in

बाजार में भरा गंदा पानी, व्यापारियों ने ठेकेदार के खिलाफ दी पुलिस को शिकायत


ख़बर सुनें

बाजार में शनिवार को दूसरे दिन भी नगर परिषद द्वारा खोदे गए नाले ने व्यापारियों के लिए परेशानी बनाए रखी। सीवर का गंदा पानी खोदे गए नाले में लबालब भरा रहा। इतना ही नहीं दुकानों में भी गंदा पानी घुस गया। दुकानदारों के लिए अपनी दुकानों में बैठना भी मुश्किल हो गया है। ऐसे में बाजार के व्यापारियों ने ठेकेदार के खिलाफ गोकल गेट चौकी पुलिस को शिकायत दी।
व्यापारियों ने शिकायत में आरोप लगाया है कि ठेकेदार ने जान बूझकर सीवर की लाइन तोड़ी जिसके कारण यह समस्या हुई। ठेकेदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए। बताते चलें कि नगर परिषद की ओर से शहर के बाजारों में नाले का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। नाले की खोदाई के दौरान ठेकेदार के कर्मचारियों ने सीवर लाइन और सीवर का चैंबर तोड़ डाला। इसका परिणाम यह हुआ कि सीवर का गंदा पानी बहकर नाले के लिए की गई खोदाई वाली जगह में भर गया तथा दुकानों तक में घुस गया।
निर्माण कार्य में बरती गई लापरवाही
शहर के बाजारों में नगर परिषद की ओर से जो नाला बनाया जा रहा है। उसके निर्माण कार्य में लापरवाही बरतने का आरोप है। नाले का निर्माण कार्य बीते करीब आठ माह से चल रहा है और बीच में तीन बार यह कई-कई दिनों तक बंद रह चुका है। आरोप है कि विशेषज्ञों और अधिकारियों की देखरेख की बजाय ठेकेदार अपनी मर्जी से नाले का निर्माण करा रहा है। बारिश के दिनों में भी नाले में भरा पानी कई दुकानों में घुस गया था और शुक्रवार को भी ऐसा ही कुछ हुआ। बताया गया है कि ठेकेदार के कर्मचारियों ने बजाजा बाजार व पुरानी अनाज मंडी के निकट जेसीबी से नाले की खोदाई की थी। खोदाई के दौरान ही कर्मचारियों ने सीवर की लाइन को तोड़ डाली। इतना ही नहीं सीवर का जो चैंबर था उसको भी तोड़कर मलबा भर दिया गया जिस सीवर चैंबर को तोड़ा गया है उसमें बजाजा बाजार, पत्थर घटी और भैरू चौक तक का गंदा पानी आ रहा है। चैंबर व लाइन टूट जाने के कारण सारा गंदा पानी मुख्य बाजार में ही भर रहा है।
चैंबर बनेगा तब सुधरेंगे हालात
इस समस्या का समाधान तब तक नहीं होगा, जब तक कि सीवर का चैंबर नहीं बना दिया जाता। चैंबर बनाने के लिए तेज गति से काम करना होगा लेकिन अभी तो सीवर लाइन का पानी ही बंद नहीं हो रहा है। दो दिन से बाजारों में गंदा पानी भरा है लेकिन नप के अधिकारी सिर्फ मुंह दिखाने के लिए बाजारों में जा रहे हैं। चैंबर बनाने का जिम्मा नप का है तथा रविवार को अगर इस काम को नहीं किया गया तो सोमवार को हालात और भी बिगड़ सकते हैं।
यह दी है शिकायत
मोती चौक व्यापार संगठन और गोकल गेट सेंट्रल एसोसिएशन के व्यापारियों ने गोकल गेट चौकी पुलिस को जो शिकायत दी है। उसमें बताया गया है कि दुकानदारों ने ठेकेदार को कई बार कहा था कि खोदाई के दौरान सीवर लाइन टूट सकती है। इतना कहने के बावजूद भी ठेकेदार दुकानदारों की एक नहीं सुनी। इतना ही नहीं ठेकेदार का रवैया भी दुकानदारों के प्रति ठीक नहीं है। ऐसे लापरवाह ठेकेदार का न सिर्फ टेंडर रद्द किया जाए, बल्कि उस पर एफआईआर दर्ज की जाए। ठेकेदार के कारण दुकानदारों को खासा नुकसान हुआ है। वहीं इस बारे में संबंधित ठेकेदार को फोन किया गया, लेकिन उनका फोन बंद आ रहा था।
यह मामला संज्ञान में आया है, मैं बाहर थी। इस वजह से मुझे पूरी जानकारी नहीं है, अधिकारियों से बात करके समस्या का समाधान कराने की कौशिक करूंगी।
– पूनम यादव, चेयरपर्सन, नगर परिषद।
फोटो: 11

बाजार में शनिवार को दूसरे दिन भी नगर परिषद द्वारा खोदे गए नाले ने व्यापारियों के लिए परेशानी बनाए रखी। सीवर का गंदा पानी खोदे गए नाले में लबालब भरा रहा। इतना ही नहीं दुकानों में भी गंदा पानी घुस गया। दुकानदारों के लिए अपनी दुकानों में बैठना भी मुश्किल हो गया है। ऐसे में बाजार के व्यापारियों ने ठेकेदार के खिलाफ गोकल गेट चौकी पुलिस को शिकायत दी।

व्यापारियों ने शिकायत में आरोप लगाया है कि ठेकेदार ने जान बूझकर सीवर की लाइन तोड़ी जिसके कारण यह समस्या हुई। ठेकेदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए। बताते चलें कि नगर परिषद की ओर से शहर के बाजारों में नाले का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। नाले की खोदाई के दौरान ठेकेदार के कर्मचारियों ने सीवर लाइन और सीवर का चैंबर तोड़ डाला। इसका परिणाम यह हुआ कि सीवर का गंदा पानी बहकर नाले के लिए की गई खोदाई वाली जगह में भर गया तथा दुकानों तक में घुस गया।

निर्माण कार्य में बरती गई लापरवाही

शहर के बाजारों में नगर परिषद की ओर से जो नाला बनाया जा रहा है। उसके निर्माण कार्य में लापरवाही बरतने का आरोप है। नाले का निर्माण कार्य बीते करीब आठ माह से चल रहा है और बीच में तीन बार यह कई-कई दिनों तक बंद रह चुका है। आरोप है कि विशेषज्ञों और अधिकारियों की देखरेख की बजाय ठेकेदार अपनी मर्जी से नाले का निर्माण करा रहा है। बारिश के दिनों में भी नाले में भरा पानी कई दुकानों में घुस गया था और शुक्रवार को भी ऐसा ही कुछ हुआ। बताया गया है कि ठेकेदार के कर्मचारियों ने बजाजा बाजार व पुरानी अनाज मंडी के निकट जेसीबी से नाले की खोदाई की थी। खोदाई के दौरान ही कर्मचारियों ने सीवर की लाइन को तोड़ डाली। इतना ही नहीं सीवर का जो चैंबर था उसको भी तोड़कर मलबा भर दिया गया जिस सीवर चैंबर को तोड़ा गया है उसमें बजाजा बाजार, पत्थर घटी और भैरू चौक तक का गंदा पानी आ रहा है। चैंबर व लाइन टूट जाने के कारण सारा गंदा पानी मुख्य बाजार में ही भर रहा है।

चैंबर बनेगा तब सुधरेंगे हालात

इस समस्या का समाधान तब तक नहीं होगा, जब तक कि सीवर का चैंबर नहीं बना दिया जाता। चैंबर बनाने के लिए तेज गति से काम करना होगा लेकिन अभी तो सीवर लाइन का पानी ही बंद नहीं हो रहा है। दो दिन से बाजारों में गंदा पानी भरा है लेकिन नप के अधिकारी सिर्फ मुंह दिखाने के लिए बाजारों में जा रहे हैं। चैंबर बनाने का जिम्मा नप का है तथा रविवार को अगर इस काम को नहीं किया गया तो सोमवार को हालात और भी बिगड़ सकते हैं।

यह दी है शिकायत

मोती चौक व्यापार संगठन और गोकल गेट सेंट्रल एसोसिएशन के व्यापारियों ने गोकल गेट चौकी पुलिस को जो शिकायत दी है। उसमें बताया गया है कि दुकानदारों ने ठेकेदार को कई बार कहा था कि खोदाई के दौरान सीवर लाइन टूट सकती है। इतना कहने के बावजूद भी ठेकेदार दुकानदारों की एक नहीं सुनी। इतना ही नहीं ठेकेदार का रवैया भी दुकानदारों के प्रति ठीक नहीं है। ऐसे लापरवाह ठेकेदार का न सिर्फ टेंडर रद्द किया जाए, बल्कि उस पर एफआईआर दर्ज की जाए। ठेकेदार के कारण दुकानदारों को खासा नुकसान हुआ है। वहीं इस बारे में संबंधित ठेकेदार को फोन किया गया, लेकिन उनका फोन बंद आ रहा था।

यह मामला संज्ञान में आया है, मैं बाहर थी। इस वजह से मुझे पूरी जानकारी नहीं है, अधिकारियों से बात करके समस्या का समाधान कराने की कौशिक करूंगी।

– पूनम यादव, चेयरपर्सन, नगर परिषद।

फोटो: 11

.


वाहनों के रजिस्ट्रेशन में मिला फर्जीवाड़ा, स्टाफ के खिलाफ मामला दर्ज

तापमान में हो रही लगातार बढ़ोतरी से लोग परेशान, तापमान पहुंचा 45 पार