in

महिला ने ही 15 महिलाओं को ठगा, कोर्स कराने का झांसा दिया


ख़बर सुनें

एक महिला ने गांव चिमनावास की 15 महिलाओं ठगी कर ली। उसने महिलाओं को बाल भवन की ओर से सिलाई कढ़ाई व ब्यूटी पार्लर का कोर्स कराने और सर्वेक्षण में ड्यूटी लगाने का झांसा दिया था। बदले में उनसे 200-200 रुपये ले ली। पीड़ित महिलाएं बाल भवन पहुंची तो उन्हें ठगी के बारे में पता लगा। बाल भवन के अधिकारियों ने अपनी कर्मचारी द्वारा इस तरह का कोई भी सर्वे कराने से इंकार किया और पुलिस को भी सूचित किया है।
गांव चिमनावास की महिलाओं ने बताया कि करीब दस दिन पहले एक महिला पहुंची थी। महिला ने बताया था कि वह मेवात की रहने वाली है और रेवाड़ी स्थित बाल भवन की कर्मचारी है। महिला ने बताया कि गांव की महिलाओं को सिलाई, कढ़ाई व ब्यूटी पार्लर का कोर्स कराया जाएगा। इसके अतिरिक्त सर्वेक्षण में भी ड्यूटी लगाई जाएगी। प्रत्येक महिला को 1200 रुपये व एक सिलाई मशीन भी दी जाएगी। आरोपी महिला ने गांव की करीब 15 महिलाओं से 200-200 रुपये ले लिए और कोई रसीद भी नहीं दी। महिला ने अपना मोबाइल नंबर भी दिया था। कई दिनों तक जब रुपये देने वाली महिलाओं के पास कोई नहीं आया तो उन्होंने दिए गए मोबाइल नंबर पर संपर्क किया, जो स्विच ऑफ है। इसके बाद मंगलवार को पीड़ित महिलाएं बाल भवन पहुंची और महिला द्वारा पैसे लेने के बारे में बताया। बाल भवन के कर्मचारियों ने इस तरह की किसी भी सर्वे से इनकार कर दिया जिसके बाद महिलाओं ठगी के बारे में पता लगा।
कुछ महिलाओं की शिकायत आई है, जिस पर संज्ञान लेते हुए सभी सिलाई केंद्रों को सूचित कर छानबीन की जा रही है। यदि इस प्रकार से कोई भी महिला सर्वे या कोर्स के नाम पर रुपयों की मांग करती है तो पुलिस को शिकायत देने के साथ-साथ उन्हें भी सूचना दें। बाल भवन की ओर से इस प्रकार का कोई सर्वेक्षण नहीं किया जा रहा।
– वीरेंद्र सिंह यादव, जिला बाल कल्याण अधिकारी।

एक महिला ने गांव चिमनावास की 15 महिलाओं ठगी कर ली। उसने महिलाओं को बाल भवन की ओर से सिलाई कढ़ाई व ब्यूटी पार्लर का कोर्स कराने और सर्वेक्षण में ड्यूटी लगाने का झांसा दिया था। बदले में उनसे 200-200 रुपये ले ली। पीड़ित महिलाएं बाल भवन पहुंची तो उन्हें ठगी के बारे में पता लगा। बाल भवन के अधिकारियों ने अपनी कर्मचारी द्वारा इस तरह का कोई भी सर्वे कराने से इंकार किया और पुलिस को भी सूचित किया है।

गांव चिमनावास की महिलाओं ने बताया कि करीब दस दिन पहले एक महिला पहुंची थी। महिला ने बताया था कि वह मेवात की रहने वाली है और रेवाड़ी स्थित बाल भवन की कर्मचारी है। महिला ने बताया कि गांव की महिलाओं को सिलाई, कढ़ाई व ब्यूटी पार्लर का कोर्स कराया जाएगा। इसके अतिरिक्त सर्वेक्षण में भी ड्यूटी लगाई जाएगी। प्रत्येक महिला को 1200 रुपये व एक सिलाई मशीन भी दी जाएगी। आरोपी महिला ने गांव की करीब 15 महिलाओं से 200-200 रुपये ले लिए और कोई रसीद भी नहीं दी। महिला ने अपना मोबाइल नंबर भी दिया था। कई दिनों तक जब रुपये देने वाली महिलाओं के पास कोई नहीं आया तो उन्होंने दिए गए मोबाइल नंबर पर संपर्क किया, जो स्विच ऑफ है। इसके बाद मंगलवार को पीड़ित महिलाएं बाल भवन पहुंची और महिला द्वारा पैसे लेने के बारे में बताया। बाल भवन के कर्मचारियों ने इस तरह की किसी भी सर्वे से इनकार कर दिया जिसके बाद महिलाओं ठगी के बारे में पता लगा।

कुछ महिलाओं की शिकायत आई है, जिस पर संज्ञान लेते हुए सभी सिलाई केंद्रों को सूचित कर छानबीन की जा रही है। यदि इस प्रकार से कोई भी महिला सर्वे या कोर्स के नाम पर रुपयों की मांग करती है तो पुलिस को शिकायत देने के साथ-साथ उन्हें भी सूचना दें। बाल भवन की ओर से इस प्रकार का कोई सर्वेक्षण नहीं किया जा रहा।

– वीरेंद्र सिंह यादव, जिला बाल कल्याण अधिकारी।

.


‘सुधर जा वरना मूसेवाला जैसा हाल होगा’,कांग्रेस MLA कुलदीप बिश्नोई को जान से मारने की धमकी

हिसार जेल से महिला के फोन पर भेजा मैसेज, तेरे बेटे को मारने की सुपारी मिली है