in

मबाइल की दुकान में कंपनी के सिक्योरिटी इंचार्ज को बंधक बनाकर पीटा


ख़बर सुनें

सोनीपत। गांधी चौक के पास मोबाइल की दुकान में गए एक कंपनी के सिक्योरिटी इंचार्ज को बंधक बनाकर पीटने का मामला सामने आया है। दुकानदार ने अपने सात-आठ दोस्तों के साथ मिलकर डंडों से उसकी पिटाई की। इससे सिक्योरिटी इंचार्ज को काफी चोट लगी है। हमलावरों ने पिटाई का वीडियो भी बनाया जिसमें सड़क हादसे में घायल होने की बात स्वीकार कराई गई है। परिजनों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।
कालूपुर निवासी प्रवीण कुमार ने पुलिस को बताया कि वह एक कंपनी में सिक्योरिटी इंचार्ज हैं। उनको अपना मोबाइल रिचार्ज कराना था। इसके लिए वह गांधी चौक के पास एक मोबाइल की दुकान पर गया और अपना मोबाइल रिचार्ज करने को कहा। इस पर दुकानदार ने उनका मोबाइल लेकर बंद कर दिया और दुकान का शटर गिरा लिया। उसे दुकान के अंदर ले जाकर डंडों से पीटना शुरू कर दिया। उनके बाद अपने सात-आठ दोस्तों को बुलाया। उन्होंने भी उसको पीटा। इससे उसे काफी चोट आई। काफी देर तक बंधक बनाकर पिटाई करने के बाद उसका वीडियो बनाया, जिसमें सड़क हादसे में घायल होने की बात स्वीकार कराकर उसको दुकान के बाहर फेंक दिया गया। उसने अपने परिजनों को सूचना दी। उसके बाद उसे परिजनों ने अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

सोनीपत। गांधी चौक के पास मोबाइल की दुकान में गए एक कंपनी के सिक्योरिटी इंचार्ज को बंधक बनाकर पीटने का मामला सामने आया है। दुकानदार ने अपने सात-आठ दोस्तों के साथ मिलकर डंडों से उसकी पिटाई की। इससे सिक्योरिटी इंचार्ज को काफी चोट लगी है। हमलावरों ने पिटाई का वीडियो भी बनाया जिसमें सड़क हादसे में घायल होने की बात स्वीकार कराई गई है। परिजनों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

कालूपुर निवासी प्रवीण कुमार ने पुलिस को बताया कि वह एक कंपनी में सिक्योरिटी इंचार्ज हैं। उनको अपना मोबाइल रिचार्ज कराना था। इसके लिए वह गांधी चौक के पास एक मोबाइल की दुकान पर गया और अपना मोबाइल रिचार्ज करने को कहा। इस पर दुकानदार ने उनका मोबाइल लेकर बंद कर दिया और दुकान का शटर गिरा लिया। उसे दुकान के अंदर ले जाकर डंडों से पीटना शुरू कर दिया। उनके बाद अपने सात-आठ दोस्तों को बुलाया। उन्होंने भी उसको पीटा। इससे उसे काफी चोट आई। काफी देर तक बंधक बनाकर पिटाई करने के बाद उसका वीडियो बनाया, जिसमें सड़क हादसे में घायल होने की बात स्वीकार कराकर उसको दुकान के बाहर फेंक दिया गया। उसने अपने परिजनों को सूचना दी। उसके बाद उसे परिजनों ने अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

.


राष्ट्रीय प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतकर लौटे हर्षद बोस का स्वागत