in

महेंद्रगढ़: क्राइम कंट्रोल की टीम बताकर चार होटलों से वसूले 63 हजार रुपये, अज्ञात पर केस दर्ज


ख़बर सुनें

हरियाणा के महेंद्रगढ़ में ठगी गिरोह के सदस्यों ने खुद को क्राइम कंट्रोल विभाग का बताकर चार होटल संचालकों से 63 हजार रुपये की धोखाधड़ी की। गिरोह में शामिल आठ-नौ लोग होटलों में संचालकों को मामला दर्ज कराने का भय दिखा रुपये वसूलते हैं। अधिकतर होटल संचालक शिकायत नहीं करते। एक होटल संचालक ने पुलिस को शिकायत देकर गिरोह के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने गिरोह के तीन लोगों को काबू कर लिया है। होटल संचालकों की मानें तो यह गिरोह छह माह से सक्रिय है। 

पुलिस को दी शिकायत में कोथल खुर्द विकास ने बताया कि नारनौल रोड पर उसका होटल है। 30 मई की शाम 6 बजे आठ लोग होटल पर आए और खुद को क्राइम कंट्रोल विभाग की टीम बताया। इन लोगों ने होटल की तलाशी ली। इस दौरान होटल में ठहरे एक दंपति की वीडियो बनाई गई।

इसके बाद मामला दर्ज कराने की धमकी देते हुए 50 हजार रुपये की मांग की। उन्होंने उससे 30 हजार रुपये की नकदी ले ली। टीम के सभी सदस्य आई कार्ड पहने थे जिस पर क्राइम कंट्रोल लिखा हुआ था। उनके पास एक गाड़ी ऑल्टो व एक ब्रैजा गाड़ी थी। घटना के बाद जब अन्य होटलों से पता किया तो पता चला कि 30 मई को सैनी होटल में भी यह फर्जी टीम गई थी। वहां रात के समय खाना खाया जिसका बिल तीन हजार रुपये था जिसका भुगतान नहीं किया। 

पांच जून को शाम कथित क्राइम कंट्रोल के सदस्य नारनौल रोड पर श्री श्याम होटल पर पहुंचे। होटल संचालक रामअवतार को मुकदमा दर्ज करने का भय दिखाया और 20 हजार रुपये की मांग की। राम अवतार के पास पैसे नहीं थे और न ही उसके होटल में कोई ग्राहक रुके हुए थे। इसकी वजह से उसने पैसे देने से मना कर दिया।

उसके बाद यह टीम नारनौल रोड स्थित कपल चॉइस होटल पर गए वहां पर संचालक योगेश निवासी नींम्बूचाना थाना बानसूर राजस्थान के होटल की जांच कर वहां ठहरे एक दंपति की विडियो बनाकर मामला दर्ज कराने का भय दिखाकर 30 हजार रुपये  ले लिए। 

गिरोह में शामिल हैं आठ-नौ लोग
पुलिस को दी शिकायत में होटल संचालक ने बताया कि फर्जी क्राइम कंट्रोल टीम के सदस्य धोखाधड़ी करके होटल संचालकों को भय दिखाकर पैसे वसूल रहे हैं। इस गिरोह में 8-9 लोग शामिल हैं। इनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।
 

विस्तार

हरियाणा के महेंद्रगढ़ में ठगी गिरोह के सदस्यों ने खुद को क्राइम कंट्रोल विभाग का बताकर चार होटल संचालकों से 63 हजार रुपये की धोखाधड़ी की। गिरोह में शामिल आठ-नौ लोग होटलों में संचालकों को मामला दर्ज कराने का भय दिखा रुपये वसूलते हैं। अधिकतर होटल संचालक शिकायत नहीं करते। एक होटल संचालक ने पुलिस को शिकायत देकर गिरोह के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने गिरोह के तीन लोगों को काबू कर लिया है। होटल संचालकों की मानें तो यह गिरोह छह माह से सक्रिय है। 

पुलिस को दी शिकायत में कोथल खुर्द विकास ने बताया कि नारनौल रोड पर उसका होटल है। 30 मई की शाम 6 बजे आठ लोग होटल पर आए और खुद को क्राइम कंट्रोल विभाग की टीम बताया। इन लोगों ने होटल की तलाशी ली। इस दौरान होटल में ठहरे एक दंपति की वीडियो बनाई गई।

इसके बाद मामला दर्ज कराने की धमकी देते हुए 50 हजार रुपये की मांग की। उन्होंने उससे 30 हजार रुपये की नकदी ले ली। टीम के सभी सदस्य आई कार्ड पहने थे जिस पर क्राइम कंट्रोल लिखा हुआ था। उनके पास एक गाड़ी ऑल्टो व एक ब्रैजा गाड़ी थी। घटना के बाद जब अन्य होटलों से पता किया तो पता चला कि 30 मई को सैनी होटल में भी यह फर्जी टीम गई थी। वहां रात के समय खाना खाया जिसका बिल तीन हजार रुपये था जिसका भुगतान नहीं किया। 

पांच जून को शाम कथित क्राइम कंट्रोल के सदस्य नारनौल रोड पर श्री श्याम होटल पर पहुंचे। होटल संचालक रामअवतार को मुकदमा दर्ज करने का भय दिखाया और 20 हजार रुपये की मांग की। राम अवतार के पास पैसे नहीं थे और न ही उसके होटल में कोई ग्राहक रुके हुए थे। इसकी वजह से उसने पैसे देने से मना कर दिया।

उसके बाद यह टीम नारनौल रोड स्थित कपल चॉइस होटल पर गए वहां पर संचालक योगेश निवासी नींम्बूचाना थाना बानसूर राजस्थान के होटल की जांच कर वहां ठहरे एक दंपति की विडियो बनाकर मामला दर्ज कराने का भय दिखाकर 30 हजार रुपये  ले लिए। 

गिरोह में शामिल हैं आठ-नौ लोग

पुलिस को दी शिकायत में होटल संचालक ने बताया कि फर्जी क्राइम कंट्रोल टीम के सदस्य धोखाधड़ी करके होटल संचालकों को भय दिखाकर पैसे वसूल रहे हैं। इस गिरोह में 8-9 लोग शामिल हैं। इनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

 

शहर थाना में एक होटल संचालक ने शिकायत दी है। शिकायत के आधार पर अज्ञात लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस की टीमें बनाकर जांच की जाएगी। शीघ्र ही आरोपियों को काबू किया जाएगा। – अश्वनी कुमार, एसएचओ शहर थाना महेंद्रगढ़

.


बैठक में करोड़ों रुपये के विकास कार्यों पर लगी मुहर

Chandigarh Burail Jail: बुड़ैल जेल के पीछे बम मिलने की एनआईए ने शुरू की जांच, मामले में दर्ज की गई नई एफआईआर