भ्रष्टाचार मामले में आईएएस अधिकारी संजय पोपली गिरफ्तार


चंडीगढ़, 21 जून (भाषा) पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने नवांशहर में सीवरेज पाइप लाइन बिछाने का टेंडर निकालने के एवज में कथित तौर पर रिश्वत मांगने के आरोप में आईएएस अधिकारी संजय पोपली को गिरफ्तार किया है।

मंगलवार को जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार, उनके कथित गुर्गे संदीप वत्स को भी जालंधर से पकड़ा गया है।

दोनों की गिरफ्तारी सोमवार को की गई।

हरियाणा के करनाल निवासी, संजय कुमार, दीखाडाला सहकारी समिति लिमिटेड के नाम से एक फर्म के साथ एक सरकारी ठेकेदार हैं। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा कि संजय पोपली ने पंजाब जल आपूर्ति और सीवरेज बोर्ड में मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के रूप में अपने सहायक सचिव संदीप वत्स के साथ मिलकर 7.30 करोड़ रुपये के टेंडर को मंजूरी देने के लिए कथित तौर पर रिश्वत की मांग की थी।

उन्होंने बताया कि वत्स ने 12 जनवरी को पोपली की ओर से टेंडर आवंटन के लिए सात लाख रुपये (सात करोड़ रुपये की परियोजना का एक प्रतिशत) की रिश्वत मांगी थी।

विजिलेंस ब्यूरो के एक प्रवक्ता के हवाले से बयान में कहा गया, ‘‘डरते हुए उसने (कुमार ने) अपने बैंक खाते से साढ़े तीन लाख रुपये निकाले और चंडीगढ़ के सेक्टर-20 में एक कार में संदीप वत्स को सौंप दिए। राशि मिलने के बाद वत्स ने पोपली को इसकी सूचना दी और अपने लिए 50 हजार रुपये ले लिए।”

हालांकि, कुमार ने वत्स द्वारा बार-बार मांगे जा रहे शेष साढ़े तीन लाख रुपये देने से इनकार कर दिया था। प्रवक्ता ने कहा कि उन्होंने पूरी बातचीत की वीडियो भी बनाई थी और इसे विजिलेंस ब्यूरो को सौंप दिया था।

शिकायतकर्ता के बयान और वीडियो साक्ष्य के आधार पर पोपली और वत्स के खिलाफ निविदा आवंटन के लिए कथित तौर पर एक प्रतिशत रिश्वत मांगने और साढ़े तीन लाख रुपये रिश्वत के रूप में प्राप्त करने का मामला दर्ज किया गया है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को स्काईट्रैक्स द्वारा ‘विश्व के सर्वश्रेष्ठ हवाई अड्डे 2022’ से सम्मानित किया गया

टी20 वर्ल्ड कप के लिए सुनील गावस्कर ने किस पेसर को बताया भारत का ट्रंप कार्ड?