in

महिला के फर्जी हस्ताक्षर कर ट्रक लोन लेने में बनाया गारंटर


ख़बर सुनें

यमुनानगर। अनपढ़ महिला के फर्जी हस्ताक्षर कर उसे गारंटर बनाकर कुछ लोगों ने ट्रक पर लोन करवा लिया। महिला का आरोप है कि आरोपियों ने उसकी जमीन हड़पने के लिए उसके फर्जी हस्ताक्षर कर लोन लिया। पता चलने पर महिला ने इसकी शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने मामले में फाइनेंस कंपनी के मैनेजर समेत पांच लोगों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज कर तफ्तीश आरंभ कर दी है।
रामपुर खादर निवासी चलती देवी ने बूड़िया थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह अनपढ़ महिला है। वह हस्ताक्षर करना नहीं जानती केवल अंगूठा लगाती है। गांव का अनिल कुमार, उसके बेटे साहिल और अनुज उसके परिवार के ही सदस्य है। उसके पति की लगभग 20 साल पहले मौत हो गई थी। उसके पास पांच बेटियां हैं। एक बेटा भी था। बेटे की मौत हो चुकी है। एक दामाद और बेटी उसके पास रहती है। महिला ने बताया कि पति की मौत के बाद से ही आरोपी अनिल और उसके बेटे उसकी जमीन को हड़पना चाहते हैं। आरोपियों ने कई बार उसकी जमीन हड़पने की कोशिश की। आरोपियों ने साल 2018 में अशोक लीलैंड कंपनी का एक ट्रक खरीदा था। इसके बाद गांव के ही विपिन कुमार और मैसर्ज पंजाब कश्मीर फाइनेंस कंपनी जालंधर के मैनेजर के साथ मिलीभगत करके उस ट्रक पर लोन करवा लिया था। इसमें आरोपियों ने उसे गारंटर के तौर पर दिखाया। जबकि उसे इसका कुछ पता नहीं चला। न ही उसने ट्रक लोन की किसी फाइल पर कोई अंगूठा लगाया। वह न ही कभी फाइनेंस कंपनी में गई और न ही उसने आरोपियों को जमीन की जमाबंदी, आधार कार्ड या अन्य दस्तावेज दिए।
बीती आठ मई को उसे अपने घर के आंगन में एक लिफाफा मिला। जिसमें कुछ कागजात थे। जिनको उसने अपने दामाद को दिखाया। तब उसके दामाद ने उसे बताया कि आरोपियों ने उसकी जमीन को हड़पने की नीयत से अपने ट्रक के लोन में उसे गारंटर बनाया है, जबकि उसने किसी कागजात पर कोई अंगूठा नहीं लगाया। जांच करने पर पता चला कि आरोपियों ने लोन के कागजात में उसके फर्जी हस्ताक्षर कर गारंटर बनाया है। जांच अधिकारी एएसआई निर्मल चंद का कहना है कि महिला की शिकायत पर फाइनेंस कंपनी मैनेजर समेत पांचों आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी की विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

यमुनानगर। अनपढ़ महिला के फर्जी हस्ताक्षर कर उसे गारंटर बनाकर कुछ लोगों ने ट्रक पर लोन करवा लिया। महिला का आरोप है कि आरोपियों ने उसकी जमीन हड़पने के लिए उसके फर्जी हस्ताक्षर कर लोन लिया। पता चलने पर महिला ने इसकी शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने मामले में फाइनेंस कंपनी के मैनेजर समेत पांच लोगों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज कर तफ्तीश आरंभ कर दी है।

रामपुर खादर निवासी चलती देवी ने बूड़िया थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह अनपढ़ महिला है। वह हस्ताक्षर करना नहीं जानती केवल अंगूठा लगाती है। गांव का अनिल कुमार, उसके बेटे साहिल और अनुज उसके परिवार के ही सदस्य है। उसके पति की लगभग 20 साल पहले मौत हो गई थी। उसके पास पांच बेटियां हैं। एक बेटा भी था। बेटे की मौत हो चुकी है। एक दामाद और बेटी उसके पास रहती है। महिला ने बताया कि पति की मौत के बाद से ही आरोपी अनिल और उसके बेटे उसकी जमीन को हड़पना चाहते हैं। आरोपियों ने कई बार उसकी जमीन हड़पने की कोशिश की। आरोपियों ने साल 2018 में अशोक लीलैंड कंपनी का एक ट्रक खरीदा था। इसके बाद गांव के ही विपिन कुमार और मैसर्ज पंजाब कश्मीर फाइनेंस कंपनी जालंधर के मैनेजर के साथ मिलीभगत करके उस ट्रक पर लोन करवा लिया था। इसमें आरोपियों ने उसे गारंटर के तौर पर दिखाया। जबकि उसे इसका कुछ पता नहीं चला। न ही उसने ट्रक लोन की किसी फाइल पर कोई अंगूठा लगाया। वह न ही कभी फाइनेंस कंपनी में गई और न ही उसने आरोपियों को जमीन की जमाबंदी, आधार कार्ड या अन्य दस्तावेज दिए।

बीती आठ मई को उसे अपने घर के आंगन में एक लिफाफा मिला। जिसमें कुछ कागजात थे। जिनको उसने अपने दामाद को दिखाया। तब उसके दामाद ने उसे बताया कि आरोपियों ने उसकी जमीन को हड़पने की नीयत से अपने ट्रक के लोन में उसे गारंटर बनाया है, जबकि उसने किसी कागजात पर कोई अंगूठा नहीं लगाया। जांच करने पर पता चला कि आरोपियों ने लोन के कागजात में उसके फर्जी हस्ताक्षर कर गारंटर बनाया है। जांच अधिकारी एएसआई निर्मल चंद का कहना है कि महिला की शिकायत पर फाइनेंस कंपनी मैनेजर समेत पांचों आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी की विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

.


पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद दर्ज हुआ हत्या का केस

बेस्ट विलेज बना उपलाना, तीन मेधावी छात्राएं सम्मानित