्यूटी का मानदेय नहीं मिलने पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) सिहौल में प्रदर्शन किया गया, जिसकी अध्यक्षता प्रधान अमला ने की, जबकि संचालन अनीता देवी ने किया। इस दौरान आशा कार्यकर्ताओं ने केंद्र के स्वास्थ्य अधिकारी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।
जिला प्रधान रामरति चौहान, सचिव बबली सैनी, उपप्रधान देवकी और मीना शर्मा ने कहा कि पूरे प्रदेश में कोरोना महामारी के दौरान लगाई गई ड्यूटी की धनराशि कार्यकर्ताओं को दे दी गई है, लेकिन सिहौल केंद्र पर कार्यरत आशा कार्यकर्ताओं की धनराशि अब तक नहीं दी गई है। 31 आशा कार्यकर्ताओं को 10 महीने का मानदेय नहीं दिया जा रहा है। केंद्र के स्वास्थ्य अधिकारी ने बातचीत के लिए बुलाया था, लेकिन कोविड की धनराशि देने पर सहमति नहीं बनी। इसलिए कार्यकर्ताओं ने बैठक का बहिष्कार कर दिया और प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि जब तक कार्यकर्ताओं की धनराशि जारी नहीं की जाती, तब तक आंदोलन जारी रहेगा। प्रदर्शन को किसान सभा के नेता जोगिंदर सिंह, चंदर, रोशनी, लक्ष्मी, रजनी, बबीता, सुनीता व पिंकी ने भी संबोधित किया।

पलवल। आशा वर्कर यूनियन के तत्वावधान में सोमवार को कोरोना महामारी के दौरान लगाई ड्यूटी का मानदेय नहीं मिलने पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) सिहौल में प्रदर्शन किया गया, जिसकी अध्यक्षता प्रधान अमला ने की, जबकि संचालन अनीता देवी ने किया। इस दौरान आशा कार्यकर्ताओं ने केंद्र के स्वास्थ्य अधिकारी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

जिला प्रधान रामरति चौहान, सचिव बबली सैनी, उपप्रधान देवकी और मीना शर्मा ने कहा कि पूरे प्रदेश में कोरोना महामारी के दौरान लगाई गई ड्यूटी की धनराशि कार्यकर्ताओं को दे दी गई है, लेकिन सिहौल केंद्र पर कार्यरत आशा कार्यकर्ताओं की धनराशि अब तक नहीं दी गई है। 31 आशा कार्यकर्ताओं को 10 महीने का मानदेय नहीं दिया जा रहा है। केंद्र के स्वास्थ्य अधिकारी ने बातचीत के लिए बुलाया था, लेकिन कोविड की धनराशि देने पर सहमति नहीं बनी। इसलिए कार्यकर्ताओं ने बैठक का बहिष्कार कर दिया और प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि जब तक कार्यकर्ताओं की धनराशि जारी नहीं की जाती, तब तक आंदोलन जारी रहेगा। प्रदर्शन को किसान सभा के नेता जोगिंदर सिंह, चंदर, रोशनी, लक्ष्मी, रजनी, बबीता, सुनीता व पिंकी ने भी संबोधित किया।

.


दहेज में बाइक न मिलने पर विवाहिता को जहर देकर मार डाला

घोटाले के मामले 7 माह बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं, खाइका की ग्राम पंचायत में 1.85 करोड़ का हुआ था गबन