in

भाजपा की ओर से प्रवर्तन निदेशालय में की गई शिकायत हास्यास्पद : महेश जोशी


जयपुर, सात जून (भाषा) राजस्थान सरकार के मुख्य सचेतक महेश जोशी ने भाजपा की ओर से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) में की गई शिकायत को मंगलवार को हास्यास्पद बताते हुए आरोप लगाया कि यह भाजपा ही है जो राज्यसभा चुनाव के लिये विधायकों की ‘खरीद फरोख्त’ में शामिल है।

जोशी ने कहा कि भाजपा के इस कदम का उद्देश्य राज्यसभा चुनाव के दौरान ईडी को राज्य में प्रवेश कराना है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राजस्थान में राज्यसभा की चार सीटों पर 10 जून को होने वाले चुनाव के दौरान विधायकों की ‘खरीद फरोख्त’ की आशंका जताते हुए काले धन के उपयोग को रोकने के क्रम में ईडी और राज्य निर्वाचन आयोग को मंगलवार को पत्र लिखा।

जोशी ने दावा किया कि चार में से तीन सीटें जीतने के लिये 123 मतों की जरूरत है जबकि कांग्रेस के पास 126 वोट है। कांग्रेस नेता ने भाजपा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा पर भी निशाना साधा। चंद्रा ने इससे पूर्व दिन में दावा किया था कि आठ विधायक उनके पक्ष में ‘क्रास वोट’ करेंगे।

कांग्रेस नेता ने कहा कि चंद्रा एक तरह से भाजपा के उम्मीदवार हैं, लेकिन उनकी हार की जिम्मेदारी से बचने के लिये विपक्षी पार्टी ने उन्हें निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में मैदान में उतारा है।

जोशी ने कहा कि कांग्रेस के अपने 108 विधायक हैं और पार्टी को 13 निर्दलीय विधायकों का समर्थन प्राप्त है जिनमें एक आरएलडी, दो बीटीपी और दो माकपा विधायक हैं।

उन्होंने कहा, “हमारे तीन उम्मीदवारों को चुनाव जीतने के लिये 123 वोट की आवश्यकता है। आवश्यक वोट के मुकाबले हमारे पास 126 वोट हैं। वहीं भाजपा के पास 30 वोट हैं और आरएलपी के तीन मत हैं। ऐसे में साफ है कि भाजपा सीट जीतने के लिये, विधायकों का समर्थन हासिल करने के लिये खरीद फरोख्त की कोशिश करेगी।”

जोशी ने कहा कि उम्मीदवार (चंद्रा) ने आज प्रेस वार्ता में भी कहा है कि उन्होंने कांग्रेस और अन्य विधायकों से संपर्क किया है।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘भाजपा खरीद फरोख्त का प्रयास कर रही है, लेकिन वे कांग्रेस पर आरोप लगा रहे हैं। ईडी निदेशक को भेजी गई शिकायत हास्यास्पद है।’’

जोशी ने कहा कि तमाम कोशिशें के बाद भी भाजपा खरीद फरोख्त के प्रयास में कामयाब नहीं होगी और कांग्रेस तीन सीटें जीतेगी।

भाजपा ने पूर्व मंत्री घनश्याम तिवारी को चुनाव मैदान में उतारा है और निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन दाखिल करने वाले मीडिया कारोबारी चंद्रा को पार्टी ने समर्थन दिया है।

कांग्रेस ने तीन उम्मीदवारों रणदीप सुरजेवाला, मुकुल वासनिक और प्रमोद तिवारी को उच्च सदन के चुनाव के लिए टिकट दिया है।

राजस्थान की 200 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस अपने 108 विधायकों के दम पर उच्च सदन की दो सीट व भाजपा 71 विधायकों के बल पर राज्यसभा की एक सीट आराम से जीत सकती है।

इसके बाद चौथी सीट के लिए कांग्रेस के पास 26 अधिशेष व भाजपा के पास 30 अधिशेष वोट होंगे और जीत के लिए 41 विधायकों के समर्थन की जरूरत है।

.


ठेके के सेल्समैन को चाकू दिखाकर 12 हजार रुपये लूटे

ब्लैकमेल से परेशान विवाहिता ने निगला जहरीला पदार्थ, हालत गंभीर