in

बिल जमा नहीं है…रात 9.30 बजे आपका बिजली कनेक्शन काट दिया जाएगा, ऐसा मैसेज भेज हो रही ठगी


गुड़गांव : ‘रात साढ़े 9 बजे आपका बिजली कनेक्शन काट दिया जाएगा। पिछले महीने का बिल अभी जमा नहीं हुआ है। बिल भुगतान या अकाउंट अपडेट कराने के लिए दिए गए नंबर पर तुरंत कॉल करें।’ शहर में ऐसा मेसेज कई लोगों को मिला है। कुछ लोगों ने बिजली विभाग का ही मेसेज समझकर तुरंत उस नंबर पर कॉल कर दिया। नंबर ठग का था। उसने बिल भुगतान या अकाउंट अपडेट करने के बहाने बैंक खाते और कार्ड की जानकारी ले ली। फिर ओटीपी पूछकर रुपये निकाल लिए। साइबर क्राइम थाने में 3 जून को ऐसा पहला केस दर्ज किया गया था। पुलिस के पास अब ऐसी कई शिकायतें पहुंची हैं। साइबर एक्सपर्ट ने आगाह किया है कि ऐसे किसी मेसेज के झांसे में न आएं। बिजली बिल से जुड़ी जानकारी के लिए सीधे कार्यालय या विभाग की वेबसाइट पर ही जाएं।

3 जून को ठगी की पहली शिकायत दर्ज
सेक्टर 40 में रहने वाले ओमकार गिरी ने 3 जून को पहली शिकायत दर्ज कराई थी। बताया कि कुछ दिन पहले उनके मोबाइल पर एक नंबर से मेसेज आया। मेसेज में था कि बिजली का बिल न भरने के चलते आपका कनेक्शन काटा जा रहा है। ओमकार ने मेसेज में दिए गए नंबर पर कॉल की। तब कॉल रिसीव करने वाले ने खुद को बिजली विभाग का कर्मचारी बताया। उसने तुरंत ऑनलाइन पेमेंट करने को कहा और बहाने से उनके खाते की डिटेल ले ली। कुछ देर बाद ही खाते से 48 हजार व 25 हजार रुपये की दो ट्रांजेक्शन हो गई। इंस्पेक्टर ओमप्रकाश का कहना है कि ठगी के मामलों पर जांच चल रही है।

Gurgaon News : पेमेंट लेने के बाद भी नहीं दिया पजेशन, कोर्ट ने बिल्डर पर FIR दर्ज के दिए आदेश
नाम, नंबर, पता और बैंक की लेते हैं जानकारी
मेसेज जिन्हें मिलता है, उनके कॉल करते ही ठग खुद को बिजली विभाग का कर्मचारी बताकर बिल जमा करने की धौंस जमाने लगते हैं। फिर अधिकारी का नंबर देकर तुरंत संपर्क करने के लिए कहा जाता है। उस नंबर पर जैसे ही कॉल किया जाता है तो बिजली विभाग का अधिकारी बताने वाला ठग नाम, मोबाइल नंबर, पता, बैंक खाते, कार्ड या यूपीआई की जानकारी लेता है। फिर रुपये ट्रांसफर कर लिए जाते हैं।

फेसबुक पर गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के जेल के अंदर के फोटो, 20-25 सोशल मीडिया अकाउंट रडार पर
‘मेसेज का न दें जवाब’
साइबर एक्सपर्ट सुधीर सिंह ने कहा कि किसी अनजान नंबर से आए मेसेज और कॉल पर भरोसा न करें। मेसेज में दिए गए नंबर पर अगर कॉल कर भी दें तो अपने बैंक से जुड़ी कोई जानकारी न दें। कोई भी सरकारी विभाग या अधिकारी आपके कार्ड, यूपीआई या बैंक खाते की जानकारी नहीं मांग सकता है। मोबाइल या कंप्यूटर में कोई ऐप डाउनलोड करने के लिए कहें तो भी इनकार कर दें।

.


Rajasthan news : बाड़मेर में बारातियों से भरी बोलेरो टकराई ट्रक से, एक ही परिवार के 8 लोगों की मौत

निकाय चुनाव: उपमुख्यमंत्री के समझाने पर जींद में हरीश अरोड़ा की पत्नी रजनी ने नाम लिया वापस, BJP को समर्थन