in

महिला को जिन्दा जलाने के मामले में NCSC का नोटिस, मुख्य सचिव, डीजीपी, कमिश्नर और कलेक्टर से मांगा जवाब


जयपुर: राजस्थान के जयपुर स्थित रायसर गांव में एक महिला शिक्षिका को जिंदा जलाने (Jaipur Woamn Teacher Burnt Alive) के मामले ने तूल पकड़ लिया है। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (National Commission for Scheduled Castes) ने राज्य के मुख्य सचिव उषा शर्मा सहित कई अफसरों को नोटिस जारी किए हैं। इन अफसरों को 7 दिनों के भीतर इस मामले में जवाब देने के निर्देश दिए गए हैं। जिन अफसरों को नोटिस भेजे गए हैं। उनमें डीजीपी, पुलिस कमिश्नर और जयपुर जिला कलेक्टर भी शामिल हैं।

10 अगस्त को किया गया था आग के हवाले
जमवारामगढ़ के पास रायसर गांव में 10 अगस्त को महिला शिक्षिका अनीता रैगर अपने बच्चे के साथ स्कूल जा रही थीं। अनीता के पति ताराचंद ने बताया कि स्कूल जाते समय बीच रास्ते में कुछ लोगों ने अनीता को घेर लिया था। बचाव के लिए अनीता एक मकान में छिप गईं। शिक्षिका के पीछे बदमाश भी उस मकान में घुस गए और उनको बाहर निकाला। उसके बाद अनीता पर ज्वलनशील पदार्थ उड़ेलकर आग लगा दी थी। गंभीर रूप से घायल अनीता को जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 17 अगस्त को उन्होंने दम तोड़ दिया।

जयपुर में दलित महिला टीचर को जिंदा जलाया, उधार के पैसे वापस मांगे तो लगाई आग, अस्पताल में इलाज के दौरान मौत
पैसों के लेन देन की बात आ रही सामने
मृतक अनीता के पति ताराचंद के मुताबिक, पड़ोस में रहने वाले सुनील को ढाई लाख रुपये उन्होंने उधार दे रखे थे। रुपये वापस लेने के लिए कई बार उसे कहा गया लेकिन वे रोज-रोज बहाने बनाने के बाद पैसे देने से इनकार करने लगा। रुपयों के लेन-देन में विवाद के चलते सुनील के परिवार वालों ने शिक्षिका अनीता के साथ कई बार मारपीट भी की। स्थानीय थाने में आरोपियों के खिलाफ दो बार रिपोर्ट दर्ज कराई लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

गहलोत राज में रोजाना 18 रेप और 7 हत्याएं, जयपुर में महिला टीचर को जिंदा जलाने पर सरकार पर भड़के सतीश पूनियां
डीजीपी के सामने पुलिस की शिकायत कर चुकी थी पीड़िता
पीड़ित के मुताबिक, पिछले दिनों अनीता डीजीपी मोहन लाल लाठर के ऑफिस जाकर मिली थी। वहां पर उसने रायसर थाना पुलिस के अधिकारियों की शिकायत की। अनीता ने कहा था कि उसकी ओर से दो बार रिपोर्ट दिए जाने के बाद भी पुलिस हमलावरों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही। साथ ही पीड़ित ने पुलिस पर आरोपियों को संरक्षण देने का आरोप भी लगाया।
रिपोर्ट – रामस्वरूप लामरोड़, जयपुर

.


देखें: IAF पायलट ने हवा में ईंधन भरने के लिए सुखोई Su-30 MKI को कुशलता से नेविगेट किया

मुंबई लोकल ट्रेन अपडेट: भारतीय रेलवे ने 10 अतिरिक्त एसी ट्रेनों की घोषणा की